आंतकवाद के वित्तपोषण पर रोक के मामले में पाकिस्तान को झटका - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 22 फ़रवरी 2019

आंतकवाद के वित्तपोषण पर रोक के मामले में पाकिस्तान को झटका

setback-to-imran-regime-fatf-slams-pak-for--limited-progress--on-terror-financing
पेरिस, 22 फरवरी, पाकिस्तान को शुक्रवार को एक झटका और लगा जब अंतरराष्ट्रीय संस्था ‘वित्तीय कार्रवाई त्वरित बल (एफएटीएफ) ने कहा कि आंतकवाद के वित्तपोषण पर रोक लगाने संबंधी पाकिस्तान की कार्रवाई की गति सीमित है और इसके कारण उसे लगातार ‘ग्रे लिस्ट’ में रखा जायेगा। पुलवामा हमले के बाद भारत की पाकिस्तान पर नकेल कसने की कार्रवाई के बीच एफएटीएफ के इस बयान को भारत की एक और जीत के रूप में देखा जा रहा है। भारतीय एजेंसियों ने एफएटीएफ से आग्रह किया था कि पाकिस्तान को किसी तरह की राहत न दी जाए। एफएटीएफ की ओर से जारी बयान में कहा गया कि जनवरी 2019 तक की अवधि में कार्रवाई में सीमित प्रगति के कारण पाकिस्तान से आग्रह है कि वह आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई योजना को जल्दी पूरा करे। एसटीएएफ ने इसके लिए मई 2019 की समय सीमा तय की गयी है।” एसटीएएफ ने बयान में समयसीमा का पालन करने और दोबारा चूक करने की गलती न करने की हिदायत देते हुए कहा कि इसी वर्ष जून और अक्टूबर में फिर से इसकी समीक्षा की जायेगी।  सूत्रों का कहना है कि भारत पाकिस्तान को ईरान और उत्तर कोरिया की तरह एफएटीए की ‘ब्लैक लिस्ट’ में डलवाने के प्रयास कर रहा है। ‘ब्लैक लिस्टेड’ होने पर कंगाली की मार झेल रहे पाकिस्तान को और अधिक आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...