बिहार : पंचतत्व में विलीन हुए भागलपुर के लाल रतन तीन वर्षीय पुत्र कृष्णा ने दी मुखाग्नि - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 17 फ़रवरी 2019

बिहार : पंचतत्व में विलीन हुए भागलपुर के लाल रतन तीन वर्षीय पुत्र कृष्णा ने दी मुखाग्नि

pulwama-myrters-ratan-thakur-cremeted
अरुण कुमार (आर्यावर्त) पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए भागलपुर के जवान रतन ठाकुर शनिवार को पंचतत्व में विलिन हो गए। रतन को उनके तीन वर्षीय पुत्र कृष्णा ने मुखाग्नि दी। गहरी नींद में सोये साढ़े तीन साल के कृष्णा को चाचा ने गोद में उठाकर गंगा घाट पहुंचे। घाट पर गगनभेदी नारों के बीच जब कृष्णा की नींद खुली तो वो हैरान और परेशान हो गया। चाचा मिलन कुमार ठाकुर उसे समझाते रहे मगर वो माँ और पापा के पास जाने की जिद करता रहा। इस बीच गार्ड ऑफ ऑनर के बाद उसे मुखाग्नि देने के लिए ले जाया गया। चाचा के कंधे पर मुखाग्नि देने पहुँचे कृष्णा ने एक बार में ही अपने पापा को पहचान लिया। उसने कहा कि आग से पापा जल जायेंगे। कृष्णा के इस शब्द को सुनते ही वहाँ मौजूद हजारों लोगों के आँखों में आँसू आ गये। किसी को यह समझ में नहीं आर रहा था कि बच्चे के इस बात का वे क्या जवाब दे। परिजनों ने बताया कि शहीद रतन अपने पुत्र कृष्णा से बेहद प्यार करते थे। वो हर दिन फोन पर उससे बात करते थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...