सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 24 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 24 मई 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 24 मई

जिला कांग्रेस कार्यालय में दी गई कांग्रेस जिलाध्यक्ष ठाकुर को श्रद्धांजली 

sehore news
सीहेार। शुक्रवार को जिला कांग्रेस अध्यक्ष रतनसिंह ठाकुर को कांग्रेसजनों ने जिला कांग्रेस कार्यालय में विनम्र श्रद्धांजली दी। स्वर्गीय श्री ठाकुर के चित्र पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता डॉ अनीस खान, दर्शन वर्मा, राकेश राय, ओम वर्मा, सुरेश गुप्ता, नईम नबाव, सुरेश साबू, नरेंद्र खंगराले, राजेंद्र वर्मा, ममता त्रिपाठी, प्रेमलता राठौर, राजाराम बढे भाई, पवन राठौर, सीताराम भारती, श्याम सोनकर, सुनील दुबे, मुकेश ठाकुर भगत सिंह तोमर आदि कांग्रेसजनोने ने पुष्प अर्पित किए।

राज्य एवं जिला स्तरीय प्रावीण्य सूची में स्थान पाने वाले छात्र-छात्राओं को कलेक्टर ने किया सम्मानित

sehore news
कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा के निर्देशानुसार शुक्रवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में "प्रतिभा सम्मान समारोह कार्यक्रम" का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दौरान कलेक्टर द्वारा राज्य एवं जिला स्तर पर प्रावीण्य सूची में स्थान प्राप्त करने वाले छात्र/छात्राओं का सम्मान कर ट्राफी, प्रमाण पत्र एवं नगद राशि प्रदान कर किया गया। कार्यक्रम में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा, अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी, जिला शिक्षा अधिकारी श्री एस.पी.त्रिपाठी, जिला परियोजना समन्वयक श्री अनिल श्रीवास्तव सहित विभिन्न संस्थाओं के प्राचार्य एवं छात्र/छात्राओं के पालक भी उपस्थित थे। कलेक्टर श्री मिश्रा ने छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए कहा कि सभी बच्चे आगे आने वाली चुनौतियों के लिए मानसिक रूप से तैयार रहें। जीवन अपने आप में एक बहुत बड़ी परीक्षा है जिसमें हमें प्रतिदिन संघर्ष करना होता है। धैर्य एवं कठिन परिश्रम से हर विपरीत परिस्थिति का सामना किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हार न मानने के जज्बे एवं सीखने की ललक से ही असफलता को सफलता में बदला जा सकता है। शिक्षकों और अभिभावकों को भी कलेक्टर ने बधाई दी।  राज्य स्तरीय प्रावीण्य सूची में - शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सीहोर से कक्षा 12 वीं के मनीष पिता बाबूलाल रघुवंशी ने 500 में से 476 अंक प्राप्त कर 8 वां स्थान प्राप्त किया है। इसी प्रकार हाईस्कूल परीक्षा में होली एंजल स्कूल आष्टा के जय पिता विष्णुप्रसाद जाट ने 493 अंक प्राप्त कर 6 वां स्थान, नूतन बाल विद्या मंदिर सीहोर की छात्रा दीपिका पिता पुष्पेन्द्र मिश्रा एवं लूर्दमाता कांवेंट हायर सेकेंड्री सीहोर की छात्रा आंचल पिता अजय शर्मा ने 490 अंक प्राप्त कर 9 वां स्थान तथा गायत्री विद्या मंदिर चरनाल की छात्रा आरती पिता केला प्रसाद मीना ने 489 अंक प्राप्त कर प्रदेश में 10 वां स्थान प्राप्त किया है।  हायर सेकेंड्री की परीक्षा में जिला स्तरीय प्रावीण्य सूची में - मानविकीय संकाय में स्व. ठाकुर श्री प्यारे सिंह चौहान शासकीय उमावि छीपानेर की छात्रा आरती पिता अभय सिंह चौहान ने 442 अंक प्राप्त कर प्रथम एवं शासकीय हाईस्कूल राला नसरुल्लागंज से आयुष हरयाले पिता महेश हरयाले ने 440 अंक प्राप्त कर द्वितीय स्थान प्राप्त किया है। गणित एवं विज्ञान संकाय में शासकीय उत्कृष्ट उमावि सीहोर से आदित्य पिता विनोद राठौर ने 467 अंक प्राप्त कर प्रथम, पुष्प बाल विद्या मंदिर सीहोर से प्रियांशु पिता प्रेम कौशल व माडर्न पब्लिक हायर सेकेंड्री स्कूल आष्टा से ऋषभ पिता संजय जैन ने 463 अंक प्राप्त कर द्वितीय तथा टैलेंट इनोवेटिव हायर सेकेंड्री स्कूल आष्टा से अतुल पिता धर्मेन्द्र गोथी व न्यू अथोराईज कांवेट हायर सेकेंड्री स्कूल लाड़कुई से शिवानी पिता राजकुमार ठाकुर ने 459 अंक प्राप्त कर जिले में तृतीय स्थान प्राप्त किया है। वाण्ज्यि संकाय में लूर्द माता कांवेंट हायर सेकेंड्री सीहोर से योगिता पिता नारायण सिंह परमार व शासकीय आदर्श बालक उमावि नसरुल्लागंज से विकास पिता नेत्रपाल पंवार ने 473 अंक प्राप्त कर प्रथम तथा लूर्द माता कांवेंट हायर सेकेंड्री सीहोर से अंशिता पिता श्याम सुंदर मंत्री ने 472 अंक प्राप्त कर द्वितीय स्थान प्राप्त किया है। कृषि संकाय में शासकीय उमावि खामखेड़ा जत्रा, आष्टा से सुनील पिता लाल सिंह राजपूत ने 452 अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है। जिला स्तरीय हाईस्कूल परीक्षा में प्रावीण्य सूची में - मॉर्टीनेट कांवेट हायर सेकेंड्री आष्टा से रानी पिता प्रकाश चंद्र शिवहरे व द ऑक्सफोर्ड कांवेंट हायर सेकेंड्री स्कूल सीहोर से जया पिता नन्नूलाल डंगोलिया ने 487 अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान, अमलाहा पब्लिक हाईस्कूल से छाया पिता अनिल देवलिया, तनु पिता सीताराम वर्मा, दीनदयाल कांवेंट हायर सेकेंड्री बुधनी से अंजली पिता दिनेश पंवार एवं भारतीय विद्या मंदिर हायर सेकेंड्री स्कूल बुधनी से रागिनी पिता संतोष ठाकुर ने 486 अंक प्राप्त कर द्वितीय स्थान तथा ऐंजल्स पब्लिक हाई स्कुल आष्टा से रितेश पिता गजराज सिंह विश्वकर्मा, गायत्री विद्या मंदिर चरनाल से शीतल पिता महेन्द्र सोलंकी एवं संस्कृति विद्या मंदिर आष्टा से चिराग पिता मोहन सोनी ने 485 अंक प्राप्त कर जिले में तृतीय स्थान प्राप्त किया है।

