शारदा मंदिर का गलियारा भी खोलेगा भारत के तीर्थयात्रियों के लिए पाकिस्तान - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 25 मार्च 2019

शारदा मंदिर का गलियारा भी खोलेगा भारत के तीर्थयात्रियों के लिए पाकिस्तान

pakistan-gives-green-signal-for-sharda-temple-corridor
इस्लामाबाद, 25 मार्च, पाकिस्तान ने पंजाब प्रांत के नारोवाल जिले में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब और भारत के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक गलियारे पर सहमति के बाद सोमवार को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में शारदा मंदिर गलियारे को भी हिंदू तीर्थयात्रियों विशेषकर पड़ोसी देश के श्रद्धालुओं के लिए खोलने की अनुमति दे दी। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से कहा है कि भारत का विदेश मंत्रालय पहले ही इस गलियारे को खोलने के लिए प्रस्ताव भेज चुका है। विदेश मंत्रालय के सूत्रों ने कहा, “करतारपुर के बाद हिंदुओं के लिए यह बड़ी खबर है। कुछ सरकारी अधिकारी इलाके का दौरा कर प्रधानमंत्री को रिपोर्ट सौंपेगे।”  शारदा मंदिर हिंदुओं का एक प्रसिद्ध मंदिर है। यह मंदिर करीब पांच हजार वर्ष पुराना है और महाराजा अशोक के कार्यकाल में इसका निर्माण हुआ था। मंदिर के निकट एक तालाब है जिसे “मादोमती ” के नाम से पुकारा जाता है और इसका जल हिंदू समुदाय के लिए कटासराज मंदिर के जल की तरह बहुत महत्व रखता है। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के राष्ट्रीय असेम्बली के सदस्य डॉ रमेश कुमार ने समाचार पत्र से कहा, “ पाकिस्तान ने शारदा मंदिर खोलने का फैसला किया है। मैं दो दिन में मंदिर की यात्रा पर जा रहा हूं। मैं प्रधानमंत्री को इस संबंध में रिपोर्ट भेजूंगा। इस परियोजना पर चालू वर्ष में काम शुरू होगा और इसके बाद पाकिस्तान में रहने वाले हिंदू भी यहां की यात्रा पर जा सकेंगे।”

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...