बिहार : 2019 में जीवंत क्रूस का रास्ता हो अथवा न हो? रायशुमारी किया जा रहा है - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 7 मार्च 2019

बिहार : 2019 में जीवंत क्रूस का रास्ता हो अथवा न हो? रायशुमारी किया जा रहा है

लोकधर्मियों में दम को दिखाने का निश्चय किया है आयोजन समिति नेक्या सहयोग देंगे भक्तगण कयास जारी
christian-news-bihar
पटना,07 मार्च। ईसाई समुदाय का दुखभोग शुरू है। इसके साथ ही पवित्र शुक्रवार यानि गुड फ्राइडे के अवसर पर जीवंत क्रूस का रास्ता करने का निश्चय किया गया है। इसको लेकर एक आयोजन समिति बनी है। सूत्रों के अनुसार बालूपर में बैठक की गयी है। इस बैठक में निश्चय लिया गया कि 19 अप्रैल को बांकीपुर स्थित महाधर्माध्यक्ष के निवास से क्रूस रास्ता की झांकी निकालकर कारगिल चैक तक जाएगी। इसके बाद कारगिल चैक से फ्रेजर रोड में जाकर समाप्त कर दी जाएगी। कारगिल चैक और फ्रेजर रोड चैराहा पर प्रार्थना सभा की जाएगी। सूत्रों के अनुसार बैठक में सर्वश्री एस.के.लौरेंस, विक्टर फ्रांसिस, क्लारेंस हेनरी, शैलेश अन्तुनी साह, सिरिल कुमार, नीतेश आल्फ्रेड ओस्ता शामिल थे। यहीं लोग शिष्टमंडल के रूप में कार्यकारी पल्ली पुरोहित फादर सुसई राज से मिलेंगे। उनसे इस आयोजन में सहयोग करने का आग्रह करेंगे। यह बताया जाएगा कि पटना धर्मप्रांत का सहस्त्राताब्दी वर्ष मनाया जा रहा है। इसके आलोक में लोकधर्मियों को खुले हाथ कार्यक्रम आयोजित करने का आह्वान महाधर्माध्यक्ष विलियम डिसूजा कर रखा है। महाधर्माध्यक्ष को मुख्यअतिथि बनाया जाएगा।

‘यीशु प्रोडक्शंस‘ के निर्माता-निर्देशक ने तीन साल जीवंत झांकी प्रस्तुत कर चुके हैं 
कुर्जी पल्ली के पूर्व पल्ली पुरोहित फादर जोनसन केलाकथ के कार्यकाल में ‘यीशु प्रोडक्शंस‘ के निर्माता-निर्देशक ने तीन साल जीवंत झांकी प्रस्तुत कर चुके हैं। अपने कार्यकाल के अंतिम चरण में फादर जोनसन ने पूर्व सहायक पल्ली पुरोहित सुषील साह के इषारे पर 2018 झांकी निकालने पर मनाही कर दिया। इससे कारण भक्तों में आक्रोश व्याप्त है। भक्तों के आक्रोश को शांत करने के उदे्दश्य से ही आयोजन समिति ने झांकी निकालने का निश्चय किया है। बहुआयामी है विक्टर फ्रांसिस ने लगातार तीन साल क्रूसित येसु ख्रीस्त के रूपांतरण बनकर बेहतर भूमिका अदा किए हैं विक्टर फ्रांसिस। अब इस चेहरे को नापसंद करने लगे हैं कुछ मुट्ठीभर लोग। इन मुट्ठी भर लोगों के शह पर पूर्व पल्ली पुरोहित फादर जोनसन ने झांकी के चलते भक्तिभाव का अभाव बताकर 2018 में जीवंत क्रूस का रास्ता की झांकी को बंद करा दिया। इस निर्णय से भक्तों को जोर का झटका लगा। इस समय कुर्जी पल्ली में कार्यकारी पल्ली पुरोहित हैं फादर सुसई राज। कुर्जी पल्ली परिषद में जनप्रतिनिधियों की संख्या कम है। हाथ उठाकर निर्णय लिया गया कि 2019 में भी झांकी नहीं निकाला जाएगा। बता दें कि कुर्जी पल्ली के पल्ली पुरोहित ही कुर्जी पल्ली परिषद सलाकार ढांचा है। अध्यक्ष के पास वीटों प्राप्त है। वे ही अंतिम निर्णय ले सकते हैं। इसी कारण आयोजित समिति के सदस्य कार्यकारी  पल्ली पुरोहित से मिलकर कार्यक्रम की जानकारी देंगे। ताकि किसी तरह का टकराव व तनाव न बन सके।

इस तरह की खबर को लेकर काफी लोग फोन कर हैं
वर्ष 2018 की तरह ही 2019 में भी जीवंत क्रूस रास्ता की झांकी प्रस्तुत नहीं की जाएगी? फोन करने वालों का कहना है कि नाट्य अभिनेता विक्टर फ्रांसिस की कलाकृति उत्तम रहा है। आखिर किस कारण से कुछ लोग विक्टर फ्रांसिस को येसु की भूमिका में देखना नहीं चाहते हैं। इस बाबत विक्टर फ्रांसिस कहते हैं कि उक्त भूमिका को करने वाले मिलते हैं तो उनको पूर्ण सहयोग करके काबिल बना देंगे। मगर 95 प्रतिशत कुर्जी पल्ली के भक्तों को निराश नहीं करना चाहिए। किसी भी हाल में झांकी को निकालने में पाबंदी नहीं लगाना चाहिए। आगे कहते हैं कि इसी तरह की अन्य पल्लियों में आयोजित की जाती है। ऐसा करने से लोगों के बीच में ईशायत का संदेश जाता है। वहीं कुर्जी पल्ली के भक्तों का कहना है कि कोई नहीं है विक्टर फ्रांसिस व उनकी टीम की प्रस्तुति की टक्कर में। इस पर कार्यकारी पल्ली पुरोहित को विचार करना चाहिए। 2019 में जीवंत क्रूस का रास्ता हो अथवा न हो? रायशुमारी किया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...