आईएसआईएस ने भारत में नई 'शाखा' की घोषणा की - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 मई 2019

आईएसआईएस ने भारत में नई 'शाखा' की घोषणा की

isis-new-braanch-in-india
श्रीनगर, 11 मई, आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ने भारत में नयी "शाखा" स्थापित करने का दावा किया है। आईएस की ओर से अपनी तरह की यह पहली घोषणा 10 मई को आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच झड़पों के बाद की गई है। खूंखार आतंकी समूह आईएस की समाचार एजेंसी 'अमाक' के अनुसार नयी शाखा का अरबी नाम 'विलायाह ऑफ हिंद" (भारतीय प्रांत) रखा गया है।  जम्मू-कश्मीर के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने हालांकि इस दावे को खारिज कर दिया है। इस्लामिक चरमपंथियों पर नजर रखने वाले एसआईटीई इंटेल ग्रुप की निदेशक रीता काट्ज ने कहा, "आईएसआईएस ने अमशिपुरा में भारतीय बलों के साथ झड़पों का दावा करते हुए अपना नया "हिंद प्रांत" घोषित किया है।"  उन्होंने ट्वीट किया, "बेशक, एक ऐसे क्षेत्र में एक 'प्रांत' की स्थापना, जहां इसके वास्तविक नियंत्रण जैसा कुछ नहीं है बेतुका है, लेकिन इसे हल्के में नहीं लिया जाना चाहिये।"  आईएसआईएस ने शाखा के भौगोलिक नियंत्रण पर विस्तार से जानकारी नहीं दी। समूह द्वारा नयी शाखा की घोषणा को पश्चिम एशिया में अपनी जमीन खिसकने के बाद वैश्विक स्तर अपने प्रभाव को बरकरार रखने की रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है। इस तरह की रणनीति का जिक्र पिछले दिनों आईएसआईएस प्रमुख अबू बक्र अल-बगदादी ने किया था। आईएस ने मेसेजिंग ऐप ‘टेलीग्राम’ के जरिए 10 मई को संक्षिप्त बयान में कहा था कि मशीनगनों से लैस इस्लामिक स्टेट के आतंकवादी कश्मीर के शोपियां जिले के अमशिपुरा गांव में भारतीय सुरक्षा बलों के साथ भिड़ गए थे, जिसमें उनमें से कई मारे गए या घायल हुए। हालांकि, बयान में यह उल्लेख नहीं किया गया कि कथित झड़प कब हुई थी। 10 मई की मीडिया की खबरों में कहा गया था कि कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...