अमेठी वालों से बोलीं प्रियंका, ‘मैं हूं ना’ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 13 फ़रवरी 2019

अमेठी वालों से बोलीं प्रियंका, ‘मैं हूं ना’

priyanka-said-amethi-people-main-hoon-naa
लखनऊ, 13 फरवरी, उत्तर प्रदेश में संगठन को चुस्त करने की कवायद में जुटीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने भाई एवं पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र अमेठी की समीक्षा की। प्रियंका ने लोकसभावार मैराथन बैठकों के सिलसिले में मंगलवार रात करीब साढ़े ग्यारह बजे अमेठी संसदीय क्षेत्र के नेताओं और कार्यकर्ताओं से बातचीत में हर समस्या के जवाब में कहा, ‘‘मैं हूं ना, अब मैं देखूंगी।’’  प्रियंका से मुलाकात करने वालों में शामिल युवा कांग्रेस के पूर्व प्रदेश महासचिव अशोक सिंह ने बताया कि प्रियंका ने कार्यकर्ताओं से पूछा कि प्रदेश में कांग्रेस को मजबूत करने के क्या रास्ते हैं। साथ ही कांग्रेस की प्रदेश इकाई, जिला इकाइयां, ब्लॉक और बूथ स्तर पर पार्टी संगठन कैसा काम कर रहे हैं।’’ सिंह के मुताबिक प्रियंका ने कहा, ‘‘आप लोग नौजवानों, बुजुर्गों, महिलाओं समेत समाज के सभी वर्गों को साथ लेकर चलें। 'अब मैं आयी हूं ना। मैं सबको एक साथ देखना चाहती हूं। सभी लोग 2019 के लिये तैयार रहिये।' उन्होंने कहा कि प्रियंका को जब बताया गया कि भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोग अमेठी के गांव-गांव जाकर तरह-तरह की अफवाहें फैलाकर गुमराह कर रहे हैं कि मोदी सरकार ने क्या-क्या काम किये हैं, तो उन्होंने कहा 'मैं हूं ना, आप लोग तटस्थ रहिये, अब कोई गुमराह नहीं कर पायेगा। अब मैं देखूंगी।' सिंह ने बताया कि प्रियंका ने कहा, ‘‘ मुझे पता चला था कि संगठन काफी समय से उतना सक्रिय नहीं है, जितना होना चाहिये। अब यह नहीं होगा, आपका बल मेरे साथ चलेगा। आप जहां चाहेंगे, मैं खड़ी मिलूंगी।’’ उन्होंने बताया कि बैठक में स्मृति ईरानी के बारे में कोई चर्चा नहीं हुई। गौरतलब है कि प्रियंका ने कल रात भर अपने प्रभार वाले लोकसभा क्षेत्रों के नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत का मैराथन सिलसिला जारी रखा, जो आज सुबह करीब पांच बजे खत्म हुआ। कांग्रेस महासचिव ने दोपहर करीब 12 बजे फिर बैठकों का दौर शुरू किया, जिसके देर रात तक जारी रहने की सम्भावना है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...