झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 30 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 30 मई 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 30 मई

साज रंग झाबुआ द्वारा रंग संस्कार षिविर का समापन समारोह 1 जून को, नृत्य, नाटक, चित्रकला एवं संगीत की दी जाएगी अभिनव प्रस्तुति

jhabua news
झाबुआ। जिले की साहित्यिक, सांस्कृतिक एवं सामाजिक संस्था साज रंग झाबुआ द्वारा 26वां रंग संस्कार षिविर का आयोजन विगत 7 मई से संस्था के थांदला गेट स्थित कार्यालय किया जा रहा है। जिसमें प्रतिदिन सुबह 8 से 10 बजे एवं शाम 5 से रात्रि 8 बजे तक दो सत्रों में षिविरार्थी बच्चों को नृत्य, नाटक, चित्रकला एवं संगीत का प्रषिक्षण दिया जा रहा है। यह जानकारी देते हुए षिविर प्रभारी आलोक रावत ने बताया कि षिविर में अलग-अलग विद्याओं के प्रषिक्षक प्रषिक्षण दे रहे है। यह षिविर 31 मई तक चलेगा। षिविर का समापन समारोह झाबुआ के शासकीय उत्कृष्ट उमा विद्यालय के प्रांगण में 1 जून को शाम 7.30 बजे से होगा। इस अवसर पर अतिथि के रूप के साज रंग के संरक्षक एवं वरिष्ठ पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे। समापन अवसर पर प्रषिक्षित नव-कलाकारों द्वारा षिविर में सीखी गई उक्त विद्याओं की सार्वजनिक मंच पर शानदार प्रस्तुति दी जाएगी। अंत में सभी प्रतिभागी बच्चों को रोटरी क्लब ‘मेन’ झाबुआ के उमंग सक्सेना की ओर से स्मृति चिन्ह भी प्रदान किए जाएंगे। साज रंग संस्था के समस्त पदाधिकारी-सदस्य एवं रंगकर्मी तथा युवा कलाकारों ने समापन समारोह में शहर के सभी लोगों से अधिक से अधिक संख्या में पधारकर नव-कलाकारों की प्रस्तुति को निहारने और उनका उत्साहवर्धन करने हेतु अपील की है।समापन समारोह को सफल बनाने की अपील की।

बाल व्यक्तित्व विकास षिविर में अपने व्यक्तित्व को निखारने की ओर अग्रसर हो रहे बच्चें, योग, राजयोग के साथ गेम्स और चित्रकला का दिया जा रहा प्रषिक्षण

jhabua news
झाबुआ। प्रजापिता ब्रम्हकुमारी ईष्वरीय विष्वविद्यालय संस्था गोपालपुरा पर तीन दिवसीय बाल व्यक्तित्व विकास षिविर का आयोजन 28 मई से किया जा रहा है। षिविर का शुभारंभ बीके जयंती दीदी एवं ज्योति दीदी के साथ प्रषिक्षकों एवं प्रषिक्षणार्थी बच्चों द्वारा ऊॅं की आकृति पर दीप प्रज्वजलन कर किया गया। षिविर में बच्चों को योग, राजयोग के साथ मनोरंजन हेतु गेम्स और कहानियां आदि सुनाई जा रहीं है। शिविर के बारे में जानकारी देते हुए बीके ज्योति दीदी ने बताया कि 28 मई को षिविरार्थी बच्चों को सर्वप्रथम राजयोग (मेडिटेषन) करवाने के साथ आध्यामिक षिक्षा अर्थात अध्यात्म के महत्व के बारे में जानकारी बीके जयंती दीदी एवं ज्योति दीदी द्वारा दी गई। इसके साथ ही उन्हें नैतिकता एवं भारतीय संस्कृति का पाठ भी पढ़ाया गया। जिसमें बताया गया कि हमारे दैनिक जीवन में क्या-क्या कर्तव्य है। जिसमें प्रतिदिन सुबह जल्दी उठना, स्कूल के दिनों में सुबह स्कूल जाने के साथ ग्रीष्मकालीन अवकाष में भी हमे सुबह जल्दी उठकर प्रतिदिन अपने माता-पिता एवं घर के अन्य बड़े-बुजुर्गों के चरण स्पर्ष करना चाहिए। कपड़े साफ और स्वच्छ रखने से बिमारियां नहीं फैलती है। अपने घर-आंगनों को साफ-सुथरा रखने के लिए कूड़ा-कचरा जहा-तहां नहीं फैंकते हुए डिस्टबिन या कचरे के डिब्बे में ही डालना, नाखून समय पर काटना एवं उनमें मेल जमा नहीं होने देना, शुद्ध आहार ग्रहण करना, माता-पिता का कहना मानना एवं उनका अनादर ना करना, सुबह जल्दी उठकर प्रभु भक्ति करना और प्रतिदिन सुबह एवं शाम को राजयोग करना आदि की षिक्षा दी गई।

