स्वस्थ्य भारत यात्रा : करीमगंज में स्वस्थ भारत यात्रियों का हुआ सम्मान - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 12 मार्च 2019

स्वस्थ्य भारत यात्रा : करीमगंज में स्वस्थ भारत यात्रियों का हुआ सम्मान

एनसी कॉलेज में यात्रियों ने विद्यार्थियों से किया स्वास्थ्य पर  संवाद जनऔषधि, पोषण एवं आयुष्मान पर यात्री कर रहे हैं जन जागरण गांधी जी के डेढ़ सौवी जयंती वर्ष पर स्वस्थ भारत (न्यास) ने की है जरूरी पहल  यात्रा दल ने 40 दिनों में 11 हजार किमी की तय की है दूरी, अब तक हुए हैं 80 से अधिक आयोजन

swasth-bharat-yatra-reaches-karimganj
बदरपुर (करीमगंज) 12 मार्च,  महात्मा गांधी के डेढ़ सौवीं जयंती वर्ष पर राष्ट्र व्यापी यात्रा पर निकले स्वस्थ भारत यात्री 15 राज्यों से गुजरते हुए आज असम के करीमगंज जिले में पहुंचे। जिले के बदरपुर इलाके में दो अलग-अलग जनसभाओं में यात्री दल का स्थानीय लोगों ने स्वागत किया और उनके अभियान की सराहना की। वरिष्ठ स्वास्थ्य कर्मी श्री आशुतोष कुमार सिंह के नेतृत्व में निकली इस यात्रा में उनके साथ वरिष्ठ पत्रकार प्रसून लतांत, प्रियंका सिंह एवं शंभू कुमार शामिल हैं। यात्रा का ध्येय जनऔषधि, पोषण और आयुष्मान के मुद्दे पर जन-जन में जागरण फैलाना है। साथ ही महात्मा गांधी के स्वास्थ्य चिंतन से लोगों को अवगत कराना है। बदरपुर स्थित एक मंदिर के पास जनसभा को संबोधित करते हुए यात्रा दल के प्रमुख आशुतोष कुमार सिंह ने कहा कि इस देश में महंगी दवाइयों के नाम पर 90 हजार करोड़ रुपये की सालाना लूट हो रही है और यह लूट इसलिए दिनों दिन बढ़ती जा रही है क्योंकि हम जागरूक नहीं हैं। हमें नहीं मालूम है कि कब और कैसे लूट लिया जाता है। उन्होंने कहा कि महंगी दवाइयों के कारण इस देश में तकरीबन 3-4 फीसद लोग गरीबी रेखा से नहीं ऊबर पा रहे हैं। ऐसे में दवा एक बहुत बड़ा सामाजिक-आर्थिक मसला बन गई है। 

swasth-bharat-yatra-reaches-karimganj
जनऔषधि के बारे में विस्तार से बताते हुए उन्होंने कहा कि अगर देश की जनता जनऔषधि का अधिकतम इश्तेमाल करने लगे तो लाखों करोड़ रुपये की बचत होगी जो मरीजों की जेब से हर साल अनैतिक रूप से लूटे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिन दवाइयों को लोग ब्रांड के नाम पर खा रहे हैं, दरअसल वे भी जेनरिक दवाइयां ही हैं। उन्होंने डॉक्टरों से अपील करते हुए कहा कि वे इस लूट को रोकने में कारगर पहल कर सकते हैं। क्योंकि उनकी साख जनता में अभी भी कायम है। वे अगर चाहेंगे तो दवा के नाम हो रही लूट को रोक सकते हैं। महात्मा गांधी के नमक सत्याग्रह के 90 साल पूरे होने की पूर्व संध्या पर उनकी दांडी यात्रा की चर्चा करते हुए वरिष्ठ पत्रकार व गांधीवादी चिंतक प्रसून लतांत ने कहा कि दवा भी आज नमक की तरह आंदोलन का मुद्दा बन गई है क्योंकि लोग जिस तरह से नमक खाते हैं उसी तरह दवा भी समाज के प्रत्येक वर्ग के लिए एक जरूरत बन गई है। नमक की पहचान आसान है लेकिन दवा की पहचान आसान नहीं है और इसके लिए मरीजों को चिकित्सकों के पास जाना पड़ता है और वे उन्हें सस्ती दवा की बजाय महंगी दवाइयों की सिफारिश करते हैं। उन्होंने स्वास्थ्य और खासकर जेनरिक दवाओं के मुद्दे पर स्वस्थ भारत (न्यास) द्वारा किए जा रहे आंदोलन को जरूरी बताया और लोगों से इसमें शरीक होने की अपील की। इस मौके पर असम बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष विश्वरूप भट्टाचार्य, कवयित्री स्वाती शाकंभरी, अनिता बरुआ, रुपन कुमार पॉल, दीपंकर राय कर्मकार, बीबी बरुआ, संतु नाग, आशीष दास और तपन भाई सहित क्षेत्र के सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

