शक्तिहीन लोगों का चेहरा हूं: पंकज त्रिपाठी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 31 मार्च 2019

शक्तिहीन लोगों का चेहरा हूं: पंकज त्रिपाठी

i-am-a-face-of-weaker-section-says-pankaj-tripathy
मुंबई 31 मार्च, अभिनेता पंकज त्रिपाठी का कहना है कि वह ताकतवर नहीं बल्कि शक्तिहीन लोगों का चेहरा बनने में दिलचस्पी रखते हैं। पंकज ने एक साक्षात्कार में कहा, "मुझे ताकत दिखाने में दिलचस्पी नहीं है। मैं इसका भूखा नहीं हूं।" पंकज को फिल्म 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' में सुल्तान कुरैशी नामक कसाई के किरदार से पहचान मिली थी। तब से वह फिल्मों में कभी सौम्य शिक्षक, तो कभी एक प्रगतिशील पिता तो कभी एक मजाकिया चाचा का किरदार निभा चुके हैं। अभिनेता ने कहा, "लोग अक्सर मुझे शक्तिशाली भूमिका देते हैं, लेकिन एक शक्तिहीन व्यक्ति का किरदार निभाने में जो मजा है, वह बेजोड़ है। अपने दफ्तर में निचले पद पर काम करने वाला व्यक्ति जब घर आता है तो बॉस बन जाता है। प्यार में भी पति-पत्नी के बीच ताकत दिखाने का खेल होता है।"  उन्होंने कहा, "मैं यह महसूस करता हूं कि शक्तिहीन लोगों को कोई स्वीकार नहीं करता। कोई भी ऐसा होने की आकांक्षा नहीं रखता। हमारे पास ऐसे लोग क्यों नहीं हो सकते जो पहचान बनाना नहीं चाहते और भीड़ में खो जाते हैं? यह एक दिलचस्प बात है। ‘मसान’ में मेरे बस दो सीन थे। वह ट्रेन टिकट बुक करता है और यही उसका किरदार है। यहां तक कि 'निल बटे सन्नाटा' में मैंने शिक्षक का किरदार किया जिसे कोई नहीं जानता।" पंकज ने कहा, "ये किरदार मुझे हमेशा अपनी ओर खींचते हैं क्योंकि मैं इन जैसे लोगों को देखकर बड़ा हुआ हूं। अगर हम देखें तो ऐसे कई लोग हैं जो ताकत, प्रसिद्धि या धन के पीछे भागे बिना काम कर रहे हैं।"

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...