भारत ने पहले टेस्ट में वेस्टइंडीज को 318 रन से रौंदा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 26 अगस्त 2019

भारत ने पहले टेस्ट में वेस्टइंडीज को 318 रन से रौंदा

india-beat-indies-318-runs
नार्थ साउंड (एंटीगा), 25 अगस्त, अजिंक्य रहाणे के शतक के बाद जसप्रीत बुमराह के पांच विकेट से भारत ने पहले टेस्ट क्रिकेट मैच में यहां वेस्टइंडीज को 318 रन से करारी शिकस्त दी। भारत के 419 रन के मुश्किल लक्ष्य का पीछा करते हुए मेजबान टीम बुमराह (सात रन पर पांच विकेट), इशांत शर्मा (31 रन पर तीन विकेट) और मोहम्मद शमी (13 रन पर दो विकेट) की तूफानी गेंदबाजी के सामने सिर्फ 26 . 5 ओवर में 100 रन पर ढेर हो गई। इससे पहले भारत ने अपनी दूसरी पारी सात विकेट पर 343 रन बनाकर समाप्त घोषित की थी। भारतीय पारी का आकर्षण अजिंक्य रहाणे (102) और हनुमा विहारी (93) के बीच पांचवें विकेट के लिये 193 रन की साझेदारी रही। रहाणे ने पिछले दो साल में पहला और कुल दसवां शतक बनाया लेकिन विहारी अपने पहले शतक से चूक गये। विहारी के आउट होते ही कोहली ने पारी समाप्त घोषित कर दी। भारत ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के अपने इस पहले मैच की पहली पारी में 297 रन बनाने के बाद वेस्टइंडीज को 222 रन पर आउट कर दिया था। इस जीत के साथ भारत विश्व टेस्ट चैंपियनशिप तालिका में 60 अंक के साथ शीर्ष पर पहुंच गया है। श्रीलंका के भी 60 अंक हैं लेकिन वह दूसरे स्थान पर है। आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड समान 32 अंक के साथ क्रमश: तीसरे और चौथे स्थान पर हैं।

वेस्टइंडीज की हार और बुरी होती क्योंकि दूसरी पारी में टीम 50 रन रन पर ही नौ विकेट गंवा चुकी थी लेकिन केमार रोच (38) और मिगुएल कमिंस (नाबाद 19) ने अंतिम विकेट के लिए 50 रन की साझेदारी करके टीम का स्कोर तीन अंक तक पहुंचाया। इन दोनों के अलावा सिर्फ रोस्टन चेज (12) ही दोहरे अंक तक पहुंच पाए। बुमराह ने अनुकूल मौसम में सिर्फ आठ ओवर में वेस्टइंडीज के आधे बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा। अपना 11वां टेस्ट खेल रहे बुमराह सबसे कम मैचों में टेस्ट विकेटों का अर्धशतक पूरा करने वाले भारतीय तेज गेंदबाज भी बने। भारत ने इस जीत के साथ दो मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त बना ली है। दूसरा टेस्ट किंगस्टन में 30 अगस्त से खेला जाएगा। यह भारत की टेस्ट क्रिकेट की चौथी सबसे बड़ी जबकि विदेशी सरजमीं पर सबसे बड़ी जीत है। दिल्ली में 2015-16 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 336 रन की जीत भारत के टेस्ट इतिहास की सबसे बड़ी जीत है। इसके साथ ही विराट कोहली भारतीय कप्तान के रूप में सबसे अधिक जीत के मामले में महेंद्र सिंह धोनी के साथ संयुक्त रूप से शीर्ष पर आ गए हैं। इन दोनों की अगुआई में भारत ने 27-27 जीत दर्ज की हैं। कोहली ने भारतीय कप्तान के रूप में विदेशी सरजमीं पर सबसे अधिक जीत के मामले में सौरव गांगुली (11 जीत) को पीछे छोड़ा। बुमराह ने विकेट लेने की शुरुआत की और फिर इशांत ने उसमें उनका अच्छा साथ दिया। बुमराह ने अपने पहले ओवर में ही क्रेग ब्रेथवेट (01) को विकेट के पीछे कैच कराया और फिर अपने अगले ओवर में दूसरे सलामी बल्लेबाज जान कैंपबेल (सात) को बोल्ड किया।  इशांत ने अगले ओवर की पहली गेंद पर शैमर ब्रूक्स (दो) को पगबाधा किया। बुमराह की गेंद पर कोहली ने शिमरोन हेटमायर (एक) का कैच छोड़ा लेकिन इशांत ने यह गलती भारत पर भारी नहीं पड़ने दी। हेटमायर ने ड्राइव करने के प्रयास में गली में रहाणे को कैच दिया।

