स्थिर मजबूत सरकार से आर्थिक वृद्धि होगी तेज, बढ़ेगा विदेशी मुद्रा प्रवाह : उद्योग जगत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 23 मई 2019

स्थिर मजबूत सरकार से आर्थिक वृद्धि होगी तेज, बढ़ेगा विदेशी मुद्रा प्रवाह : उद्योग जगत

industries-said-strong-government-need-development
नयी दिल्ली, 23 मई, देश के उद्योग जगत ने बृहस्पतिवार को उम्मीद जताई है कि केन्द्र में स्थिर और मजबूत सरकार के आने से आर्थिक वृ्द्धि को बढ़ावा मिलेगा और विदेशी मुद्रा प्रवाह बढ़ेगा। लोकसभा चुनाव परिणाम के रुझान बता रहे हैं कि भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर से भारी बहुमत के साथ सत्ता में लौट रही है।  जाने माने उद्योगपति और गोदरेज समूह के चेयरमैन आदि गोदरेज ने कहा कि नई सरकार से उम्मीद की जाती है कि वह देश की सकल आर्थिक उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि को और तेज करने की दिशा में काम करेगी।  उन्होंने कहा कि कंपनी कर को कम करने की दिशा में भी कदम उठाया जाना चाहिये। उन्होंने कहा, ‘‘हमारी कंपनी कर की दरें दुनिया में सबसे ऊंची दरों में से एक हैं। इन्हें कम किया जाना चाहिये। हालांकि, सरकार ने कंपनी कर की दर को घटाकर 25 प्रतिशत पर लाने का वादा किया हुआ है।’’  कार्पोरेट कर के मामले में गोदरेज ने कहा, ‘‘उन्होंने छोटी कंपनियों के लिये इसे कम कर दिया है लेकिन बड़ी कंपनियों के मामले में ऐसा नहीं किया गया है। मेरा मानना है कि यह काफी महत्वपूर्ण है। और भी कई कदम हो सकते हैं जिनसे कि वृद्धि को बढ़ाने में मदद मिलेगी।’’  नीति आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने भी इसी तरह के विचार व्यक्त किये हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ ... यह बड़े सुधारों को आगे बढ़ाने और देश में पूरी तरह बदलाव लाने का समय है। सरकार को व्यावसाय और उद्यमियों के लिये स्वस्थ्य और अनुकूल माहौल बनाने की जरूरत है। इसके साथ ही उच्च-उत्पादकता के रोजगार पैदा करने की जिम्मेदारी भी लेनी चाहिये।’’  लोकसभा चुनावों में मोदी लहर के चलते भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को 300 से अधिक सीटें मिल रही हैं। भारतीय जनता पार्टी अकेले 295 सीटों के साथ सत्ता में लौट रही है। जबकि 50 सीटों के आसपास रह गई है।  बंबई शेयर बाजार के सदस्य रमेश दमाणी का मानना है कि आने वाले समय में भारत में विदेशी मुद्रा प्रवाह बढ़ेगा। ‘‘नीतियों में निरंतरता बनी रहेगी। देश में अभी भी बड़े पैमाने पर निवेश करने वाली वैश्विक कंपनियां मौजूद हैं। इन कंपनियों का निवेश अब तेज होगा। पिछले छह माह के दौरान जो भी समझौते हुये हैं, वह अब क्रियान्वित होंगे। इस प्रकार बड़ी मात्रा में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश आकर्षित होगा। मेरा मानना है कि इस चुनाव के बाद विदेशी मुद्रा प्रवाह तेज होगा।’’  हीरानंदानी हाउस के संस्थापक और निदेशक सुरेन्द्र हीरानंदानी ने कहा कि वह केन्द्र में स्थिर सरकार में विश्वास करते हैं। मजबूत सरकार के आने से रीयल एस्टेट क्षेत्र में वृद्धि और तेज होगी। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...