सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 26 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 26 मार्च 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 26 मार्च

लोकसभा निर्वाचन-2019 में GPS से होगी EVM की ट्रेकिंग

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्ही.एल.कान्ता राव ने एक जानकारी में बताया है कि लोकसभा निर्वाचन-2019 में ईव्हीएम का परिवहन करने वाले वाहनों पर GPS लगाया जायेगा। लोकसभा निर्वाचन के दौरान मतदान दलों को मतदान केन्द्र तक लाने-ले जाने में उपयोग होने वाले वाहन, सेक्टर मजिस्ट्रेट द्वारा मतदान के दिन अपने वाहनों में रिजर्व EVM का परिवहन एवं मतदान उपरान्त रिजर्व मशीनों को जिलों से राज्य स्तरीय वेयर हाउस तक लाने वाले वाहनों पर GPS लगाया जाएगा, जिससे वाहनों की लोकेशन ली जा सकेगी। वाहनों के ट्रेकिंग के लिए प्रत्येक जिला मुख्यालय पर कन्ट्रोल रूम स्थापित किया जाएगा। 

चुनाव ड्यूटी प्रमाण-पत्र के जरिये वोट डाल सकेंगे कर्मचारी

भारत निर्वाचन आयोग ने चुनाव ड्यूटी पर तैनात अमले को मतदान की सुविधा प्रदान किये जाने के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किये हैं। चुनाव ड्यूटी पर तैनात वे सभी लोग जो उस स्थान पर मतदान नहीं कर सकते जहाँ मतदाता सूची में उनके नाम दर्ज हैं, उन्हें डाक मत पत्र अथवा चुनाव ड्यूटी प्रमाण-पत्र इलेक्शन ड्यूटी सर्टिफिकेट के माध्यम से यह सुविधा प्रदान की जायेगी। यदि किसी कर्मचारी की चुनाव ड्यूटी उसी चुनाव क्षेत्र में लगती है जहाँ का वह मतदाता है तो उसे चुनाव ड्यूटी प्रमाण-पत्र के माध्यम से यह सुविधा प्रदान की जायेगी। इस सुविधा से वह चुनाव ड्यूटी प्रमाण-पत्र के माध्यम से उसी मतदान केन्द्र में मतदान कर सकेंगे जहाँ उन्हें ड्यूटी के लिये तैनात किया गया है। यदि किसी कर्मचारी की चुनाव ड्यूटी उस चुनाव क्षेत्र में लगती है जहाँ का वह मतदाता नहीं है तो उसे डाक मत पत्र के माध्यम से यह सुविधा प्रदान की जायेगी। मतदान दलों में शामिल सभी कर्मचारी सेक्टर ऑफिसर, जोनल ऑफिसर, रिटर्निंग ऑफिसर, असिस्टेंट रिटर्निंग आफिसर, डिस्ट्रिक्ट इलेक्शन ऑफिसर, डिप्टी इलेक्शन ऑफिसर, कंट्रोल रूम एवं चुनाव संबंधी कार्य में तैनात सभी कर्मचारी, सभी पुलिसकर्मी, होमगार्ड, चुनाव ड्यूटी में संलग्न सभी वाहनों के ड्रायवर, क्लीनर, हेल्पर इस सुविधा के पात्र होंगे। यदि वे चुनाव ड्यूटी के कारण उस मतदान केन्द्र में मतदान नहीं कर सकते जहाँ मतदाता सूची में उनके नाम दर्ज हैं तो उन्हें डाक मत पत्र अथवा चुनाव ड्यूटी प्रमाण-पत्र के माध्यम से यह सुविधा प्रदान की जायेगी। डाकमत पत्र सुविधा का लाभ निर्वाचन कार्य में संलग्न कर्मचारी उन्हे दिये जाने वाले प्रथम दौर के प्रशिक्षण के दौरान निर्धारित प्रपत्र में आवेदन भरकर उठा सकते है। साथ ही वे दिये गये निर्धारित प्रपत्र में वोटिंग कर उसे द्वितीय प्रशिक्षण के दौरान बनाये गये सुविधा केन्द्र का उपयोग करते हुए अपना मत अंकित करते हुए संबंधित लिफाफे को रखे गये सुविधा बाक्स में डाल सकते है या इन्हे डाकघर के माध्यम से भी भेज सकते है। मतगणना के दिन तक प्राप्त प्रत्येक डाक मतपत्र को गणना में सम्मिलित किया जायेगा।

