झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 27 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 27 अगस्त 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 27 अगस्त

भाजपा नेताओ ने स्वर्गीय अरुण जेटली जी को भावभीनी श्रद्वांजली अर्पित की।

झाबुआ ।  देश के पूर्व वित्त मंत्री स्वर्गीय अरुण जेटली के असामयिक निधन पर जिला भाजपा नेताओ मे गहरा शोक व्यक्त करते हुए उन्हे भावभीनी श्रंदाजली अर्पित की इस अवसर पर भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य दौलत भावसार ने कहा कि अरुण जी का निधन भाजपा के लिये अपूर्णनीय क्षति है। जेटलीजी ने विद्यार्थी परिषद सपना राजनीतिक केरियर प्रारंभ किया ओर संगठन ओर सत्ता के शीर्ष स्थानो पर वह पहुचे वे सफल संगठन कर्ता के साथ सफल नेतृत्व करता भी थे पार्टी मे उन्हे संकटमोचन भी कहा जाता है अरुणजी हम सबके लिये प्रेरणा के केन्द्र बिंदु सदैव रहे है। मध्यप्रदेश के प्रभारी होने के नाते उन्होने प्रदेश भाजपा संगठन को मजबुत बनाने के लिये अपना नेतृत्व प्रदान किया था आज वे हमारे बीच मे नही है जिससे सम्पूर्ण जिला भाजपा शोक संतप्त होकर गहरा दुख व्यक्त करते है। इस अवसर पर भाजपा के आदिवासी नेता ओर पूर्व सी सी बी बैंक के चेयरमेन गौरसिंह वसुनिया ने भी अरुणजी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि हमने एक सफल राजनैतिक योद्वा खो  दिया है निश्चित रुप से अरुणजी का संगठन ओर सत्ता के प्रति समर्पण हम सबका प्रेरणा का स्त्रोत बनेगा निश्चित रुप से उनका असामयिक निधन देशभर के भाजपा कार्यकर्ताओ के लिये एक अपूर्णनीय क्षति है। इस अवसर पर भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष सुरेन्द्रसिंह मोटापाला ने भी अपना शोक संदेश देते हुए कहा कि हमने एक प्रखर वक्ता विद्वान व्यक्तित्व को खो दिया है निश्चित रुप से अरुणजी जेटली का स्थान अब कोई नही ले सकता है उनका निधन हम सबके लिये बहुत बडी हानि है। उक्त जानकारी हमारे प्रतिनिधि को जिला भाजपा मिडिया प्रभारी द्वारा एक प्रेस नोट के माध्यम से दी है।

मप्र की कमलनाथ सरकार ने षिक्षकों और कर्मचारियों के लिए वचन-पत्र में जो वादे किए, वो पूरे किए -ः जिला युवक कांग्रेस अध्यक्ष डाॅ. विक्रांत भूरिया
मप्र कर्मचारी कांग्रेस की जिला स्तरीय बैठक हुई संपन्न, डाॅ. विक्रांत भूरिया का किया सम्मान
jhabua news
झाबुआ। मप्र की कमलनाथ सरकार ने प्रदेष के किसानों के लिए सरकार में आने से पूर्व किए 2 लाख रू. कर्जा माफी के वचन को पूरा किया। उसी प्रकार षिक्षकों और कर्मचारियों के लिए वचन पत्र अनुसार किए वादों को भी पूरा किया है। षिक्षकों और कर्मचारियों के वेतन, भत्ते एवं स्थायीकरण जैसी मांगों को प्रमुखता से लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पहल की है। आगामी समय में भी सरकार आप सभी की हर संभव मद्द के लिए तत्पर रहेगी। उक्त बात जिला युवक कांग्रेस अध्यक्ष डाॅ. विक्रांत भूरिया ने 25 अगस्त, रविवार को दोपहर स्थानीय बुनियादी हाईस्कूल में आयोजित मप्र कर्मचारी कांग्रेस की जिला स्तरीय बैठक में कहीं। वे बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। बैठक की अध्यक्षता कर्मचारी कांग्रेस के जिलाध्यक्ष भेरूसिंह सोलंकी ने की। वहीं विषेष अतिथि के रूप में कर्मचारी कांग्रेस के प्रांत सचिव मोहनसिंह गामड़, महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष श्रीमती शांति वसुनिया एवं वरिष्ठ कोषाध्यक्ष श्रीमती हेलन वसुनिया उपस्थित थी। सर्वप्रथम अतिथियांे द्वारा मां सरस्वतीजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलन किया गया। अतिथियों का स्वागत कर्मचारी कांग्रेस के जिला प्रवक्ता जफर खान, भरत व्यास, मीडिया प्रभारी गौरव सोलंकी, प्रचार-प्रसार मंत्री फतेसिंह सोलंकी आदि ने किया।