उत्कृष्ट छात्रावासों में छात्र/छात्राओं को शाला समय, पश्चात कराई जाएगी एक घंटा विशेष कोचिंग  

जनजातीय कार्य विभाग सीहोर के जिला संयोजक श्री हरजीत सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि अनुसूचित जाति तथा जनजातीय कार्य विभाग द्वारा जिले में संचालित उत्कृष्ट छात्रावास एवं महाविद्यालयीन छात्रावास सीहोर, आष्टा, इछावर, बुदनी एवं नसरुल्लागंज के उत्कृष्ट छात्रावासों में निवासरत छात्र/छात्राओं को शिक्षण सत्र 2019-20 में शाला समय पश्चात अंग्रेजी, गणित, विज्ञान, जीव विज्ञान, भौतिक, रसायन, कम्प्यूटर विषय की शासकीय/अशासकीय विषय विशेषज्ञों से एक विषय कि एक घंटा कोचिंग कराई जाएगी। शासन द्वारा निर्धारित दर पर आंवटन प्राप्त होने पर विषय विशेषज्ञ/शिक्षकों को नियमानुसार मानदेय भुगतान किया जाएगी। शाला समय पश्चात छात्रावास में जाकर कोचिंग कार्य करने के इच्छुक विषय विशेषज्ञ/शिक्षक हिंदी में सादे कागज पर योग्यता का उल्लेख करते हुए योग्यता के दस्तावेजों व बैंक पासबुक की छायाप्रति के साथ आवेदन जमा कर सकते हैं। विषय विशेषज्ञ/शिक्षक अपना आवेदन अपने प्राचार्य/संकुल प्राचार्य/विकास खंड शिक्षा अधिकारी/जिला शिक्षा अधिकारी की अनुशंसा के साथ स्थानीय उत्कृष्ट/पोस्ट मैट्रिक छात्रावास में अधीक्षक के पास 15 जून तक जमा करा सकते है। निर्धारित तिथि के बाद प्राप्त आवेदनों पर विचार नहीं किया जाएगा।