योग करवाया गया
शिविर के दूसरे दिन षिविर समय सुबह 8 से 10.30 बजे तक जिले की योग प्रषिक्षिका सुश्री रूक्मणी वर्मा द्वारा पहुचंकर बच्चों को योग करवाया गया। बच्चों को योग के सरलतम आसन एवं प्रणायाम उनकी आयु के अनुसार करवाएं गए। बाद सुश्री वर्मा ने बताया कि जिस तरह से राजयोग करने से हमारा मन शांत रहता है और सकारात्मक विचारों का संचार होता है उसी तरह योग से हमारा शरीर तंदरूस्त होकर स्वस्थ रहता है। योग करने से हमे कई तरह की बिमारियों से भी मुक्ति मिलती है।

अंतिम दिन चित्रकला का प्रषिक्षण दिया जाएगा
बीके ज्योति दीदी ने बताया कि षिविर में 8 से 15 वर्ष आयु समूह के झाबुआ सहित मेघनगर, रानापुर, डूमपाड़ा ग्राम के 30 से भी अधिक बच्चें भाग ले रहे है। 30 मई को षिविर के अंतिम दिन सभी बच्चों को पेटिंग करना प्रषिक्षक रूचि चैरसिया द्वारा सीखाई जाएगी। इसके साथ ही आर्टस के क्षेत्र में कागज एवं वेस्ट सामग्रीयों से नवीन सामग्रीयां एवं वस्तुएं बनाना सीखाया जाएगा। समापन अवसर पर सभी बच्चों को ईष्वरीय सौगात के रूप में उपहार भी प्रदान किए जाएंगे।

आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट द्वारा प्रतिभावान छात्र-छात्राओं का सम्मान समारोह 2 जून को

झाबुआ। शहर के सामाजिक कार्यों में हमेषा अग्रणी रहने वाली संस्था आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट झाबुआ द्वारा प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी शहर के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं का सम्मान समारोह का आयोजन 2 जून को शाम 7.30 बजे से स्थानीय पैलेस गार्डन पर पर किया जाएगा। इस अवसर पर कक्षा 10वीं (हाईस्कूल) में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले विभिन्न विद्यालयों के प्रतिभावान छात्र-़छात्राओं का भावभरा सम्मान कर उनके उज्जवल भविष्य हेतु शुभकामनाएं प्रेषित की जाएगी। इस अवसर पर जिले के वरिष्ठ समाजसेवीएवं साहित्यकार यषवंत भंडारी ‘यष’ को ‘श्रेष्ठ साहित्य सृजक अलंकरण’ सम्मान से नवाजा जाएगा। यह जानकारी देते हुए आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष राजेष नागर एवं संस्थापक सचिव नीरजसिंह राठौर ने बताया कि उक्त आयोजन को लेकर गत 27 मई, रविवार को आसरा ट्रस्ट की महत्वपूर्ण बैठक भी संपन्न हुई। जिसमें उक्त सम्मान समारोह को भव्य बनाने हेतु रूपरेखा तैयार की गई। सम्मानित किए जाने वाले छात्र-छात्राओं की सूची शहर के शासकीय एवं अषासकीय विद्यालयों से तैयार करवा ली गई है।

90 प्रतिषत से अधिक लाने वाले विद्यार्थियांे का सम्मान
कुल 17 विद्यार्थियों का इस दौरान सम्मान किया जाना है, जिन्होंने हाईस्कूल परीक्षा में 90 प्रतिषत से अधिक अर्जित किए है। आसरा ट्रस्ट के परामर्षदाता सुधीरसिंह कुषवाह, सेवा प्रकल्प अध्यक्ष रविराजसिंह राठौर एवं सचिव सुनिल चैहान ने ट्रस्ट के समस्त पदाधिकारी एवं सदस्यों से उक्त आयोजन में पधारकर इसे सफल बनाने की अपील की है।

दस्तक अभियान हेतु एक दिवसीय जिला स्तरीय कार्यषाला आयोजन 30 मई को

झाबुआ । दस्तक अभियान हेतु एक दिवसीय कार्यषाला का आयोजन 30 मई 2019 को कलेक्टर एवं अध्यक्ष जिला स्वास्थ्य समिति की अध्यक्षता में षाम 4.00 बजे कलेक्ट्रेट सभागृह झाबुआ में आयोजित की जावेगी।