बुमराह ने अपने चौथे ओवर में डेरेन ब्रावो (दो) का विकेट उखाड़ा। उन्होंने चाय के विश्राम के बाद शाई होप (02) को बोल्ड करके वेस्टइंडीज को आगे भी राहत नहीं लेने दी। नये बल्लेबाज कप्तान जेसन होल्डर भी तुरंत पवेलियन लौट जाते लेकिन इशांत की गेंद पर विहारी उनका कैच नहीं ले पाये।  बुमराह को खेलना बेहद मुश्किल था और उन्होंने होल्डर (आठ) को जीवनदान का फायदा नहीं उठाने दिया और जल्द ही उनका भी आफ स्टंप हवा में लहरा दिया। इस तरह से वह चौथी बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट लेने में सफल रहे। वह आस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज में पारी में पांच विकेट लेने वाले पहले भारतीय गेंदबाज बन गये हैं।  शमी दूसरे बदलाव के रूप में आये और उन्होंने रोस्टन चेज (आठ) को बोल्ड करके विकेट लेने वालों में खुद का नाम भी लिखवाया।  शमी ने इसी ओवर में शेनन गैब्रिएल (00) को भी पंत के हाथों कैच कराके वेस्टइंडीज को नौवां झटका दिया। रोच और कमिंस ने हालांकि इसके बाद 6.5 ओवर में तेजी से 50 रन जोड़े लेकिन इशांत ने रोच को पंत के हाथों कैच कराके भारत को जीत दिला दी। भारत ने दिन की शुरुआत तीन विकेट पर 185 रन से की और सुबह शुरू में ही विराट कोहली (51) का विकेट गंवा दिया था लेकिन इसके बाद रहाणे और विहारी ने शानदार बल्लेबाजी की। रहाणे ने अपनी शतकीय पारी में 242 गेंदें खेली तथा पांच चौके लगाये। उन्होंने शेनन गैब्रियल की गेंद पर कवर पर जेसन होल्डर को कैच दिया।  कोहली ने तब पारी समाप्त घोषित नहीं की, क्योंकि विहारी 80 रन पर खेल रहे थे। रहाणे की जगह लेने के लिये उतरे ऋषभ पंत (सात) फिर से नाकाम रहे और स्लाग स्वीप करके डीप स्क्वायर लेग पर कैच दे बैठे।  होल्डर के अगले ओवर में विहारी ‘नर्वस नाइंटीज’ के शिकार बन गये। गेंद उनके बल्ले का हल्का किनारा लेकर विकेटकीपर शाई होप के दस्तानों में पहुंची। यह उनके करियर का सर्वोच्च स्कोर है जिसके लिये उन्होंने 128 गेंदें खेली तथा दस चौके और एक छक्का लगाया। रविंद्र जडेजा एक रन बनाकर नाबाद रहे।  भारत ने पहले सत्र में केवल कोहली का विकेट गंवाया और इस बीच 102 रन जोड़े। वेस्टइंडीज की तरफ से आफ स्पिनर रोस्टन चेज ने 132 रन देकर चार विकेट लिये। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...