आदिवासी छात्रावासों में प्रवेश की अंतिम तिथि 15 जून  

जनजातीय कार्य विभाग सीहोर के जिला संयोजक श्री हरजीत सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि अनुसूचित जाति कल्याण विभाग द्वारा जिले में संचालिक छात्रावासों में शिक्षण सत्र 2019-20 में छात्रावास में रिक्त सीट के लिए आवेदन आमंत्रित किये गए है। छात्रा/छात्राएं आवदेन फार्म संबंधित छात्रावास व आश्रम अधीक्षक से नि:शुल्क प्राप्त कर 15 जून तक जमा कर सकते हैं। छात्र/छात्रा का प्रोफाईल पंजीयन होना अनिवार्य है। आदिवासी वर्ग के जिले में संचालित छात्रावासों में नवीनीकरण/नवीन प्रवेश के लिए आवेदन MP TAAS पर ऑनलाईन भरे जाएंगे। आदिवासी छात्रावासों में प्रवेश के लिए ऑफलाईन प्राप्त आवेदनों पर विचार नहीं किया जाएगा।

शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत स्कूलों में निःशुल्क, प्रवेश के लिए आवेदन 29 मई तक  

निःशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम के प्रभावी क्रियान्वयन तथा कमजोर वर्ग एवं वंचित समूह के बच्चों को निःशुल्क प्रवेश की प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के उद्देश्य से सत्र 2019-20 के लिए गैर अनुदान प्राप्त अशासकीय स्कूलों में प्रवेश हेतु पालकों से 30 अप्रैल से 29 मई तक ऑनलाईन आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। पोर्टल से ऑनलाईन आवेदन की पावती एवं सत्यापन प्रपत्र 30 अप्रैल से 29 मई तक डाउनलोड किए जा सकते हैं। पात्रतानुसार अशासकीय विद्यालयों में निःशुल्क प्रवेश के लिए विद्यार्थियों का चयन ऑनलाईन लॉटरी के द्वारा 12 जून 2019 को किया जाएगा। ऑनलाईन आवेदन करने के पश्चात आवेदकों द्वारा निकटस्थ जन शिक्षा केन्द्र में 30 अप्रैल से 30 मई तक उपस्थित होकर सत्यापन कराना होगा। आवेदक 30 अप्रैल से 29 मई के मध्य त्रुटि सुधार भी करा सकेंगे, लेकिन सत्यापन पश्चात त्रुटि सुधार नहीं होगा। सत्यापनकर्ता अधिकारियों से सत्यापन प्रपत्र प्राप्त कर बीआरसी द्वारा पोर्टल पर प्रविष्टि करने के लिए 01 मई से 05 जून तक की तिथि निर्धारित की गई है। पोर्टल पर दर्ज हुए बच्चों में से रेण्डम पद्धति से ऑनलाईन लॉटरी द्वारा सीटों का आवंटन एवं चयनित आवेदकों को एसएमएस द्वारा सूचना 12 जून को दी जाएगी। आवेदकों द्वारा पोर्टल से आवंटन पत्र 12 जून से 20 जून तक डाउनलोड किए जा सकेंगे। अशासकीय स्कूल के आवंटन पश्चात अशासकीय शालाओं में प्रवेश के लिए 13 जून से 25 जून तक की तिथि निर्धारित की गई है। पात्र पाए गए बच्चों का स्कूलों में प्रवेश एवं प्रायवेट स्कूल द्वारा प्रवेशित बच्चों की पोर्टल पर रिपोर्टिंग दर्ज करना तथा प्रवेशित बच्चे का आधार सत्यापन 13 जून से 30 जून 2019 तक किया जाएगा।

