आतंकवाद को उखाड़ फेंकने के लिए होना होगा एकजुट : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 22 फ़रवरी 2019

आतंकवाद को उखाड़ फेंकने के लिए होना होगा एकजुट : मोदी

remove-terror-by-root-modi
सोल, 22 फरवरी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि ‘समय आ गया है’ कि मानवता में विश्वास रखने वालों को एक साथ मिलकर आतंकवाद के नेटवर्क और उनके वित्तपोषण की जड़ों को उखाड़ फेंकना होगा और आतंकवाद की विचारधारा तथा उसके प्रोपेगेंडा के खिलाफ एकजुट होना होगा।  श्री मोदी ने शुक्रवार को दक्षिण कोरिया के प्रतिष्ठित सोल शांति पुरस्कार ग्रहण करने के बाद जनसमूह को संबोधित हुए यह बात कही। उन्हाेंने कहा , “ ऐसा करके ही हम नफरत की जगह सद्भाव, विनाश की जगह विकास, हिंसा और प्रतिशोध के स्थान पर शांति पैदा कर सकेंगे।” उन्होंने कहा, “अच्छी शुरुआत करने से आधी लड़ाई जीत ली जाती है।”  इससे पहले श्री मोदी ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, “अब समय आ गया है कि वैश्विक समुदाय बातों से आगे बढ़कर इस समस्या के विरोध में एकजुट होकर कार्रवाई करे।” इससे पहले संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने 14 फरवरी को पुलवामा हमले की जिम्मेदारी लेने वाले आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का नाम लेते हुए कहा कि इस तरह के निंदनयीय आतंकवादी हमले के साजिशकर्ताओं, संयोजको, वित्तपोषकों और प्रायोजकों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।  सुरक्षा परिषद ने एक प्रस्ताव पारित कर पुलवामा हमले की निंदा की और पाकिस्तान से आतंकवादी संगठनों के खिलाफ निर्णयाक कदम उठाने की बात कही। सभी देशों से आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई और पुलवामा हमले के संदर्भ में भारत का सहयोग करने की अपील की। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...