अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार के निर्णायक मंडल में शामिल होंगे भारतीय लेखक जीत थाइल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 11 जुलाई 2019

अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार के निर्णायक मंडल में शामिल होंगे भारतीय लेखक जीत थाइल

indian-writer-booker-judge
लंदन, 11 जुलाई, पुरस्कार विजेता भारतीय लेखक जीत थाइल साल 2020 के अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार के लिए पांच सदस्यीय निर्णायक मंडल में शामिल होंगे। नार्कोपोलिस’ के लेखक और साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता थाइल मई 2019 और अप्रैल 2020 के बीच ब्रिटेन और आयरलैंड में प्रकाशित पुस्तकों में से सर्वश्रेष्ठ अनूदित उपन्यास का चुनाव करेंगे।  अपने पहले उपन्यास ‘नार्कोपोलिस’ के लिए मैन बुकर पुरस्कार के लिए शॉर्टलिस्ट होने वाले केरल में जन्मे थाइल ने साल 2006 में उपन्यास लिखना शुरू किया था। उनके कविता संग्रह में ‘दीज एरर्स आर करेक्ट’ शामिल है जिसके लिए उन्हें साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला था।  59 वर्षीय लेखक एवं संगीतकार ने मुंबई, बेंगलुरू, हांगकांग और न्यूयॉर्क में 23 साल तक पत्रकार के तौर पर काम किया। उनका हाल में आया उपन्यास ‘द बुक ऑफ चॉकलेट सेन्ट्स’ है।  थाइल के साथ अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार के निर्णायक मंडल में तुलनात्मक साहित्य एवं अनुवाद विशेषज्ञ लूसी कैंपोस, मैन बुकर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अनुवादक एवं लेखक जेनिफर क्रॉफ्ट और लेखक वलेरिया लुईसेली शामिल है। निर्णायक मंडल की अध्यक्षता टेड हॉजकिंसन करेंगे। वह ब्रॉडकास्टर, संपादक, आलोचक, लेखक और लंदन स्थित साउथबैंक सेंटर में साहित्य एवं बोलचाल के शब्द (स्पोकेन वर्ड) विभाग के प्रमुख हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...