श्रीकृष्ण सुदामा की मित्रता जगत में सर्वश्रेष्ठ-पुरोहित 
गीता मानस भवन में श्रीमद भागवत कथा 
sehore news
सीहोर। इस दुनिया में बहुत से रिश्ते व्यक्ति के जन्म लेते हीं उस से जुड़ जाते है,बहुत से रिश्ते व्यक्ति इस दुनिया में आवश्यकता अनुरूप स्थापित करता है लेकिन इस जगत में कितने हीं रिश्ते नाते मित्रता हुई है, लेकिन जो मित्रता भगवान श्रीकृष्ण और सुदामाजी के बीच में हुई उस का पार पाना असंभव है, श्रीकृष्ण सुदामा की मित्रता जगत में सर्वश्रेष्ठ है, उक्त विचार गीता मानस समिति द्वारा आयोजित श्रीमद भागवत कथा के दौरान शुकवार को कथा वाचक पंडित बीकेजे पुरोहित ने व्यक्त किए । कथा में पङ्क्षडत चेतन उपाध्याय ने श्रीकृष्ण सुदामा की मित्रता पर सुमधुर संगीतमय भजन प्रस्तुत किए।  कथा वाचक पुरोहित ने श्रीकृष्ण सुदामा की मित्रता का उल्लेख करते कहा की भगवान श्रीकृष्ण और सुदामा बचपन में गुरू संदीपनी के आश्रम उज्जैन में शिक्षा प्राप्त की और फिर दोनों अपने अपने कत्र्तव्य पालन में लग गए। समय के फेर में सुदामाजी उलझ गए और एक समय ऐसा आया की उन्हे इतनी भी भिक्षा नहीं मिल पाती थी की वह अपना और अपने परिवार का पेट भर सके फिर भी सुदामाजी अपनी इस दशा में भी बढ़े खुश थे और भगवान श्री हरि पर उन्हे पूर्ण विश्वास था की एक दिन आवश्य मेरी समस्याओं का अंत होगा। एक दिन सुदामाजी की पत्नि सुशिला ने कहा की तुम अपने गुरू भाई द्वारकाधीश श्रीकृष्ण से क्यो नहीं मदद मांगते हो मुणे एैसा विश्वास है की यदि तुम उनसे कहोंगे तो वह हमारी मदद अवश्य करेंगे। फिर एक दिन सुदामाजी अपनी पत्नि के कहने पर द्वारका नगरी के लिए रवाना हुए और कई दिनों की यात्रा के बाद वह द्वारकानगरी पहुंचे। उन्होने द्वारपाल से निवेदन किया की मुझे आप द्वारकाधीश श्रीकृष्ण से मिलवा दिजीए वह मेरे बचपन के मित्र है। उक्त बाते सुनकर द्वारपाल सुदामा को विक्षिप्त समझने लगा लेकिन फिर बार बार मनोहार सुनकर द्वारपाल ने श्रीकृष्ण को सुदामा के आने का संदेश दिया। संदेश सुनकर भगवान श्रीकृष्ण बढे आनंदित हुए और उन्होने नंगे पैर हीं सुदामा से मिलने के लिए दौड़ लगा दी और सुदामाजी को गले से लगा लिया। और अनका काफी आदर सत्कार किया।  गीता मानस समिति अध्यक्ष प्रदीप बिजोरिया, बाबूलाल मिस्त्री, पंडित सुनील शर्मा,अनिल शर्मा, सुरेश शर्मा, विष्णुदयाल भार्तिया, जीपी उपाध्याय, चंद्रभान यादव, सुरेश वशिष्ठ, दिनेश जायसवाल, हरीश अग्रवाल प्रदीप चौहान पुरषोत्तम शर्मा शेलेंद्र सुतार ने कथा वाचक प्रोफेसर बीकेजे पुरोहित एवं पंडित चेतन उपाध्याय का मंगल तिलक कर एवं पुष्प माला पहनाकर आशिर्वाद लिया। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...