जय जगत 2020 यात्रा की तैयारी जोर शोर से - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 25 मई 2019

जय जगत 2020 यात्रा की तैयारी जोर शोर से

एक महीने में देना संभव न हो तो अगले चार माह  में   अपने सहयोग राशि का 25 प्रतिशत देकर भी आप अपने दायित्व को पूरा कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपने संगठन के बीच से भी जय जगत यात्रा के लिए दान प्राप्त कर सकते हैं। संगठन में जुडे़ हुए साधारण लोग 10 रूपया, और तो मध्यम वर्गीय लोग 100 रूपया दे सकते हैं।

jay-jagat-2020-yatra
दिल्ली । जन संगठन एकता परिषद के संस्थापक हैं पी.व्ही.राजगोपाल। इनके नेतृत्व में 2007 में जनादेश 2007, 2012 में जन सत्याग्रह 2012 और 2018 में जनांदोलन 2018 संपन्न हुआ। अब 2020 में जय जगत 2020 यात्रा की तैयारी जोर शोर से जारी है। इस यात्रा की तैयारी में आर्थिक समस्या मुंह बाह कर सामने आ गयी है। इसके आलोक में एकता परिषद से जुड़े जन संगठनों एवं उनके सहकर्मियों से सहायता करने की अपील की जा रही है। एक माह का वेतन समर्पित करने का आग्रह किया जा रहा है। एकता परिषद के संस्थापक पी.व्ही.राजगोपाल ने एक पत्र लिखकर कहा कि यह सर्वविदित है कि आपलोग जय जगत 2020 यात्रा की तैयारी जोर शोर से कर रहे हैं। इस समय दिल्ली कार्यालय की जिम्मेदारी रमेश शर्मा भाई के पास है और भोपाल कार्यालय की जिम्मेदारी अनीश भाई ने लिया है। आज शनिवार को जय जगत 2020 राष्ट्रीय समिति की बैठक भोपाल में संपन्न हो गयी। यह निर्णय लिया गया कि जो लोग दिल्ली से जिनेवा तक चलने वाले कार्यकर्ताओं हैं उनका प्रशिक्षण 4, 5 व 6 जून को भोपाल गांधी भवन में  आयोजित किया जाए। हर प्रांत से कुछ प्रतिनिधियों का चयन हुआ है। कृपया आप ध्यान रखे कि प्रशिक्षण के लिए वे समय पर भोपाल पहुंच जाये।  आगे उन्होंने कहा कि जय जगत 2020 की तैयारियों में धनाभाव एक बड़ी समस्या है। पिछले दिनों में  केरल में  बाढ़, तमिलनाडू में  गजा तूफान और अब उड़ीसा में  फिनी तूफान के कारण जय जगत 2020 के लिए धन संग्रह करना कठिन हो रहा है। पत्र के बारे में कहा कि यह पत्र एक विशेष निवेदन के साथ आपको भेज रहा हूं कि आप अपने एक माह का वेतन जय जगत 2020 कार्यक्रम के लिए समर्पित करें। केरल में बाढ़ के समय मैंने देखा कि हर कर्मचारी अपने एक महीने का वेतन बाढ़ पीड़ितों के लिए समर्पित किया। मेरा विश्वास है कि हम लोग भी उस तरीके को अपना कर जय जगत 2020 यात्रा की तैयारी कर पायेंगे। अगर एक महीने में देना संभव न हो तो अगले चार माह मे अपने सहयोग राशि का 25 प्रतिशत देकर भी आप अपने दायित्व को पूरा कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपने संगठन के बीच से भी जय जगत यात्रा के लिए दान प्राप्त कर सकते हैं। संगठन में जुडे़ हुए साधारण लोग 10 रूपया, और तो मध्यम वर्गीय लोग 100 रूपया दे सकते हैं। जय जगत 2020 जैसे एक विश्वव्यापी अभियान में हर व्यक्ति को जोड़ा जा सके इस पर आप जरूर ध्यान दीजिएगा। मैं विश्वास करता हंू कि आप इस पत्र को गंभीरता से लेंगे  और इस प्रक्रिया को इसी महीने से प्रारंभ करें। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...