राफेल मुद्दे पर हंगामा, राज्यसभा की कार्यवाही सोमवार तक स्थगित - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 8 फ़रवरी 2019

राफेल मुद्दे पर हंगामा, राज्यसभा की कार्यवाही सोमवार तक स्थगित

rampage-on-the-rafale-issue-rajya-sabha-proceedings-adjourned-till-monday
नयी दिल्ली 08 फरवरी, कांग्रेस समेत सभी विपक्षी सदस्यों ने राफेल विमान सौदे को लेकर राज्यसभा में शुक्रवार को भारी शोर-शराबा किया जिससे कारण सदन की कार्यवाही दिनभर के लिये स्थगित कर दी गयी। सभापति एम. वेंकैया नायडु ने सुबह सदन की कार्यवाही शुरू करते हुये जरूरी दस्तावेज सदन के पटल रखवाये। उन्हाेंने विभिन्न दलों के सदस्यों के नाम बाेले और कहा कि इन सभी ने विभिन्न मुद्दों पर चर्चा कराने के नोटिस दिये हैं। सभापति इन सभी से सहमत हैं अौर इन सभी पर चर्चा होगी। इससे पहले केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि विश्वविद्यालयों में अनुसूचित जाति, जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के शिक्षकों के आरक्षण के मुद्दे पर सरकार उच्चतम न्यायालय में समीक्षा याचिका दायर करेगी और यह खारिज होने की स्थिति में अध्यादेश या विधेयक लायेगी। उन्होेंने कहा कि स्थिति स्पष्ट होने तक विश्वविद्यालयों में भर्ती नहीं की जायेगी। इसके बाद श्री नायडु ने शून्यकाल चलाने का प्रयास किया तो सदन में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद बोलने के लिये खड़े हो गये। उन्होेंने कहा कि राफेल साैदे को लेकर अंग्रेजी अखबार में कुछ छपा है। इस पर सभापति ने कहा कि आपको बोलने की अनुमति नहीं दी गयी है और आपने इस मुद्दे पर कोई नोटिस नहीं दिया है। इससे कांग्रेस के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन की ओर बढ़ने लगे। अन्य विपक्षी सदस्य भी अपनी-अपनी सीटों पर खड़े हो गये। इनके जवाब में सत्ता पक्ष के सदस्य अपनी सीटों पर खड़े होकर जोर-जोर से बोलने लगे। सदन में शोर-शराबे की स्थिति को देखते हुये सभापति ने लगभग 11 बजकर 20 मिनट पर सदन की कार्यवाही साेमवार तक के लिये स्थगित करने की घोषणा कर दी। इससे पहले समाजवादी पार्टी के नीरज चंद्रशेखर ने कहा कि उन्हें अपनी सीट पर एक पर्चा मिला है। क्या यह सभापति कार्यालय ने वितरित किया है, तो श्री नायडु ने इससे इनकार किया। श्री नायडु ने राज्यसभा महासचिव को इस पूरे मामले की जाँच के आदेश दिये। उन्होंने कहा कि सदन में पर्चा बाँटना वर्जित है और इसकी जाँच की जानी चाहिए। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...