सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 14 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 14 अप्रैल 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 14 अप्रैल

मतदान और मतदान के एक दिन पहले समाचार पत्रों में प्रकाशित कराये जाने वाले विज्ञापनों का भी कराना होगा पूर्व प्रमाणन

भारत निर्वाचन आयोग ने एन चुनाव के मौके पर विद्वेषपूर्ण अथवा भ्रामक राजनैतिक विज्ञापनों के प्रकाशन एवं प्रसारण पर रोक लगाने के उद्देश्य से समाचार पत्रों अथवा प्रिंट मीडिया में भी मतदान के एक दिन पूर्व और मतदान के दिन प्रकाशित कराये जाने वाले राजनैतिक विज्ञापनों का राज्य स्तरीय अथवा जिला स्तरीय मीडिया प्रमाणन समिति से पूर्व प्रमाणन कराना अनिवार्य कर दिया है। इस बारे में निर्वाचन आयोग द्वारा निर्देश जारी कर दिये गये हैं।  निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्देश के मुताबिक कोई भी राजनैतिक दल या उम्मीदवार अथवा अन्य कोई संगठन या व्यक्ति प्रदेश में लोकसभा चुनाव के लिए होने वाले मतदान के दिन तथा उसके एक दिन पहले वाले दिन कोई भी विज्ञापन मीडिया प्रमाणन समिति से बिना पूर्व प्रमाणन कराये प्रकाशित नहीं करा सकेगा। अर्थात ऐसे विज्ञापनों का समाचार पत्रों अथवा प्रिंट मीडिया में प्रकाशन कराने के पूर्व राज्य अथवा जिला स्तरीय मीडिया प्रमाणन समिति से प्रमाणन कराना अनिर्वाय होगा।  निर्वाचन आयोग ने यह निर्देश पूर्व में सामने आये उन मामलों के संदर्भ में जारी किये हैं, जहां अंतिम चरण में भ्रामक, भड़काउ या आक्रामक स्वरूप के विज्ञापन प्रकाशित कराकर चुनावी प्रक्रिया को दूषित करने के प्रयास किये गये थे। आयोग के मुताबिक चुनाव के अंतिम दौर में ऐसे भ्रमित करने वाले विज्ञापनों के प्रकाशन के बाद इनसे प्रभावित दल अथवा प्रत्याशी के पास किसी भी प्रकार की सफाई अथवा खण्डन का अवसर नहीं होता।  आयोग के अनुसार ऐसी स्थिति में स्वतंत्र और निष्पक्ष निर्वाचन के लिए विज्ञापनों का पूर्व प्रमाणन जरूरी है। 

नामांकन जमा करते समय केवल पांच व्यक्तियों को ही प्रवेश मिलेगा

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी लोकसभा निर्वाचन-2019 कार्यक्रम के अनुसार संसदीय क्षेत्र-19 भोपाल के लिए नाम निर्देशन पत्र 16 अप्रैल 2019 से प्राप्त किए जाएंगे। भारत निर्वाचन आयोग के मार्गदर्शी सिद्धांतों के अनुरूप नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करते समय रिटर्निंग अधिकारी के कक्ष में केवल पांच व्यक्ति ही प्रवेश कर सकेंगे। इससे अधिक व्यक्तियों के प्रवेश करने पर संबंधितों के विरूद्ध निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देश अनुसार वैद्यानिक कार्यवाही की जाएगी।

सुविधा एप पर भी होगी नामांकन पत्रों की एंट्री

निर्वाचन आयोग द्वारा तैयार किये गये सुविधा एप्लीकेशन में लोकसभा का चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थियों द्वारा भरे गये नाम-निर्देशन पत्रों की एंट्री भी की जायेगी। इस एप पर निर्वाचन आयोग द्वारा नॉमीनेशन माड्यूल जोड़ा गया है। इस मॉड्यूल से रिटर्निंग अधिकारियों को अतिरिक्त सहूलियत होगी।  रिटर्निंग अधिकारी उम्मीदवारों से प्राप्त नामांकन पत्रों में दर्ज प्रत्येक जानकारी को सुविधा एप में दर्ज करेंगे। सुविधा एप्लीकेशन के मॉड्यूल को कुछ इस तरह बनाया गया है कि यदि नामांकन पत्र में कोई कमी रह जाती है या ऐसी कोई जानकारी जो नामांकन पत्र में दी जाना अनिवार्य है लेकिन अभ्यर्थी द्वारा उसे नहीं भरा गया है तो यह उस नामांकन पत्र को स्वीकार ही नहीं करेगा। ऐसी स्थिति में उम्मीदवार को रिटर्निंग अधिकारी द्वारा लिखित में सूचना देकर नामांकन पत्र की कमियों की समय रहते पूर्ति करने के लिए कहा जायेगा। ताकि सिर्फ लिपिकीय त्रुटि के कारण संवीक्षा के दौरान नामांकन पत्रों को निरस्त होने की स्थिति से बचा जा सकेगा।

केवल वीवीपेट की बैटरी मतदान की समाप्ति के बाद अनिवार्य, रूप से निकाली जाये - मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी 

