देश को नहीं चाहिए मोदी की ‘जन विरोधी’ एवं ‘अंहकारी’ सरकार : प्रियंका गाँधी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 20 मार्च 2019

देश को नहीं चाहिए मोदी की ‘जन विरोधी’ एवं ‘अंहकारी’ सरकार : प्रियंका गाँधी

india-should-not-want-modi-s-anti-people-and-assuming-government-priyanka
वाराणसी, 20 मार्च, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को नरेंद्र मोदी को ‘जन विरोधी’ एवं ‘अहंकारी’ बताते हुए केंद्र की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली सरकार को सत्ता से बाहर करने तथा ऐसी सरकार बनाने की अपील की जो समाज के हर वर्ग की जरुरतों को पूरा करने में सक्षम हो। श्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में नदी के सहारे रोजी-रोटी चलाने वाले निषाद एवं अन्य समाज के लोगों को ऐतिहासिक असि घाट पर संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “पांच वर्षों में आपने देखा कि देश में क्या स्थिति बनी। हर साल दो करोड़ रोजगार देने का वादा पूरा नहीं हुआ। किसानों को न तो खाद-बीज के लिए पैसे मिले और न ही उनके फसल का उचित दाम। इस वजह से बहुत से किसानों को आत्महत्या करने को मजबूर होना पड़ा।” श्रीमती वाड्रा ने नरेंद्र मोदी सरकार पर महिला और मजदूर विरोधी होने का आरोप लगाते हुये लोगों से लोकसभा चुनाव ऐसे नेताओं और पार्टियों को सत्ता में आने से रोकने के लिए मतदान करने की अपील की और कहा कि इनका मकसद समाज सेवा के बजाय सत्ता पाना बन गया है। उन्होंने कहा कि देश के गरीब, मजदूर, किसान, बेराजगारों एवं महिलाओं को भाजपा की ‘अहंकारी’ सरकार नहीं चाहिए, जिसने अपने गत पांच वर्ष के शासनकाल में समाज के हर तबके एवं संस्थाओं को तबाह करने का काम किया है। उन्होंने केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनाने में मदद की अपील करते हुए कहा, “आपको ऐसी सरकार चाहिए जो अहंकारी न हो और आपकी हर समस्या को सुलझा सके।’’ श्रीमती वाड्रा ने लोगों को बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनी तो निषाद, मल्लाह समेत नदी के सहारे अपना जीवन यापन करने वाले तमाम लोगों की समस्याएं दूर करने के लिए एक अलग मंत्रालय बनाया जाएगा। गरीबों, बेरोजगारों एवं किसानों समेत समाज के हर वर्ग की जरूरतों का पूरा ख्याल रखा जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...