अमेरिका के पास भारत-पाक के बीच तनाव घटाने से जुड़ी कुछ अच्छी खबरें है : ट्रंप - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 28 फ़रवरी 2019

अमेरिका के पास भारत-पाक के बीच तनाव घटाने से जुड़ी कुछ अच्छी खबरें है : ट्रंप

usa-have-good-news-for-indo-us-relation-trump
हनोई/वाशिंगटन, 28 फरवरी,  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बृहस्पतिवार को यह विश्वास जताया कि भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध की स्थिति जल्द समाप्त होगी और उनके पास कुछ अच्छी खबरें हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिका परमाणु हथियार संपन्न दोनों पड़ोसी देशों के बीच तनाव घटाने में मदद करने का प्रयास कर रहा है। उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ अपनी दूसरी शिखर बैठक समाप्त होने के बाद अपने शुरुआती बयान में ट्रंप ने कहा कि अमेरिका के पास पाकिस्तान और भारत से ‘‘कुछ समुचित आकर्षक खबरें हैं।’’  ट्रंप ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम उन्हें (भारत और पाकिस्तान को) रोकने में मदद करने के प्रयास में शामिल हैं और हमारे पास कुछ अच्छी खबरें हैं।’’  भारत और पाकिस्तान के एक - दूसरे के लड़ाकू विमान को बुधवार को मार गिराने के दावे के बाद ट्रंप ने अपनी प्रथम टिप्पणी में कहा, ‘‘मैं उम्मीद करता हूं कि यह (तनाव) खत्म होने वाला है...। ’’  उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान से संचालित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा पुलमावा में सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमला करने के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है।  अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि (भारत और पाकिस्तान के बीच) काफी ‘वैमनस्य’ है।  इससे पहले, अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल से बात की। आधिकारिक सूत्रों ने वाशिंगटन में कहा कि समझा जाता है कि पोम्पियो और डोभाल ने बुधवार को फोन पर क्षेत्र की मौजूदा स्थिति के बारे में चर्चा की।  वहीं, पेंटागन ने एक बयान में कहा कि अमेरिकी कार्यवाहक रक्षा मंत्री पैट्रिक शानहन तनाव दूर करने की कोशिशों पर काम कर रहे हैं और वह भारत और पाकिस्तान से और अधिक सैन्य कार्रवाई से बचने का अनुरोध कर रहे हैं।  अमेरिकी विदेश विभाग ने पाकिस्तान को आतंकी पनाहगाह बंद करने और आतंकी संगठनों को धन के प्रवाह को बंद करने के प्रति उसके संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद प्रतिबद्धताओं का भी पालन करने को कहा है।  भारत ने बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर हवाई हमला किया था। इस अभियान में बड़ी संख्या में जैश के आतंकवादी, प्रशिक्षक, वरिष्ठ कमांडर और प्रशिक्षण हासिल कर रहे जिहादी मारे गए थे। पाकिस्तान ने बुधवार को भारत के एक लड़ाकू विमान को मार गिराया था और एक भारतीय पायलट को गिरफ्तार करने का दावा किया था। पुलवामा में गत 14 फरवरी को हुए जैश के आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...