बिहार : 13 बी०एड०कॉलेजों की मान्यता रद्द,जिसमे पटना वीमेंस कॉलेज भी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 5 अप्रैल 2019

बिहार : 13 बी०एड०कॉलेजों की मान्यता रद्द,जिसमे पटना वीमेंस कॉलेज भी

13-b-ed-college-disqualified
अरुण कुमार (आर्यावर्त)  बिहार के चार सरकारी और नौ निजी कॉलेजों पर एनसीटीई ने गाज गिराई है।राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने पटना वीमेंस कॉलज की डिपार्टमेंट ऑफ एजुकेशन सहित राज्य के 12 बीएड कॉलेजों की मान्यता सत्र 2019-20 में रद्द कर दी है।जिसकी जानकारी प्रोसिडिंग एनसीटीई भुवनेश्वर जोन ने अपनी वेबसाईट (www.ercncte.org) पर अपलोड कर दी है।एनसीटीई की 270वीं बैठक की प्रोसिडिंग के अनुसार अगले सत्र में नामांकन नहीं ले सकेंगे।के०सी० दास की अध्यक्षता में मान्यता को लेकर 25 व 26 मार्च को बैठक हुई थी.इसमें अधिसंख्य कॉलेजों की मान्यता नियमित शिक्षकों के नहीं रहने के कारण रद्द की गई है।संबंधित कॉलेजों से प्रावधान के अनुसार सिक्षक व सुविधाओं की सूची मांगी थी।पटना वीमेंस कॉलेज सहित अधिसंख्य कॉलेजों ने नोटिस का जवाब ही नहीं दिया, नतीजन फरवरी दूसरे व तीसरे सप्ताह में सभी कॉलेजों को नोटिस भेजी गई थी।268वीं बैठक में बिहार के नालंदा व सारण जिले के एक-एक कॉलेज की मान्यता रद्द कर दी गई थी।

इन कॉलजों की रद्द की गई मान्यता :-
डिपार्टमेंट ऑफ एजुकेशन, पटना,वीमेंस कॉलेज, पटना,डीवीकेएन कॉलेज, समस्तीपुर,मैत्रेय कॉलेज ऑफ एजुकेशन एंड मैनेजमेंट, वैशाली,रघु सरोज वेलफेयर एंड चैरिटेबल ट्रस्ट, जहानाबाद,जमुई बीएड कॉलेज, जमुई,हरिनारायण सिंह इंस्टीट्यूट ऑफ टीचर्स एजुकेशन वैजला, सासाराम,अलमा इकबाल टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज, गया,लक्ष्मी नारायण कॉलेज, भागलपुर रहमानी बीएड कॉलेज, मुंगेर,बिहार कॉलेज ऑफ एजुकेशन, भोजपुर,नालंदा महिला शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय, नालंदा,गर्वमेंट टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज, जिला स्कूल कैंपस, छपरा,इन सब के साथ एएम कॉलेज, गया की मान्यता रद्द की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...