नेपाल में हुआ समाजवादी पार्टी का गठन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 7 मई 2019

नेपाल में हुआ समाजवादी पार्टी का गठन

samajwadi-party-formed-in-nepal
काठमांडू 06 मई, नेपाल में मधेशी आंदोलन से उपजी पार्टी संघीय समाजवादी फोरम (नेपाल) और पूर्व माओवादी नेता डॉ. बाबूराम भट्टराई की पार्टी नया शक्ति का सोमवार को विधिवत एकीकरण हो गया और नयी पार्टी समाजवादी पार्टी (नेपाल) के नाम से अस्तित्व में आ गयी। पूर्व प्रधानमंत्री डाॅ. भट्टराई और संघीय समाजवादी फोरम के संयोजक एवं वर्तमान सरकार में उप प्रधानमंत्री उपेन्द्र यादव ने नेपाली राजधानी में एकीकरण के घोषणापत्र पर हस्ताक्षर किये। नयी पार्टी का नेतृत्व दोनों नेताओं के हाथ में रहेगा। श्री यादव पार्टी की केन्द्रीय कार्यसमिति के अध्यक्ष होंगे जबकि डॉ. भट्टराई संघीय परिषद के अध्यक्ष का पद संभालेंगे। पार्टी सूत्रों के अनुसार श्री राजेन्द्र प्रसाद श्रेष्ठ पार्टी के सह अध्यक्ष एवं श्री अशोक राय वरिष्ठ नेता होंगे। संघीय समाजवादी फोरम की प्रांत संख्या दो के प्रथम मुख्यमंत्री मोहम्मद लाल बाबू राउत सहित आठ नेताओं को पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं श्री विजय कुमार यादव को कोषाध्यक्ष बनाया गया है। नयी पार्टी में तीन महासचिव, तीन उप महासचिव एवं चार सचिव भी बनाये गये हैं। दो स्थान फिलहाल खाली रखे गये हैं। प्रथम दृष्टया नेपाली समाजवादी पार्टी का गठन सत्तारूढ़ एकीकृत नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी के विकल्प के रूप में देखा जा रहा है। नया संविधान लागू होने के पश्चात पहले आम चुनाव के बाद प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली की नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी एमाले और पूर्व प्रधानमंत्री पुष्पकमल दहल प्रचंड की नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी माओवादी का विलय हुआ था और एकीकृत नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी का गठन किया गया था। एकीकृत नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी इस समय देश की सत्ता पर मजबूती के साथ काबिज है। श्री प्रचंड का साथ छोड़कर नया शक्ति नाम से नयी पार्टी बनाने वाले डॉ. भट्टराई चुनाव में कोई कमाल नहीं कर सके थे। जबकि तराई के इलाके में संघीय समाजवादी फोरम की प्रदर्शन अच्छा रहा था जिसके बाद मधेसी आंदोलन को काबू में करने के लिए प्रधानमंत्री श्री ओली और श्री प्रचंड ने श्री उपेन्द्र यादव को सरकार में जगह दी और उन्हें स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के दायित्व के साथ उपप्रधानमंत्री नियुक्त किया। नेपाली संसद में इस समय नेपाली कांग्रेस मुख्य विपक्षी दल है लेकिन कमजोर नेतृत्व के कारण अगले चुनाव में अपने दम पर नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी को चुनौती देने में सक्षम नहीं दिखायी दे रही है। इस बीच नेपाली समाजवादी पार्टी का गठन देश में तीसरे मजबूत राजनीतिक ध्रुव के रूप में उभरने के संकेत के रूप में देखा जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...