कमलनाथ सरकार की प्रसंषा की
बाद स्वागत भाषण एवं अपना उद्बाधन देते हुए संगठन के जिलाध्यक्ष भेरूसिंह सोलंकी ने बताया कि वाकई में मप्र की कांग्रेस सरकार ने अपने कार्यकाल में 8 महीने में हर वर्ग के लिए, जिसमें विषेषकर षिक्षकों और कर्मचारियों के हितार्थ जो कार्य किए है, उसके लिए हम सभी सरकार के आभारी है। जिसमें मुख्य रूप से अध्यापक संवर्ग के लिए, नियमित षिक्षकों के समान अध्यापकांे को वेतन, वर्ष 2016 में जो चिकित्सक निलंबित हुए थे, उन्हें बहान करने, पिछले दिनों 72 संविदाओं को बहाल करने जैसे कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए है, जो स्वागत योग्य है। विषेष अतिथि प्रांतीय सचिव मोहनसिंह गामड़ ने कहा कि वर्तमान सरकार ने 8 महीनों में कर्मचारियों और षिक्षकों को जो तोहफे दिए है, इससे सभी में खुषी का माहौल है।

डाॅ विक्रांत भूरिया का किया सम्मान
बाद मप्र कर्मचारी कांग्रेस के पदाधिकारियों द्वारा मिलकर युवा कांग्रेस नेता डाॅ. विक्रांत भूरिया का सम्मान भी किया। यह बैैठक दोपहर 12.30 से 3.30 बजे तक चली। इस अवसर पर बड़ी संख्या में संगठन के जिला पदाधिकारी-सदस्यगण उपस्थित थे। संचालन परामर्षदात्री शरत शास्त्री ने किया एवं आभार संगठन के जिला उपाध्यक्ष शैलेन्द्र डेनियल ने माना।

जिले के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक महेशचंद्र जैन वल्र्ड बुक रिकार्ड द्वारा नेशनल एक्सीलेंस अवार्ड से सम्मानित
पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में विश्व में सम्मानित हुए जैन
jhabua news
झाबुआ। विगत दिनों इंदौर के मेरियट होटल में आयोजित समारोह में विश्व की वल्र्ड बुक ऑफ रिकार्ड संस्था के अध्यक्ष दिवाकर शुक्ल की गरिमामय उपस्थिति में नेपाल की श्रीमती भवानी राणा, झाबुआ के महाराजा नरेंद्रसिंहजी तथा श्रीमती आशा माथुर द्वारा वृक्षारोपण एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए झाबुआ जिले के पूर्व पुलिस अधीक्षक रहे महेशचंद्र जैन (वर्तमान में जावरा महिला वाहिनी बल प्रमुख) को नेशनल एक्सीलेंस अवार्ड 2019 से सम्मानित किया गया है। संस्था के अध्यक्ष संतोष शुक्ल ने भारत में श्री जैन के पर्यावरण प्रेम एवं उसके संरक्षण के लिए किए गए अभिनव प्रयास के लिए उनका नाम नामांकित किया था। ज्यूरी ने मिलकर उनके नाम का चयन किया। उनके विश्व मंच पर सम्मानित होने पर राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के प्रदेश प्रभारी कीर्तिश जैन, कार्यवाहक प्रदेशाध्यक्ष पवन नाहर, प्रतिनिधि प्रदेशाध्यक्ष मनीष कुमठ, संभागीय अध्यक्ष निलेश भनपुरिया, अलीअसगर बोहरा, अरविंद राठौर, गोपाल विश्वकर्मा, गोपाल चोयल, जमनालाल चैधरी, निलेश परमार,  आयुष पटवा, सुखलाल मेहसन, संजय कोठारी, दौलत गोलानी, श्वेता जैन, रेखा भूरिया आदि ने बधाई दी है। श्री जैन ने यह सम्मान सभी पर्यावरण प्रेमी, विशेष तौर पर झाबुआ जिले के सभी सामाजिक संगठनों, पत्रकार बंधुओं व जनता के नाम करते हुए कहा कि यह मेरे माध्यम सेे झाबुआ सहित पूरे देश का सम्मान है। उनके नामित एवं सम्मानित होने पर चयन समिति को भी धन्यवाद दिया गया।

