बेगूसराय : घर में घुसकर किया जानलेवा हमला दहशत में हैं लोग - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 20 अगस्त 2019

बेगूसराय : घर में घुसकर किया जानलेवा हमला दहशत में हैं लोग

criminal-begusarai
अरुण कुमार (आर्यावर्त) बेगूसराय में बेखौफ अपराधी लगातार पुलिस को चुनौती देते आ रहा है। अपराधी लगातार गोलीबारी की घटनाओं को अंजाम दे रहै है और आम लोग दहशत में जीने को विवश हो गए हैं। ताजा घटना तेघड़ा थाना क्षेत्र के पिढौली गांव का है।बताते चलें कि 18 अगस्त की रात्रि गांव के ही दबंगों ने साईं कुँवर नामक एक व्यक्ति के पिता को बंधक बनाकर घर में घुसकर जमकर गोलीबारी की थी।जिसमें साईं कुँवर गंभीर रूप से घायल हो गया था। साईं कुँवर का इलाज फिलहाल सदर अस्पताल में चल रहा है।लेकिन अपराधी आज भी बे-खौफ खुले घूम रहा है इतना ही नहीं अपराधी साईं कुँवर के घर के आगे लगातार गोलियां भी बरसा रहा है। प्रशासन इस मामले में अभी तक कोई आपरादियों के खिलाफ कोई एक्शन नही लिया है अतः प्रशासन पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप पीड़ित परिवार की ओर से लगाई जा रही है। आलम यह है कि पूरा परिवार दहशत में जीने को विवश है तथा डर के मारे बच्चों ने स्कूल जाना छोड़ दिया है।आपको बता दें कि 18 अगस्त की रात्रि तेघड़ा थाना क्षेत्र के पिढौली गांव में बकाया के 50,000 मांगने के आरोप में गांव के ही अपराधी प्रवृत्ति के संतोष कुमार एवं विपिन कुमार ने साईं कुंवर के घर में घुसकर साईं कुँवर को गोली मार दी थी तथा महिलाओं से अभद्र व्यवहार किया था।पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस को लगातार सूचना देने के बावजूद भी पुलिस इस मामले को गंभीरता से नहीं ले ले रही है।बीती रात भी अपराधियों ने पीड़ित परिवार पर दबिश बनाने के लिए दोबारा गोलीबारी की घटना को अंजाम दिया है लेकिन अपराधी अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है।अब पुलिस इस मामले में क्यों लापरवाही बरत रही है ये तो पुलिसप्रशासन ही जाने,मगर इससे इतना तो साफ हो ही गया है कि बेगूसराय में पुलिस व्यवस्था चरमरा गई है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...