बेगुसराय : टोल प्लाजा संचालकों की मनमानी और प्रशासन की लापरवाही - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 14 अप्रैल 2019

बेगुसराय : टोल प्लाजा संचालकों की मनमानी और प्रशासन की लापरवाही

जीता जागता प्रमाण मुरलीटोल का टोल प्लाजा
toll-plaza-begusaray-illigal-work
अरुण कुमार (आर्यावर्त) बछवाड़ा प्रखंड क्षेत्र के मुरलीटोल में एनएच-28 पर राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा निर्मित टोल प्लाजा स्थानीय लोगों के साथ विकास के नाम पर महज एक छलावा साबित हो रहा है।स्थानीय लोगों के अनुसार टोल प्लाजा से आसपास के लोगों को किसी चेन से बांध कर रख दिया गया हो। जब भी किसी काम से टोल प्लाजा को पार करना पड़ता है तो लगता है जैसे कोई जंग में जा रहे हैं। इस टोल प्लाजा पर नेशनल हाईवे अथारिटी आफ इंडिया कि तरफ से निर्धारित दिशा-निर्देश व नियमो की धज्जियां उड़ना आम बात हो गई है। जिस कारण लोगो को प्रत्येक दिन सुविधा कम और परेशानी अधिक मिल रही है। राष्ट्रीय राजमार्ग के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लगने के कारण जाम में कई एम्बुलेंस,स्कूल बस फंसी रहती है। जिस कारण मरीज समय से अस्पताल नहीं पहुँच पाते हैं और जाम के कारण दम तोड़ देते हैं। जाम में फंस कर प्रत्येक दिन स्कूल बस लेट हो जाती है। यहां तक की प्रशासनिक वाहनों को भी जाम में जगह नहीं मिलने से उन्हें भी जाम का शिकार होना पड़ता है। टॉलप्लाजा पर वाहनो के आने व जाने के लिए पांच गेट का निर्माण किया गया। जिसमे हमेशा तीन गेट ही खुला रहता है जिस कारण प्रतिदिन एनएच 28 पर जाम की स्थिति बनी रहती है। विगत एक अप्रैल से टॉलप्लाज पर वाहन से लिये जा रहे शुल्क में बढ़ोतरी होने से वाहन चालक व टॉल प्लाजा के कर्मचारी के बीच तू-तू में-में होता रहता है। जिस कारण एक वाहन निकलने में करीब पंन्द्रह मीनट लग जाता है। जिसको लेकर वाहनो की लम्बी कतार लग जाती है।प्रखंड के रसीदपुर से लेकर गोधना तक सड़क के किनारे करीब आधा दर्जन से अधिक लाईन होटल निर्मित है। लेकीन अधिकांश लाईन होटल के आगे ना तो वाहन लगाने की जगह है और ना ही शौचालय का निर्माण किया गया है। एनएच 28 के किनारे निर्मित लाईन होटल पर खड़ा होने वाले वाहन सड़क के दोनो किनारे एनएच पर खड़ा किया जाता है। सड़क के दोनो किनारे ट्रक समेत अन्य वाहन खड़ा रहने से हमेंशा जाम की स्थिति बनी रहती है।अक्सर एनएच 28 पर वाहनो की लाईन लगने के कारण सड़क पार करने के दौरान आने-जाने वाले वाहन दिखाई नही देने के कारण वाहनो के चपेट में आने से लोगो की मौत हो जाती है।स्थानीय लोग विजय शंकर दास, हरेराम महतो, दिगम्बर चौधरी, अमरेश यादव, सुरेन्द्र राय, हरेराम राय, अनिल मिश्र, उमेश प्रसाद राय, मंजेश राय, भुषण राय समेत दर्जनो लोगो ने बताया कि मोहद्दीनगर से बछवाड़ा आने वाली सड़क मुरलीटोल चौक के समीप एनएच 28 पर मिल जाती है तथा वाहन का जमावड़ा होने व विभिन्न होटलो पर वाहन खड़ी होने के कारण कही ना कही लोगो को दुर्घटना का शिकार होना पड़ता है।उन्होने बताया कि सड़क दुर्घटना के कारण महीने में करीब पंन्द्रह से बीस लोगो को दुर्घटना का शिकार होना पड़ता है जिसमें करीब दस से बारह लोगो की मौत हो जाती है।स्थानीय लोगो ने जिलाधिकारी बेगूसराय से मांग की है कि एनएच 28 पर स्थित लाईन होटल पर अवैध रुप से वाहन लगाने पर रोक लगाया जाय, बालू गिट्टी विक्रेताओं के द्वारा सड़क अतिक्रमण से मुक्त किया जाय। साथ में सड़क के बीच-बीच में ड्राम रखकर तथा प्रत्येक चौक-चौराहे पर पुलिस प्रशासन की व्यवस्थता किया जाय। जिससे सड़क दुर्घटना में कमी आ सके।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...