श्री केसरियानाथ जैन जिनालय का हुआ शुिद्धकरण

jhabua news
झाबुआ। परम पूज्य आचार्य नवरत्न सागर सूरीस्वरजी मसा के सुशिष्य आचार्य श्री विश्वरत्न सागर जी मसा की पावन प्रेरणा से मप्र के करीब 1200 जिनालयो के शुद्धिकरण की सामग्री प्रदेष के समस्त जैन जिनालयों में पर्यूषण महापर्व के पूर्व वितरित की जाती है। इसी क्रम में श्री केसरिया नाथ जैन जिनालय झकनावदा पर भी नवरत्न परिवार द्वारा जिनालय शुद्धिकरण की सामग्री भेंट की गई। 25 अगस्त रविवार को मंदिर व्यवस्थापक निर्मल मांडोत, कनकमल मांडोत, दिलीप मांडोत, अखिल भारतीय श्री राजेंद्र जैन नवयुवक परिषद अध्यक्ष मनीष कुमट, मितेश कुमट, दिनेश मांडोत, श्रीमती चंद्रकांता मांडोत व मंदिर के पूजारी कोदालाल ने मिलकर मूलनायक दादा श्री केसरियानाथ भगवान सहित समस्त प्रतिमाओं पर लेप लगाकर प्रतिमाओं का शुद्धिकरण किया। तत्पश्चात् समस्त उपस्थितजनों ने केसर पूजा कर दर्शन वंदन किए।

पर्यूषण सभी पर्वों में महापर्व एवं श्रेष्ठ पर्व है -ः अष्ट प्रभावक नरेन्द्र सूरीष्वरजी मसा
पर्यूषण महापर्व के प्रथम दिन सोमवार सुबह तेज बारिष के बाद भी पांचों जिनालयों में बड़ी संख्या मंे श्रावक-श्राविकाएं दर्षन-पूजन के लिए पहुंचे
झाबुआ। पर्वाधिराज पर्यूषण महापर्व के प्रथम दिन 26 अगस्त, सोमवार को शहर के पंाचों जिनालय श्री ऋषभदेव बावन जिनालय, श्री नाकोड़ा पाष्र्वनाथ मंदिर, दादावाड़ी, श्री महावीर बाग एवं श्री गोड़ी पाष्र्वनाथ मंदिर में सुबह के दौर में तेज बारिष के बाद भी बड़ी संख्या में श्रावक-श्राविकाओं ने मदिरांे में पहुंचकर भगवान के दर्षन-पूजन की। साथ ही बावन जिनालय स्थित पोषध शाला भवन में अष्टान्हिका प्रवचन में भी बड़ी संख्या में श्रावक-श्राविकाओं ने शामिल होकर पुण्य लाभ अर्जन किया। बावन बावन जिनालय में सुबह से रात तक विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम चलते रहे। यहां सभी आयोजन अष्ट प्रभावक आचार्य देवेष श्रीमद् विजय नरेन्द्र सूरीष्वरजी मसा ‘नवल’ एवं प्रन्यास प्रवर जिनेन्द्र विजयजी मसा ‘जलज’ की निश्रा में हो रहे है। 26 अगस्त सोमवार को पर्यूषण महापर्व के प्रथम दिन बावन जिनालय में सुबह 5 बजे प्रतिक्रमण, 6 बजे दादा गुरूदेव एवं आदिनाथ भगवान का पंचामृत से अभिषेक, साढ़े 6 बजे भक्तामर स्त्रोत एवं गुरू गुण इक्कीसा, 7 बजे मूलनायक आदिनाथ भगवान की केसर पूजन, साढ़े 8 बजे आरती, 9 बजे से पोषध शाला भवन में प्रवचन आरंभ हुए। सोमवार को पयूर्षण पर्व के अंतर्गत परम् पूज्य क्षमा कल्याण विजयजी मसा द्वारा रचित एवं दादा गुरूदेव श्रीमद् विजय राजेन्द्र सूरीष्वरजी मसा द्वारा अनुवादित अष्टान्हिका प्रवचन हुए। अष्टान्हिका प्रवचन व्होराने का लाभ श्रावक रत्न धर्मचन्द्र, पंकज, संजय मेहता परिवार ने लिया। बाद दिलीप संघवी परिवार द्वारा अष्टान्हिका प्रवचन की वाक्षेप पूजन की गई।

