बिहार : जो अंदेशा रहा वहीं हुआ है बुलडोजर को जाते ही सज गयी दुकाने - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 13 मार्च 2019

बिहार : जो अंदेशा रहा वहीं हुआ है बुलडोजर को जाते ही सज गयी दुकाने

सब्जी बिक्री करने वालों का कहना है कि पटना नगर निगम स्थल की व्यवस्था कर दें। हमलोग वहीं पर जाकर सब्जी बेचेंगे। ऐसा होने से रोड पर अतिक्रमण नहीं होगा
buldozer-in-digha
पटना,13 मार्च। दीघा हाट पर भीड़ का साम्राज्य कामय है। यह सिलसिला ग्रामीण वातावरण में था अब नगर वातावरण में भी है। बता दें कि दीघा हाट पहले दीघा ग्राम पंचायत के अंदर में थी। अब वह पटना नगर निगम के नूतन राजधानी अंचल में है। दीघा थाना क्षेत्र में दीघा हाट है। यहां के पुलिस को हरियाली सब्जी खाने का शौक है। दीघा थाना पुलिस ने तरकीब निकाली। दीघा हाट के क्षेत्र से बाहर जो लोग रोड पर सब्जी बेचते मिलते थे। उनसे सब्जी वसूली करने लगे। जो आज भी जारी है। हां आलाधिकारियों के दबाव पड़ने पर ताकत प्रदर्शन करते थे। स्थिति सामान्य होने पर आदत से मजबूर पुलिस कंधे पर गन तानकर थैली में सब्जी बटोरने लगते हैं। इसकी शिकायत जब रामकृपाल विधायक/सांसद थे तब की जाती रही है। कुछ दिनों तक रामकृपाल यादव की पहल पर सब्जी बटोरना बंद हो जाती थी।

पटना नगर निगम के नूतन राजधानी अंचल में है वार्ड नम्बर-1 । इस वार्ड की वार्ड पार्षद छठिया देवी है। वह भी दीघा हाट पर घरेलू समान और सब्जी खरीदारी करती हैं। कुछ दिन पहले मछली भी बिकती थी। अब बंद करके अन्यत्र बेची जाती है। इससे थोड़े ही अतिक्रमण मुक्त दीघा हाट हो सकेगा। कई दशकों से अतिक्रमण और रोड पर सब्जी बेचने का सिलसिला जारी रहा तो पटना के जिलाधिकारी और यातायात एसपी ने जिम्मा लिया। यहां पर घेराबंदी करायी गयी। इस घेराबंदी को लोग लक्ष्मण रेखा कहने लगे। लोहे और रस्सी से घेराबंदी किया गया। इसके बाहर आकर सब्जी नहीं बेचना था। इसको कामयाब बनाने के उद्धेश्य से यातायात पुलिस तैनात कर दिया गया । कुछ दिनों तक अतिक्रमण मुक्त दीघा हाट बन गयी। इससे लोगों को भीड़ से निजात मिली। अब तो रस्सी गायब है और लोहे में अंधेरे को दूर भगाने के लिए बिजली का बल्ब लगा दिया गया। एक बार मंगलवार को दीघा हाट को अतिक्रमण मुक्त करने का अभियान चला। यहां से बुलडोजर जाने के बाद ही सड़क पर सब्जी बिक्री तेज हो गयी। रोड पर टोकरी सजाकर सब्जी बिक्री शुरू कर दी गयी। आज बुधवार को सामान्य दिनों की तरह सड़क पर भीड़ और जाम की स्थिति बनी रही। पटना-दीघा-दानापुर मुख्य मार्ग पर जाम का सिलसिला जारी है। यहां पर कई मिशनरी और निजी विघालय है। टेम्पो और बस चलती है। अब तो गंगा सेतु की वजह से भी भीड़ बढ़ गयी है। इसी के कारण लोग परेशान होने लगे हैं। सब्जी बिक्री करने वालों का कहना है कि पटना नगर निगम स्थल की व्यवस्था कर दें। हमलोग वहीं पर जाकर सब्जी बेचेंगे। ऐसा होने से रोड पर अतिक्रमण नहीं होगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...