पांचवें चरण में 62 प्रतिशत मतदान - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 7 मई 2019

पांचवें चरण में 62 प्रतिशत मतदान

62-percent-voting-in-fifth-phase
नयी दिल्ली, 06 मई, लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में हिंसा की छिटपुट घटनाओं के बीच सात राज्यों की 51 सीटों के लिए आज करीब 62 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। चुनाव आयोग के अनुसार पश्चिम बंगाल तथा जम्मू-कश्मीर में हिंसा की छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्ण रहा। शाम छह बजे तक 61. 89 प्रतिशत मतदान हुआ। सभी सीटों पर मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ था और कुछ स्थानो पर शाम छह बजे के बाद भी मतदाता कतारों में लगे थे जिससे मतदान का प्रतिशत बढने की संभावना है। पिछले चार चरणों की तरह पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक मतदान हुआ। वहां 74.15 प्रतिशत मतदाताओं ने मत डाले। झारखंड में 64.23 प्रतिशत , मध्य प्रदेश में 63.40, राजस्थान में 63.24 ,बिहार में 57.76 तथा उत्तर प्रदेश में 54.44 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। जम्मू-कश्मीर की लद्दाख सीट पर 61.2 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले । राज्य की अनंतनाग सीट के लिए अंतिम चरण के मतदान में दो जिलों पुलवामा और शोपियां में 2.38 प्रतिशत वोट डाले गये। इस सीट के बाकी हिस्सों में पिछले दो चरणों में मतदान हुआ था। इसके साथ ही जम्मू कश्मीर की सभी सीटों के लिए आज मतदान संपन्न हो गया। इसके साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन प्रमुख सोनिया गांधी, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी सहित कई दिग्गज नेताओं की चुनावी किस्मत इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन(ईवीएम) में बंद हो गयी। इस चरण में कुल 674 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे। श्री गांधी की अमेठी सीट पर 48.56, श्रीमती गांधी की रायबरेली सीट पर 53.60 और श्री सिंह की लखनऊ सीट पर 50.48 प्रतिशत मतदान होने की रिपोर्ट मिली है।

पश्चिम बंगाल में छिटपुट हिंसा और जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में दो स्थानों पर विस्फोट को छोड़कर मतदान शांतिपूर्ण रहा। पश्चिम बंगाल के बैरकपुर लोकसभा क्षेत्र में तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के कथित हमले में भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार अर्जुन सिंह को चोटें आयी हैं। चुनाव आयोग ने इस हिंसा को लेकर प्रशासन से रिपोर्ट मांगी है। राज्य के श्रीरामपुर लोकसभा क्षेत्र में कई मतदान केन्द्रों पर ईवीएम में गड़बड़ी की रिपोर्ट मिली हैं। बिहार के सारण लाेकसभा क्षेत्र में एक युवक ने बूथ संख्या 121 पर इलेक्ट्राॅनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) तोड़ दी। जम्मू-कश्मीर में अनंतनाग लोकसभा क्षेत्र के पुलवामा में वोटिंग शुरू होने के कुछ देर बाद ही दो मतदान केंद्रों के पास विस्फोट हुए जिनमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। उत्तर प्रदेश की 14, राजस्थान की 12, पश्चिम बंगाल और मध्य प्रदेश की सात-सात, बिहार की पांच, झारखंड की चार और जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग और लद्दाख सीटों के लिए मतदान हुआ। सुरक्षा कारणों से अनंतनाग सीट पर तीन चरणों में मतदान कराया गया। इस चरण की समाप्ति के साथ ही लोकसभा की 425 सीटों के लिए मतदान संपन्न हो गया जबकि शेष 118 सीटों के लिए छठे और सातवें चरण में 12 और 19 मई को वोट डाले जायेंगे।

पश्चिम बंगाल में इस चरण में सभी मतदान केंद्रों पर राज्य पुलिस के बजाय केंद्रीय बलों की तैनाती की गयी थी। इस चरण के लिए 96 हजार 88 मतदान केंद्र बनाये थे जिन पर कुल आठ करोड़ 75 लाख 88 हजार 722 मतदाता थे। इनमें चार करोड़ 63 लाख तीन हजार 342 पुरुष, चार करोड़ 12 लाख 83 हजार 166 महिला और 2,214 किन्नर मतदाता हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट से मैदान में हैं, जहां उनका मुकाबला केंद्रीय मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी उम्मीदवार स्मृति ईरानी से है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह लखनऊ सीट से फिर अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए नेता एवं अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के रूप में श्री सिंह से मुकाबले में है। रायबरेली सीट से श्रीमती सोनिया गांधी एक बार फिर अपनी चुनावी किस्मत आजमा रही हैं। उनके खिलाफ भाजपा की ओर से दिनेश प्रताप सिंह चुनाव मैदान में हैं। पांचवें चरण में जिन अन्य प्रमुख नेताओं की चुनावी किस्मत दांव पर लगी है उनमें जयपुर ग्रामीण से केंद्रीय मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ और पूर्व ओलंपियन कृष्णा पुनिया, केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा(हजारीबाग), अर्जुन राम मेघवाल (बीकानेर), झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा (खूंटी), पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी(सारण) और पूर्व केंद्रीय मंत्री दिनेश त्रिवेदी(बैरकपुर) शामिल हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...