मधुबनी : DM ने बाढ़ पूर्व तैयारी से संबंधित समीक्षात्मक बैठक का आयोजन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 मई 2019

मधुबनी : DM ने बाढ़ पूर्व तैयारी से संबंधित समीक्षात्मक बैठक का आयोजन

dm-meeting-for-flood-relief-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) श्री शीर्षत कपिल अशोक, जिला पदाधिकारी, मधुबनी की अध्यक्षता में शनिवार को समाहरणालय स्थित सभागार में बाढ़ पूर्व तैयारी से संबंधित समीक्षात्मक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में अपर समाहत्र्ता, मधुबनी, श्री दुर्गानंद झा, अनुमंडल पदाधिकारी, सदर मधुबनी, श्री सुनील कुमार सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी, बेनीपट्टी, श्री मुकेश रंजन, अनुमंडल पदाधिकारी, फुलपरास, श्री गणेश कुमार, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सदर मधुबनी, सुश्री कामिनीबाला समेत अंचल अधिकारी एवं अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे। बैठक में वर्षा मापक यंत्र को चालू हालत में रखने एवं वर्षामापक यंत्र के रिडिंग हेतु प्रत्येक प्रखंड में दो प्रशिक्षित कर्मी को चयनित कर प्रत्येक दिन वर्षापात के आंकड़े, जिला आपदा, जिला सांख्यिकी, जिला कृषि एवं अनुमंडल पदाधिकारी को भेजने का निदेश दिया गया। साथ ही जिला सांख्यिकी पदाधिकारी,मधुबनी को अपने स्तर से प्रशिक्षण की व्यवस्था एवं सभी प्रखंड के वर्षामापक यंत्र की स्थिति की समीक्षा कर प्रतिवेदन देने का निदेश दिया गया। साथ ही झंझारपुर रेलवे ब्रिज, जयनगर साईफन एवं एकमा साईफन पर कमला बलान एवं भूतही बलान नदी का जलस्तर का माप प्राप्त किया जाता है। इन तीनों जलस्तर मापक स्थल पर जलस्तर की मापी हेतु कार्यपालक अभियंता बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल 1 एवं 2 झंझारपुर के कर्मचारी  को मापक गेज की स्थिति एवं उसके नियमित रूप से रिडिंग लेने एवं जिला स्तर पर सूचना उपलब्ध कराने की व्यवस्था करने का निदेश दिया गया। बाढ़ सुरक्षा हेतु गांव, पंचायत एवं प्रखंड स्तर पर उपलब्ध सभी संसाधन का मानचित्र(विस्तृत विवरणी) जिसमें नाव, जेनरेटर सेट, पेट्रोमैक्स, टेंट, जाल-महाजाल, खाली सिमेंट की बोरियां आदि की विवरणी की उपलब्धता एवं भंडारण की विवरणी तैयार करने का निदेश दिया गया। अंचल में उपलब्ध निजी नाव मालिकों से एकरारनामा करने, पुरानी सरकारी नावों की गहनी/मरम्मति कराकर परिचालन योग्य बना लेने तथा इस मद में होने वाले व्यय की  मांग जिला को उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया।  कार्यपालक अभियंता बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल, संख्या 1 और 2 झंझारपुर, पश्चिमी कोशी तटबंध प्रमंडल निर्मली(सुपौल) एवं सभी अनुमंडल पदाधिकारी को सभी तटबंधों की मरम्मति आदि की कार्रवाई सुनिश्चित करने तथा इस दिशा में की गई कार्रवाई संबंधी प्रतिवेदन जिला आपदा शाखा में उपलब्ध कराने तथा बाढ़ के समय तटबंध की नियमित निगरानी एवं गस्ती कार्य के लिए संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी तथा जिला समादेष्टा गृह रक्षा वाहिनी, मधुबनी एवं संबंधित कार्यपालक अभियंता आपस में संपर्क कर प्रति किलोमीटर पर एक गृह रक्षक की प्रतिनियुक्ति पूर्व के निदेश के आलोक में सुनिश्चित करने का निदेश दिया गया। इसके साथ ही जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा सूचना व्यवस्था को मजबूत करने, नाव की व्यवस्था एवं रख-रखाव करने, पाॅलीथीन शीट्स, सत्तू, गुड़, चूड़ा आदि की व्यवस्था करने, शरण स्थल की पहचान करने, मानव दवा की व्यवस्था, मोबाईल मेडिकल टीम एवं मेडिकल कैंप की व्यवस्था करने, पशुचारा एवं पशु दवा की व्यवस्था करने, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था करने, राज्य खाद्य निगम के गोदामों में खाद्यान्न की उपलब्धता एवं खाद्यान्न के संधारण हेतु गोदामों को चिन्हित करने, आपातकालीन संचालन केन्द्र-सह-नियंत्रण कक्ष की स्थापना करने, गोताखोंरों का प्रशिक्षण कराने  एवं अन्य प्रशासनिक तैयारियों को ससमय पूर्ण करने का निदेश दिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...