बेगुसराय : स्कूली बच्चों द्वारा आयोजित कवि सम्मेलन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 15 अप्रैल 2019

बेगुसराय : स्कूली बच्चों द्वारा आयोजित कवि सम्मेलन


अरुण कुमार (आर्यावर्त) यह कक्षा 8 में पढ़ने वाले बालक हरि ओम की अभिव्यक्ति हैं।मौका था 13th April 2019,शनिवार को आयोजित बाल कवि सम्मेलन का।हिंदी विभाग के teachers के द्वारा coordinated इस CCA कार्यक्रम में सभी classes के बच्चों ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी। मेरी संस्कृति ,मेरी पहचान,पिता का पत्र, गंगा,मातृत्व,विनय,माँ, वीर सैनिक,प्रार्थना, शीश नहीं झुकेगा जैसे शीर्षक पर बच्चों ने कविता पाठ किया। सैनिकों या वीरता पर आधारित कविता को पूरे सदन का भरपूर प्यार व समर्थन मिला।यह आने वाली पीढ़ी की प्राथमिकता को दर्शाता है।माँ गंगा की स्थिति को शब्दों में दर्शाते समय बाल मन कभी विचलित होता तो कभी गौरवान्वित। नन्हें बच्चों द्वारा शब्दों के माध्यम से रिश्तों के प्रति संजीदगी सुनकर बहुत हैरानी भी हुई और गर्व भी हुआ कि robot के ज़माने में अभी भी मानवीय मूल्य बचे हुए हैं। Personality development में मंच का बहुत बड़ा role होता है।सैकड़ों लोगों के सामने अपनी बातों को रखने में अच्छे अच्छों के लब और हाथ, पैर काँपने लगते हैं।बच्चों की जितनी तारीफ करूँ, वह कम पड़ जायेगा क्योंकि किसी भी बच्चे में stage fright नहीं दिख।Naturally उनके teachers ,parents या guardians ने उन्हें अच्छे से groom किया है।आज ही intelligence quotient पर emotional quotient को भारी पड़ने की चर्चा सुना हूँ।जिन बच्चों के बहुत अच्छे marks आते हैं उनके intelligence quotient अच्छे होते हैं लेकिन जिन बच्चों में बचपन से दूसरों को help करने या सुख दुख में सहयोग करने का स्वभाव होता है उन बच्चों का emotional quotient बेहतर होता है।दुनिया में किये गए research ने बताया है कि emotional quotient से मजबूत बच्चे हर क्षेत्र में सफल होते हैं।IQ के साथ साथ EQ में भी मजबूत बच्चे इतिहास रच देते हैं। बाल कवि सम्मेलन शुरू होने से पहले पिछले शनिवार को English handwriting एवं हिंदी handwriting competition में प्रथम आने वाले बच्चों को Certificate of Merit/Excellence देकर सम्मानित किया गया।Glass और spoon को सही तरीके से पकड़ने का demonstration भी दिया गया।Hygiene की छोटी छोटी बातों को बताया गया।खासकर मोबाइल में मौजूद गंदगी के बारे में।सप्ताह में कम से कम एक बार spirit एवं cotton से handset को पोछने का सलाह दिया गया। अंत में यह कह सकता हूँ कि कविता के प्रस्तुति में बच्चों ने dramatic skills का खूब use किया।Learning is a never ending process.सीखने और सिखाने का सिलसिला यूँ ही चलता रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...