बिहार : देश की महिलायें संघी-सामंती चैकीदारी को बर्दाश्त नहीं करेंगी : कविता कृष्णन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 14 अप्रैल 2019

बिहार : देश की महिलायें संघी-सामंती चैकीदारी को बर्दाश्त नहीं करेंगी : कविता कृष्णन

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के प्रति अश्विनी चैबे का बयान घोर निंदनीय.
women-will-not-accept-rss-chaukidar-kavita-krishnan
पटना 14 अप्रैल, भाकपा-माले की पोलित ब्यूरो सदस्य व ऐपवा की राष्ट्रीय सचिव कविता कृष्णन ने बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के खिलाफ भाजपा नेता अश्विनी कुमार चैबे द्वारा दिए गए बयान को घोर महिला विरोधी करार दिया है और उसकी कड़ी निंदा की है. उन्होंने कहा कि इससे महिलाओं के प्रति भाजपा के संकुचित व सामंती नजरिए का ही पर्दाफाश हो रहा है. उन्होंने हैरानी जताई कि जो भाजपा महिला सशक्तीकरण का दावा करती है, उसके नेता महिलाओं से घूंघट में रहने की बात कह रहे हैं. हद तो तब है जब उसकी निंदा करने की बजाए भाजपा के बिहार राज्य अध्यक्ष उसकी सराहना कर रहे हैं और कह रहे हैं कि इसमें गलत क्या है? यदि घूंघट इतनी ही अच्छी बात है तो भाजपा के नेता खुद क्यों नहीं घूंघट ओढ़े लेते? कहा कि भाजपा व संघ वाले   महिलाओं की यह जो सामंती चैकीदार कर रहे हैं, दरअसल महिलाओं के एसर्शन से घबराए हुए हैं. ऐसी ताकतों को जनता चुनाव में अवश्य सबक सिखायेगी.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...