दस्तक अभियान के अन्तर्गत आज उन्मुखीकरण पर व्याख्यान किया गया

झाबुआ । जिला झाबुआ में दस्तक अभियान के अंतर्गत सेक्टर सुपरवाइजर, डाटा एंट्री आॅपरेटर एवं बीपीएम का उन्मुखीकरण पर व्याख्यान जिला कार्यक्रम प्रबधंक श्री आर आर खन्ना एवं श्री सोनल नीमा मानिटरिंग व ईवेल्युवेषन अधिकारी द्वारा किया गया।

किसान स्वयं के तैयार बीज की साफ-सफाई कर उसके अंकुरण प्रतिषत की जांच करे
नया बगीचा लगाने हेतु उचित दूरी पर गड्ढे तैयार करे
झाबुआ । कृषि विज्ञान केन्द्र झाबुआ द्वारा किसानो को सलाह दी गई है कि आगामी 5 दिवसों में आसमान मे साफ से छिटपुट बादल रहने, तापमान सामान्य रहने व वर्षा नही होने की संभावना है, इसे देखते हुए खेत मे लगी फसल, सब्जी व पौधो की सिंचाई दोपहर के समय न करे, सिंचाई सुबह, षाम व रात मे करे। कटाई उपरांत खेत से मिट्टी परीक्षण हेतु मिट्टी के नमूने ले। परीक्षण हेतु प्रयोगषाला भेजे, इसके बाद गहरी जुताई कराये। कटाई उपरांत खेत मे बचे अवषेष (नरवाई) को जलाये नही, गहरी जुताई कराए।ग्रीष्म कालीन मूॅग, उडद, भिण्डी व कछदुवर्गीय सब्जियों की 7 से 8 दिन के अतंराल से सिंचाई कर अनुसंषित उर्वरक की मात्रा देे। नया बगीचा लगाने हेतु उचित दूरी पर गड्ढे तैयार करे। स्वयं के तैयार बीज की साफ-सफाई कर उसके अंकुरण प्रतिषत की जांच करे।

बढ़ती गर्मी के मद्देनजर लू से बचाव करने की आम नागरिकों से अपेक्षा

 झाबुआ । लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा बढ़ती गर्मी के मद्देनजर लू से बचाव के लिये आम नागरिक¨ं क¨ आवश्यक सुझाव दिए हैं। इस दिशा में स्वास्थ्य विभाग द्वारा एडवाइजरी जारी की गई है। आम नागरिकों को लू से बचाव करने की अपेक्षा की है। सीएमएचओ द्वारा आमजन क¨ धूप व गर्मी से बचने क¨ कहा गया है। घर के अन्दर हवादार, ठंडे स्थान पर रहे। यदि बाहर कार्य करना अति आवश्यक ह¨ त¨ बाहरी गतिविधियाँ सुबह व शाम के समय में ही करें। अत्यधिक शारीरिक श्रम वाली गतिविधियाँ दिन के अधिकतम तापमान वाले घंट¨ं में नहीं करे। सफेद व हल्के रंग के पतले वस्त्र¨ं का उपय¨ग करे। सिर क¨ कसे कपड़े या ट¨पी से ढके। जूते-चप्पल तथा नजर के काले चश्मे का प्रयाग करें। धूप में जाने से पहले भ¨जन व पर्याप्त पानी ले।  इसी प्रकार अधिक से अधिक पेय पदाथर्¨ं, नाॅन अल्क¨हाॅलिक जैसे नींबू पानी, लस्सी, छाछ, जलजीरा, आम पना, दही, नारियल पानी आदि का सेवन करें। ताजा एवं स्वच्छ भ¨जन का सेवन करें। शिशुअ¨ं तथा बच्च¨ं, 65 वर्ष से अधिक आयु के महिला-पुरूष¨ क¨ घर के अन्दर रखे। बंद गाड़ी के अन्दर का तापमान बाहर से अधिक ह¨ता है। कभी भी किसी क¨ बंद, पार्किग में रखी गाड़ी में अकेला नहीं छ¨ड़े। बहुत अधिक भीड़, गर्म घुटन भरे कमर¨ं, रेल, बस आदि की यात्रा गर्मी के म©सम में अत्यावश्यक ह¨ने पर ही करें। जारी की गई एडवाइजरी के अनुसार किसी व्यक्ति क¨ लू लगने के लक्षण दिखाई देते हैं, त¨ उसे तत्काल ठण्डे स्थान पर रखें। पानी, छाछ व अन्य तरल पदाथर्¨ं क¨ पर्याप्त मात्रा में पिलाये। यदि आराम नहीं लगे त¨ तुरन्त निकट के शासकीय या निजी चिकित्सालय में उपचार करवाये।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...