अगला पांच साल वैश्विक व्यवस्था में भारत का खोया हुआ रुतबा वापस पाने का समय है : नरेंद्र मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 मई 2019

अगला पांच साल वैश्विक व्यवस्था में भारत का खोया हुआ रुतबा वापस पाने का समय है : नरेंद्र मोदी

next-five-years-restore-regim-dignity-modi
अहमदाबाद, 26 मई , प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि अगला पांच साल वैश्विक व्यवस्था में भारत के यथोचित स्थान को फिर से हासिल करने का समय होगा।  वह लोकसभा चुनाव में शानदार जीत के बाद यहां एक कार्यक्रम में बोल रहे थे जिसे सूरत अग्नि त्रासदी के चलते बिल्कुल सामान्य रखा गया था।  मोदी ने विशाल जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘अगले पांच वर्ष देश के इतिहास के लिए बहुत महत्वपूर्ण होंगे जैसा कि 1942 से 1947 तक का काल था। ’’  उन्होंने कहा, ‘‘ अगला पांच साल वैश्विक व्यवस्था में भारत के यथोचित स्थान को फिर से हासिल करने का समय होगा। अतीत में हमारे देश को वह स्थान प्राप्त था। मुझे पक्का विश्वास है कि भारत वैश्विक व्यवस्था में अपना महत्व फिर हासिल करेगा।’’  मोदी ने सूरत बिल्डिंग अग्नि त्रासदी में 22 विद्यार्थियों की मौत पर गहरा दुख प्रकट किया। उन्होंने कहा, ‘‘ कल तक मेरे मन में दो स्थिति थी, एकतरफ इस अभिनंदन समारोह में जाऊं या नहीं, क्योंकि वहां कर्तव्य जुड़ा था, दूसरी तरफ उन लोगों के प्रति करूणा थी जिनकी सूरत में मृत्यु हो गयी। जिन परिवारों ने इस त्रासदी में अपने बच्चों को खोया है, उनका दर्द कोई भी शब्द कम नहीं कर सकता।’’  प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘एक तरफ यह भी था, मुझे कर्तव्य के तौर पर राज्य के लोगों को धन्यवाद देना था और अपनी मां का आशीर्वाद लेना था।’’ 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...