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्हीएल कान्ता राव ने निर्देश दिये कि मतदान समाप्ति के तुरन्त बाद केवल वीवीपेट मशीन की बैटरी अनिवार्य रूप से पीठासीन अधिकारी द्वारा निकाली जाये। इस दौरान पीठासीन अधिकारी अभ्यर्थियों के एजेन्टों से हस्ताक्षर अवश्य लें। मशीनों के परिवहन के दौरान परिवहन वाहन में जीपीएस सिस्टम लगाने के लिये आयोग द्वारा टेण्डर फायनल कर दिये गये हैं। शीघ्र ही जीपीएस सिस्टम जिलों को उपलब्ध कराया जायेगा। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश अनुसार ‘बीएलओ को जानिये’ के पोस्टर तथा मतदान दिवस के दिन समस्त मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं की सुविधा के लिये पोस्टर लगाये जायेंगे, इसलिये अपने-अपने संसदीय क्षेत्र के समस्त मतदान केन्द्रों पर 2 गुणा 3 साइज में पोस्टर छपवा कर लगवाना सुनिश्चित करें। बूथ लेवल आफिसर जमीनी स्तर पर भारत निर्वाचन आयोग का प्रतिनिधित्व होता है, सामान्यत: एक बीएलओ एक मतदान केन्द्र क्षेत्र के लिये उत्तरदायी होता है। पोस्टर बीएलओ की भूमिका और उसका उत्तरदायित्व क्या-क्या है, से सम्बन्धित रहेगा। बूथ लेवल आफिसर का पता लगाने के तरीके सम्बन्धी जानकारी पोस्टर में उपलब्ध रहेगी। सोशल मीडिया, आदर्श मतदान केन्द्र, पीडब्लयूडी, स्वीप, मॉकपोल, सुविधा एप, सिंबाल, पेडन्यूज, सीसीटीवी वेब कास्टिंग आदि के सम्बन्ध में विस्तार से दिशा-निर्देश दिये गये।

हर्षोल्लास के साथ मनाई गई डॉ अंबेडकर जयंती , नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह हुए शामिल 

sehore news
सीहेार। जिला कांग्रेस कमेटी झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ ने रविवार को संविधान निर्माता डॉ बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की १२८वीं जयंती मनाई। जिला मुख्यालय पर अजा बहूल वार्ड क्रमांक ११ में स्थित डॉ अम्बेडकर पार्क में प्रमुख कार्यक्रम आयोजित किया गया। भव्य कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह सम्मिलित हुए। झुग्गी झोपड़ी कांग्रेस प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष एवं मध्य प्रदेश  कांग्रेस कमेटी अनुसुचित जाति विभाग संभाग भोपाल के संयोजक वरिष्ठ कांग्रेस नेता नरेंद्र खंगराले और क्षेत्रीय पार्षद आरती खंगराले ने मुख्य अतिथि मंत्री जयवर्धन सिंह का पुष्प मालाओं से भव्य आत्मीय स्वागत किया। तत्पश्चात मंत्री श्री सिंह ने बाबा साहब की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर बाबा साहब को नमन किया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में मौजूद नागरिकों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मंत्री श्री सिंह ने कहा की डॉ अम्बेडकर ने कहा था की बुद्धी का विकास मानव का अंतिम लक्ष्य होना चाहिए, दलित शोषित समाज को उपर उठाने के लिए बाबा साहब ने समाज को शिक्षित बनों संगठित बनों संघर्ष करों का नारा दिया है इस मौके पर मंत्री श्री सिंह ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का लोकसभा चुनावों को लेकर उत्साह बर्धन करतें बतायार की भोपाल लोकसभा के कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री रहते हुए समाज के अंतिम व्यक्ति की सेवा की है। हमारा यह कत्र्तव्य बनता है की देश के सेकुलर राष्ट्रीय कांग्रेस नेता श्री सिंह को भारी बहूूतों से विजय बनाएं। कार्यक्रम का संचालन जिला कांग्रेस के वारिष्ठ महामंत्री डॉ अनीस खान के द्वारा किया गया। अंत में दर्शन सिंह वर्मा ने आभार व्यक्त किया।  इस मोके पर पूर्व सासंद सुरेंद्र सिंह ठाकुर, जिला कांग्रेस अध्यक्ष रतन सिंह ठाकुर, आष्टा नगर पालिका अध्यक्ष कैलाश परमार,पूर्व विधायश्क रमेश सक्सेना, पूर्व नपाध्यक्ष राकेश राय, रूकमणी रोहिला,कार्यकारी अध्यक्ष राहुल यादव, नईम नबाव, सुरेश गुप्ता, हरीश राठौर, जाफर लाला, शमीम अहमद, ओम वर्मा, दामोदर राय, सुरेश साबू, राजू राजपूत,राकेश वर्मा, रामू चौधरी, विवेक राठौर रमेश राठौर, राजाराम बड़े भाई,सीताराम भारती,  मुकेश खत्री, मीरा रेकवार, मुकेश ठाकुर, संतोष जाटव, सुरेश कुमार यादव श्यामलाल महोबिया, धर्म प्रकाश आर्य, धन्नालाल परचौले,पन्नालाल खंगराले रमेश, हनीफ कुरैशी लतीफउर्राहमान सन्नी जाटव राहुल जाटव, सतीष यादव सहित बड़ी संख्या मेें कांग्रेस कार्यकर्तागण मौजूद थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...