‘टाइम’ पत्रिका ने अपने कवर पर मोदी की तस्वीर के साथ छापा विवादास्पद शीर्षक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 10 मई 2019

‘टाइम’ पत्रिका ने अपने कवर पर मोदी की तस्वीर के साथ छापा विवादास्पद शीर्षक

modi-on-time-magazine
न्यूयॉर्क, 10 मई, देश में लोकसभा चुनाव के अंतिम पड़ाव पर पहुंचने के बीच ‘टाइम’ पत्रिका ने अपने अंतरराष्ट्रीय संस्करण के कवर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर के साथ एक विवादास्पद शीर्षक छापा है, लेकिन इसके नीचे ही एक अन्य शीर्षक में मोदी की प्रशंसा की गई है। अमेरिकी पत्रिका ने 20 मई 2019 के यूरोप, पश्चिम एशिया एवं अफ्रीका, एशिया और दक्षिण प्रशांत के अपने अंतरराष्ट्रीय संस्करण के कवर पर मोदी की तस्वीर के साथ शीर्षक दिया है ‘‘इंडियाज डिवाइडर इन चीफ’’। इस लेख को आतिश तासीर ने लिखा है जो भारतीय पत्रकार तवलीन सिंह और दिवंगत पाकिस्तानी नेता एवं कारोबारी सलमान तासीर के बेटे हैं। इस शीर्षक के नीचे एक अन्य शीर्षक दिया गया है : ‘‘मोदी द रिफॉर्मर’’ (सुधारक मोदी) । पत्रिका में यह भी कहा गया है कि विपक्षी कांग्रेस के पास वंशवाद के सिद्धांत के अलावा और कुछ देने को नहीं है। ‘‘मोदी द रिफॉर्मर’’ (सुधारक मोदी) लेख ‘यूरेशिया ग्रुप’ के अध्यक्ष एवं संस्थापक इयान ब्रेमर ने लिखा है। पत्रिका के अंदर ‘‘क्या विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र मोदी सरकार के पांच साल और झेल सकता है?’’ शीर्षक के तहत एक लेख छपा है जिसे तासीर ने लिखा है। इसके अलावा ब्रेमर ने ‘‘आर्थिक सुधार के लिए भारत की सबसे बड़ी आशा मोदी’’ शीर्षक के तहत लेख लिखा है। तासीर ने लेख में लिखा, ‘‘मोदी के आर्थिक चमत्कार वास्तविक बनने में न केवल असफल हुए बल्कि इसने भारत में जहरीले धार्मिक राष्ट्रवाद का माहौल पैदा करने में भी मदद की।’’  तासीर ने कहा कि भारत की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के पास राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी को, भाई के साथ खड़ा करने के अलावा और कोई राजनीतिक सोच नहीं बची। उन्होंने कहा कि मोदी भाग्यशाली हैं कि उनका विपक्ष इतना कमजोर है।  वहीं दूसरी ओर, ब्रेमर ने लिखा कि मोदी का आर्थिक रिकॉर्ड मिश्रित रहा है लेकिन, ‘‘भारत को बदलाव की आवश्यकता है और मोदी अब भी वह व्यक्ति है जो ऐसा कर सकते हैं। उन्होंने चीन, अमेरिका और जापान के साथ संबंधों में सुधार किया है।’’  उन्होंने कहा कि उनके घरेलू विकास एजेंडे ने करोड़ों लोगों के जीवन में सुधार किया है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...