सरकार के एजेंडे में विकास का मुद्दा सर्वोपरि : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 6 मार्च 2019

सरकार के एजेंडे में विकास का मुद्दा सर्वोपरि : मोदी

development-modi-ajenda
कलबुर्गी (कर्नाटक), छह मार्च, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कर्नाटक में कई परियोजनाएं शुरू करते हुए कहा कि उनकी सरकार के एजेंडे में विकास का मुद्दा सर्वोपरि है।  मोदी ने पूर्वोत्तर के लोगों तक पहुंच बनाने के प्रयास के तहत कहा कि क्षेत्र का व्यापक विकास उनकी सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है। उन्होंने यहां एक जनसभा में बीपीसीएल कलबुर्गी डिपो की आधारशिला रखी और बेंगलुरू में आयकर अपीलीय न्यायाधिकरण, बेंगलुरू में ईएसआईसी अस्पताल एवं मेडिकल कालेज, केआईएमएस, हुबली में प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत सुपर स्पेशिएलिटी ब्लाक और बेंगलोर विश्वविद्यालय में पूर्वोत्तर क्षेत्र की छात्राओं के लिए महिला छात्रावास की शुरुआत की। उन्होंने कहा, ‘‘यह मेरा सौभाग्य है कि राजग सरकार को पूर्वोत्तर के लिए व्यापक रूप से काम करने का मौका मिला। हमने पूर्वोत्तर के विकास को शीर्ष प्राथमिकता पर रखा है। इसमें उचित आधारभूत ढांचा, बिजली कनेक्टिविटी, जल संसाधनों का इस्तेमाल, बेहतर स्वास्थ्य देखभाल और शिक्षा सुनिश्चित करना शामिल है।’’  उन्होंने कर्नाटक में कांग्रेस सरकार की ‘उदासीन’ रवैया के लिए आलोचना की और कहा कि उसके द्वारा शुरू की गई कई परियोजनाएं उनकी सरकार आने पर ही पूरी हुईं।  उन्होंने कहा, ‘‘केंद्र कर्नाटक के विकास के लिए काफी काम कर रहा है। आप सब को पता है कि जिन परियोजनाओं को कांग्रेस सरकार ने वर्षों तक ठंडे बस्ते में रखा हुआ था उसे हमारी सरकार ने पूरा किया।’’ उन्होंने पूर्ववर्ती संप्रग सरकार की देश में इथेनॉल इकाइयों के विकास को नजरंदाज करने के लिए आलोचना की।  प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने इथेनॉल मिश्रण पर कार्य शुरू किया था लेकिन संप्रग सरकार ने परियोजना बंद कर दी। जब हम सत्ता में आये तो हमने एक रूपरेखा तैयार की। इथेनॉल मिश्रण कार्यक्रम शुरू किया गया और गन्ना किसानों को उसका लाभ मिल रहा है। हम कच्चे तेल के आयात पर निर्भरता कम करेंगे।’’  उन्होंने कहा, ‘‘याद है जब हमने जनधन योजना शुरू की थी तब उन्होंने इसका कैसे माखौल उड़ाया था। जब हमने आधार को एक विधिक रूप देने का प्रयास किया तो उन्होंने उसके रास्ते में बाधाएं डाली।’’  उन्होंने कहा, ‘‘वे उच्चतम न्यायालय भी गए। आज वही जनधन और आधार ने आपके मोबाइल में तीन गुना ताकत दी है जिससे भ्रष्टाचार बंद हुआ है।’’  मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी द्वारा 1985 में कही गई एक बात का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘सरकार ने अब यह सुनिश्चित किया है कि यदि दिल्ली से सरकार एक रुपया भेजती है तो पूरा 100 पैसा सीधे गरीबों के खातों में पहुंचे। किसी का अधिकार छीनने के लिए कोई बिचौलिया नहीं हो।’’  उल्लेखनीय है कि राजीव गांधी ने 1985 में ओडिशा के सूखा प्रभावित कालाहांडी जिले के अपने दौरे के दौरान कहा था कि सरकार द्वारा खर्च किये गये प्रत्येक रुपये में से मात्र 15 पैसा लाभार्थियों तक पहुंचता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...