अभ्यर्थी को अपराधिक प्रकरण के संबंध में जानकारी देनी होगी

लोकसभा निर्वाचन लड़ने वाले सभी अभ्यर्थियों को अपने पूर्व में प्रचलित आपराधिक प्रकरणों, दोष सिद्ध एवं प्रचलित प्रकरणों की जानकारी भी देना होगी। अभ्यर्थियों को नाम निर्देशन पत्र के साथ शपथ पत्र में इस का उल्लेख करना अनिवार्य होगा। सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के तहत निर्वाचन आयोग द्वारा इस संबंध में निर्देश जारी किये गये है। निर्देशा अनुसार प्रत्येक अभ्यर्थी भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिये गये प्रारूप में सभी विवरणों को भरेगा। अभ्यर्थी द्वारा दिये गये लंबित अपराधिक प्रकरण की जानकारी स्वयं की वेबसाइट में दिखाई जाने हेतु बाध्य होंगे। अभ्यर्थी एवं संबंधित राजनैतिक दल इस संबंध में एक घोषणा जारी करेंगे, जिसे उनके द्वारा समाचार पत्रों एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में स्वयं के व्यय पर प्रसारित कराना होगा। प्रकाशन करने से तात्पर्य नाम-निर्देशन पत्र भरने के पश्चात कम से कम तीन बार प्रकाशन स्थानीय तौर पर अधिक प्रसार संख्या वाले समाचार पत्रों में एवं टीव्ही. चैनलों पर उनके द्वारा कराया जाना होगा।  

किसानों ने होली फाग गायन में मोदी और नाथ को लगाई लताड़ 
भाजपा को दिलाई राम की याद, कांग्रेस से कहीं कर्जा का माफ की बात 
सीहोर। किसानों ने ढोल,ढोलक, नगाड़ी और झांझ मजिरों के साथ मंगलवार को समाजसेवी एम एस मेवाड़ा के निर्देशन में होली फांग गाकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को  ग्राम चंदेरी में जमकर लताड़ लगाई। किसानों ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को भी किसानों से किए वादों को निभाने के लिए लठमार होली गायन किया। इस दौरान किसानों ने हाथों में तख्ती बेनरों को लेकर लेहंगी डांडिया नाच भी किया। इन तख्तियों पर किसानों के द्वारा अब की बार किसानों की हो सरकार, किसान का नेता केसा हो जो वादा पूरा करता हो सहित अन्य मन की बात लिखी गई। 

होली मिललों शहीद वीर जवानों से
कार्यक्रम का शुभारंभ सुबह ११ बजे के दरम्यिान पाकिस्तान से देश की रक्षा करते हुए प्राण त्यागने वाले शहीद हुए वीर जवानों को होली की फांग गाकर को श्रद्धांजली दी। ओ होली मिललों वीर जवानों से, होली मिललों, होली मिललों शहीद जवानों से होली मिल लो, मोदी भी मिललों होली राहुल भी मिललों,होली मिललों शहीद जवानों से होली मिल लो, मिललों सब संसार होली मिललों रे, होली मिललों शहीद वीर जवानों से। 

मतदाता भईयों सब मिल वोट करियों,
किसानों ने देश के मतदाताओं को जागरूक करते हुए कहा की सोच समझकर वोट है डरियों, ओ मेरे किसान भाइयों, देश को आगे बढय़ों रे, हाय रे हायरे मतदाता भईयों सब मिल वोट करियों, ओ किसान भईयों मामा के समझाईयों मामी के समझईओं, काका काकी को समझईयों, भईया भाभी के समझईयों सब मिल वोट करिओं और नई सरकार बनाईयों। 

मोदी को दिलाई रामजी की याद
किसानों ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को राम मंदिर की याद दिलाते हुए होली फांग में कहा की, हरिए किसान भईयों पहले राम मंदिर बनईयों वोट तभी डलबईयों , पहले राम मंदिर बईयों फिर सरकार बनईयों, लाल रंग डालों गुलाल रंग डालों  अबकी बार सरकार बदल डालों,ओ मेरे किसान भईयों। 

किसानों ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा
sehore news
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी मुख्यमंत्री कमलनाथ को किसानों से किए कर्ज माफी के वादे को याद कराते हुए होली फांग गायन में किसानों ने कहा की कर्जा माफ करियों कमलनाथ मेरे भाईयों हाय रे हाय रे किसान मरे भईयों, सरकार वहीं बनईयों रे किसान मेरे भईयों जो कर्जा माफ करियों, किसानों ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा की फांसी लगालगाकर मर गए किसान मेरे भईयों कर्जा माफ करियों कमलनाथ मेरे भईयों,। कमलनाथ के द्वार मची होली रे, कमलनाथ के द्वार रे के मन तुए रंग घुलायों, के मन केसर होली के मन गुलाल उड़ाई नो मन रंग घुलायों दस मन केसर होली ग्यारह मन गुलाल उड़ाई कमलनाथ के द्वार मची रे होली, राहुल भी देखे बांए मोदी भी देखे बांए देख्ेो सब जगत संसार रे, कमलनाथ द्वार मची रे होली फांग खेलन गायन चंदेरी के किसानों ने कमलनाथ के द्वार मची रे होली। कार्यक्रम में समाजसेवी एमएस मेवाड़ा के मार्गदर्शन में ग्राम चंदेरी, तकीपुर, सेवनियां, बरखेड़ी, बिजलोन, पीपलिया मीरा के किसान मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...