कांग्रेस संपत्ति हड़पने वाले धंधेबाजों को टिकट देती है : जी वी एल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 14 अप्रैल 2019

कांग्रेस संपत्ति हड़पने वाले धंधेबाजों को टिकट देती है : जी वी एल

congress-gives-ticket-to-property-grabbers-bjp
नयी दिल्ली, 14 अप्रैल, भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पर संपत्तियों को गलत तरीके से हड़पने वाले लोगों को टिकट देने का आरोप लगते हुए रविवार को कहा कि विपक्ष के रूप में यह पार्टी बुरी तरह विफल रही है और इस बार वह पिछली बार से अधिक बुरी तरह हारने जा रही है। पार्टी प्रवक्ता जी वी एल नरसिंह राव ने यहां पत्रकारों से कहा कि कांग्रेस पार्टी नैतिकता और ईमानदारी की बात करती है जबकि उसने फरीदाबाद से ललित नागर जैसे व्यक्ति को चुनाव में टिकट दिया है जो राहुल गांधी परिवार का अत्यंत निकट व्यक्ति महेश नागर का भाई है। महेश नागर राबर्ट वाड्रा प्रियंका और सोनिया गांधी का बहुत करीबी है और गांधी परिवार के लिए संपत्ति खरीदने हड़पने का काम करता है। श्री राव ने कहा कि कांग्रेस विपक्ष के रूप में बुरी तरह विफल हो गयी है और जनता की नज़रों में उसकी विश्वसनीयता लगातार घटती जा रही है जिससे उसमें जबरदस्त हताशा दीख रही है। उन्होंने कहा,“ कांग्रेस का गठबंधन भी ऐसे धंधेबाजो का गठबंधन है और जनता इस बात को जान गयी है। खुद राहुल गांधी अमेठी से भागकर केरल में चुनाव लड़ने चले गये हैं क्योंकि वह जानते हैं कि अमेठी में वे चुनाव हारने जा रहे हैं। उनकी हताशा और उनकी भाषा में गिरावट इस बात को बताती है। भारतीय जनता उन्हें इस बात की सजा देगी और उन्हें 2014 से भी अधिक बुरी तरह पराजित करेगी।” उन्होंने आरोप लगाया कि श्री गाँधी और श्री वाड्रा मिलकर संपत्तियों को हड़पने का धंधा करते हैं। नेशनल हेराल्ड मामले में दोनों जमानत पर पहले से हैं। उन्होंने अतीत से कोई सीख नहीं ली है और वे ललित नागर जैसे बिचौलिए को टिकट दे रहे हैं जो संपत्तियों को हड़पने का काम करता है। उन्होंने कहा कि आखिर श्री गाँधी पर क्या दबाव है कि उन्होंने ललित नागर को टिकट दिया। इसके पीछे क्या मकसद है ?क्या ललित नागर को चुप रहने का यह तोहफा दिया गया है? श्री गांधी इसका जवाब दें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लोगों पर आयकर के छापे पड़ते हैं लेकिन श्री गांधी जवाब नहीं देते लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर ओछी भाषा में हमले करते रहते हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...