प्रधानमंत्री ने 2018 में खत्म कीं एक करोड़ नौकरियां : राहुल गांधी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 20 मार्च 2019

प्रधानमंत्री ने 2018 में खत्म कीं एक करोड़ नौकरियां : राहुल गांधी

pm-killed-one-crores-job-rahul-gandhi
इंफाल, 20 मार्च, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर साल दो करोड़ नौकरियां देने का वायदा करने के बावजूद अकेले 2018 में एक करोड़ नौकरियां खत्म कर दीं। मणिपुर की राजधानी में एक जनसभा को संबोधित कर रहे गांधी ने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में 2018 के दौरान हर दिन लगभग 30 हजार नौकरियां खत्म हुईं। गांधी ने आरोप लगाया, ‘‘2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में एक करोड़ नौकरियां खत्म कर दीं। यह उनकी अक्षमता का स्तर है। मोदी का दो करोड़ नौकरियों का वायदा बेतुका और हास्यास्पद है।’’  वर्ष 2016 में नोटबंदी करने के केंद्र के फैसले की आलोचना करते हुए गांधी ने कहा कि इससे लोगों की जिन्दगी बिखर गई। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा ‘‘एक सुबह, वह (मोदी) सो कर उठे और नोटबंदी करने का फैसला कर लिया। क्या यह मजाक है ? लोगों की जिंदगी बिखर कर रह गई।’’  गांधी ने दावा किया कि मोदी ने जब भी मणिपुर का दौरा किया, उन्होंने ‘‘आपकी संस्कृति, आपके इतिहास का अपमान किया।’’  उन्होंने जनसभा में आए लोगों से कहा, ‘‘उनके पार्टी अध्यक्ष (अमित शाह) कहते हैं कि मणिपुर तथा पूर्वोत्तर के लोगों पर नागरिकता संशोधन विधेयक थोपा जाएगा। ये लोग आपकी संस्कृति पर हमला कर रहे हैं। हमने यह विधेयक पारित नहीं होने दिया। कांग्रेस आपकी संस्कृति की रक्षा करेगी और विधेयक को पारित नहीं होने देगी।’’  गांधी ने कहा कि मोदी ने जब ‘लुक ईस्ट’ की जगह ‘एक्ट ईस्ट’ की बात की तो उनकी कथनी और करनी में अंतर नजर आया। उन्होंने जानना चाहा कि पूर्वोत्तर को दक्षिण एशिया और भारत के बीच सेतु बनाने के लिए केंद्र ने क्या किया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...