अर्थव्यवस्था को तहस-नहस करने का मोदी सरकार को कोई ग़म नहीं : येचुरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 9 अप्रैल 2019

अर्थव्यवस्था को तहस-नहस करने का मोदी सरकार को कोई ग़म नहीं : येचुरी

modi-government-does-not-have-sorrow-for-economic-thrawt
नयी दिल्ली, नौ अप्रैल, माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने मोदी सरकार पर गलत आर्थिक नीतियों के कारण देश की अर्थव्यवस्था को बर्बाद करने का मंगलवार को आरोप लगाया। येचुरी ने देश के आर्थिक मंदी की ओर बढ़ने के संकेत मिलने संबंधी मीडिया रिपोर्टों का हवाला देते हुये सोमवार को कहा कि पिछले पांच साल के मोदी सरकार के कार्यकाल में अर्थव्यवस्था सिर्फ मंदी की ओर बढ़ने की ओर बढ़ी है।येचुरी ने ट्विटर पर कहा, ‘‘सिर्फ़ एक दर बढ़ी है - और वो है - मंदी की ओर बढ़ने की दर। अर्थव्यवस्था तहस-नहस करने का मोदी सरकार को कोई ग़म नहीं।’’  उन्होंने मोदी सरकार पर जनता से झूठे वादे करने का आरोप लगाते हुये कहा, ‘‘सिर्फ़ कसेंगे जुमले और करेंगे झूठे वादे। इस सरकार को भगाने का वक़्त आ गया है।’’ येचुरी ने ऑटोमोबाइल क्षेत्र में तेजी से आयी मंदी से जुड़ी एक अन्य मीडिया रिपोर्ट का जिक्र करते हुये कहा कि मोदी सरकार की नीतियों ने समाज के हर वर्ग की जिंदगी को बुरी तरह प्रभावित किया है। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘अर्थव्यवस्था को तबाह करने के प्रतिदिन हमें सबूत मिल रहे हैं। मोदी सरकार के कामों से समाज के हर तबके की गुजर बसर बुरी तरह प्रभावित हुयी है और इसने भारत को गर्त में धकेला है।’’  येचुरी ने कहा कि सरकार सिर्फ प्रचार के तमाशों में मशगूल है, जबकि बाजार में विनिर्माण, बिक्री और रोजगार का बुरा हाल होने के कारण अब खतरे की घंटी बज चुकी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...