आतंकवादियों के खात्मे में सफल हो रहे हैं सुरक्षा बल : राजनाथ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 18 फ़रवरी 2019

आतंकवादियों के खात्मे में सफल हो रहे हैं सुरक्षा बल : राजनाथ

security-forces-neutralising-the-militants-in-j-k-rajnath
नयी दिल्ली 18 फरवरी, जम्मू-कश्मीर में पिछले सप्ताह हुए आतंकवादी हमले के बाद पुलवामा में आज फिर आतंकवादियों के साथ सुरक्षा बलों की मुठभेड़ पर केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सुरक्षा बलों का मनोबल ऊंचा है और वे पूरी ताकत के साथ आतंकवादियों का खात्मा करने के लिए अभियान चला रहे हैं। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सोमवार तड़के सुरक्षा बलों ने घेराबंदी और तलाशी अभियान के दौरान जैश-ए-मोहम्मद के एक कमांडर सहित दो आतंकदियों को ढेर कर दिया। मुठभेड़ में सेना के एक मेजर समेत चार जवान शहीद हो गये और एक नागरिक की भी मौत हो गयी। श्री सिंह से यहां एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं ने जब इस बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों का मनोबल ऊंचा है और वे आतंकवादियों का खात्मा करने के लिए अभियान चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों को सफलता मिल रही है।  गत गुरूवार को जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती आतंकवादी ने केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों के काफिले की एक बस में विस्फोटकों से भरी कार से टक्कर मार दी थी। इस हमले में 40 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गये थे और चार अन्य घायल हो गये थे।  इससे पहले गृह मंत्री ने दिल्ली पुलिस के साइबर अपराध जागरूकता एवं अनुसंधान केन्द्र तथा नेशनल साइबर फोरेंसिक प्रयोगशाला का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि लोगों में साइबर अपराध के खतरों के बारे में जागरूकता बढाना जरूरी है। उन्होंने कहा , “ मुझे विश्वास है कि अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी की मदद से साइबर अपराध की चुनौती से भलीभांति निपट सकते हैं।” गृह मंत्री ने कहा कि स्मार्ट फोन के जरिये देश की बहुत बड़ी आबादी तक इंटरनेट की पहुंच बढी है। इससे जहां अवसर बढे हैं वहीं नयी चुनौतियां भी पैदा हुई हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...