एन.सी कॉलेज के विद्यार्थियों से स्वास्थ्य पर संवाद
swasth-bharat-yatra-reaches-karimganj
स्वस्थ भारत यात्रियों ने करीमगंज जिले के बदरपुर स्थित एन.सी कॉलेज में एनएसएस इकाई की पहल पर विद्यार्थियों के साथ स्वास्थ्य के मुद्दे पर संवाद किया। आशुतोष कुमार सिंह, प्रसून लतांत और प्राचार्य डॉ. एम. हुसैन ने लोगों के खान-पान, रहन-सहन और बदलते जलवायु के कारण बढ़ रही बीमारियों पर चिंता व्यक्त करते हुए विद्यार्थियों से इस मामले में अपनी भूमिका तय करने की अपील की। विद्यार्थियों से कहा गया कि वे गरीब लोगों की मदद के लिए जेनरिक दवाइयों का प्रचार-प्रसार करें और पीजा-बर्गर को छोड़कर स्थानीय एवं पारंपरिक खान-पान को अपनाएं ताकि बीमारियों से बच सकें। स्वस्थ भारत यात्रा दल के प्रमुख आशुतोष कुमार सिंह ने कॉलेज की ओर से मिले सहयोग के प्रति आभार जताते हुए प्राचार्य एम. हुसैन एवं एन.एसएस इकाई के प्रभारी को आभार पत्र सौंपा। सभागार में भारी संख्या में उपस्थित छात्र-छात्राओं ने स्वस्थ भारत के मकसद में में गहरी दिलचस्पी दिखाई।

swasth-bharat-yatra-reaches-karimganj
गौरतलब है कि सिलीगुड़ी में स्वस्थ भारत यात्रा-2 का दूसरा चरण संपन्न हुआ, यात्रा का दूसरा चरण नागपुर से शुरु हुआ था। नागपुर से सिलीगुड़ी तक पांच राज्यों, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, ओड़िशा, झारखंड और पश्चिम बंगाल में स्वस्थ भारत यात्रियों ने स्थानीय लोगों और जनऔषधि केन्द्रों के सहयोग से विभिन्न कार्यक्रमों को अंजाम दिया, इसके पहले चरण में यात्री दल ने दक्षिण भारत के सभी 7 राज्यों कर्नाटक, केरल, तमिलनाडू, पुदुचेरी, दमन, आन्ध्रप्रदेश और तेलांगना के अलावा गुजरात और महाराष्ट्र की यात्रा की, जिनमें पदयात्रा, कार रैली, बाइक रैली, विचार गोष्ठी, जनऔषधि केन्द्रों के उद्घाटन आदि  कार्यक्रम उल्लेखनीय हैं। अब तक की यात्रा के क्रम में 80 आयोजन हुए जिनमें 21 दिनों के पहले चरण में 50 आयोजन हुए जबकि 15 दिनों के दूसरे चरण में 30 आयोजन हुए। महात्मा गांधी 150 वीं जयंती वर्ष पर गांधी जी के शहादत दिवस 30 जनवरी को उनके साबरमती स्थित सत्याग्रह आश्रम से स्वस्थ भारत यात्रा-2 की शुरूआत हुई। अब तक 15राज्यों में यात्री दल ने 10 हजार से अधिक किमी की यात्रा तय की है। आशुतोष कुमार सिंह के नेतृत्व में चल रही यात्रा में उनके साथ वरिष्ठ पत्रकार व गांधीवादी चिंतक प्रसून लतांत, प्रियंका सिंह, विवेक शर्मा और शंभू कुमार शामिल हैं। इस यात्रा का ध्येय वाक्य है- स्वस्थ भारत के तीन आयामः जनऔषधि, पोषण और आयुष्मान। इस यात्रा का मकसद गांधी जी के 150 वी जयंती पर उनके स्वास्थ्य चिंतन का प्रचार-प्रसार करना भी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...