कांग्रेस की न्यूनतम आय योजना छलावा : योगी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 26 मार्च 2019

कांग्रेस की न्यूनतम आय योजना छलावा : योगी

nyuntam-aay-yojana-is-an-illusion-of-congress-says-yogi
गोरखपुर (उप्र) 26 मार्च, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस की न्यूनतम आय योजना को छलावा करार देते हुए मंगलवार को कहा कि राम मंदिर की राह में कांग्रेस—सपा—बसपा सबसे बड़ी बाधा हैं । योगी ने यहां विजय संकल्प रैली में कहा, 'पहले भी कांग्रेस पार्टी ने ‘गरीबी हटाओ’ का नारा दिया था ... 72 हजार रूपये की न्यूनतम आय सिर्फ छलावा है ।' राम मंदिर पर योगी बोले, 'राम मंदिर की राह में यह महामिलावट यानी कांग्रेस, सपा और बसपा सबसे बड़ी बाधा हैं । कांग्रेस ने वकीलों की फौज खड़ी कर रखी है ताकि फैसला जल्दी ना आने पाये ।'  उन्होंने कोई नाम लिये बगैर कहा कि एक परिवार है, जो चुनाव करीब आने के साथ ही भगवान राम को याद करना शुरू कर देता है । 'वे मंदिर में पूजा के लिए ऐसे बैठते हैं मानो नमाज पढ़ रहे हों । लाल बहादुर शास्त्री की प्रतिमा को अपने गले से उतारी हुई माला पहना देना संस्कार न होने का उदाहरण है ।' 


कांग्रेस पर निशाना जारी रखते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी आतंकवादियों को बिरयानी खिलाती है जबकि हम गोला दागकर उनका सफाया करते हैं । मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए योगी ने कहा कि सपा सरकार के पांच साल के कार्यकाल में केवल 83 हजार मकान बनाये गये जबकि भाजपा सरकार के दो वर्ष में ही 23 लाख 82 हजार मकान बनाकर जरूरतमंदों को दिये गये । 'हमने जाति या धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं किया क्योंकि हमारे लिए देश के सभी गरीब बराबर हैं ।' भ्रष्टाचार के मुद्दे पर पूर्व की सरकारों पर हमला बोलते हुए योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वजह से गोरखपुर में एम्स का निर्माण हो रहा है और कांग्रेस सरकार के भ्रष्टाचार के कारण 26 साल से बंद पड़ी उर्वरक इकाई को भाजपा सरकार ने पुन: चालू कराया । उन्होंने कहा कि इसी तरह पिपराइच चीनी मिल सपा—बसपा के भ्रष्टाचार का उदाहरण है लेकिन अब वहां एक नयी चीनी मिल चालू हुई है ।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...