प्रधानमंत्री कश्मीरी छात्रों को निशाना बनाये जाने पर चुप क्यों हैं : उमर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 21 फ़रवरी 2019

प्रधानमंत्री कश्मीरी छात्रों को निशाना बनाये जाने पर चुप क्यों हैं : उमर

why-pm-scilent-on-kashmiri-student-attack-omar-abdulla
श्रीनगर, 21 फरवरी,  नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने बृहस्पतिवार को पूछा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के विभिन्न हिस्सों में कश्मीरी छात्रों को निशाना बनाये जाने पर चुप क्यों हैं। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि पुलवामा जैसे हमलों की पृष्ठभूमि में पाकिस्तान के साथ वार्ता नहीं हो सकती है। पुलवामा हमले के एक हफ्ते बाद अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘हमारे प्रधानमंत्री ने मुंहतोड़ जवाब की बात कही है लेकिन वर्तमान स्थिति में ऐसा जवाब संभव नहीं है।’’  पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे। जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। अब्दुल्ला ने जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक से उन कश्मीरी विद्यार्थियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आह्वान किया जो पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद कथित धमकियों और मार-पीट के चलते देश के विभिन्न हिस्सों से लौटने को मजबूर हुए हैं। कश्मीर में मुख्य धारा के नेताओं की सुरक्षा वापस लिये जाने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि यह प्रतिगामी कदम है और वह किसी के भी द्वारा सुरक्षा का दुरूपयोग किये जाने से अवगत नहीं हैं। नेकां नेता ने कहा, ‘‘जब हम (कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए) वार्ता की बात करते हैं तो हमें राष्ट्रविरोधी करार दिया जाता है।’’ 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...