पर्यूषण अर्थात आत्मा के निकट रहना
बाद अष्ट प्रभावक नरेन्द्र सूरीष्वरजी मसा ने कहा कि अष्टमी की व्याख्यान के अंतर्गत पर्यूषण के कर्तव्यों का वर्णन आता हे। पर्यूषण अर्थात आत्मा के निकट रहना, भौतिक आचार-विचार में आत्मा रहीं हुई है, उसे स्वभाव में लाना, विभागों से दूर हटना। पवित्र के दो प्रकार के पर्व होते है, लौकिक एवं लोकोत्तर। पर्यूषण में 8 कर्मों से आत्मा को दूर करना है। स्वरूप, स्वभाव एवं स्थिति के भाव को जागृत करना है। जैसे मंत्रों में महामंत्र नवकार, तीर्थों में शत्रुंजय महातीर्थ, दान में प्राणी दया, सभी गुणों में विनय गुण, व्रतांे में ब्रम्हचर्य व्रत, नियमों में संतोष व्रत, तप में क्षमा श्रेष्ठ है, उसी प्रकार पर्यूषण सभी पर्वों में महापर्व है।

100 से अधिक श्रावक-श्राविकाओं किया पोषण व्रत
आचार्य श्रीजी ने आगे कहा कि पांच महाव्रत सबसे पहले ग्रहण करना चाहिए। जीवन में अनुमोदना करना आवष्यक हे। तत्वों में सम्यक दर्षन श्रेष्ठ है। अष्ट प्रभावक ने दूर भगा रानी एवं पुण्य शामक श्राव की सामायिक का दृष्टांत सुनाया। बावन जिनालय में दादा गुरूदेव श्रीमद् विजय राजेन्द्र सूरीष्वरजी मसा एवं प्रभु आदिनाथजी की भव्या भव्य अंगरना की गई। करीब 100 से अधिक श्रावक-श्राविकाओं ने पोषण व्रत किया। दोपहर में चैवीसी का आयोजन हुआ। शाम को प्रतिक्रमण बाद प्रभु भक्ति एवं आरती की गई। 27 अगस्त, मंगलवार को अष्टान्हिका के अंतर्गत श्रावकों के पांच कर्तव्यों का वर्णन आचार्य श्रीजी द्वारा किया जाएगा।

मेघनगर में एमपी वनमित्र साॅफ्टवेयर प्रषिक्षण सम्पन्न
    
झाबुआ । वन अधिकार अधिनियम के तहत् निरस्त एव लंबित दावो के निराकरण हेतु एमपी वनमित्र साॅफ्टवेयर विकसित किया रहा है। इस साॅफटवेयर का लाईव एवं हेन्ड्सआन प्रषिक्षण विकासखण्ड मेघनगर में आज 26 अगस्त 2019 को आयोजित किया गया। प्रषिक्षण में एसडीएम श्री पराग जैन, सीईओ मेघनगर श्री रावत सहित ब्लाक स्तरीय अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे। प्रषिक्षण में उपखण्ड स्तरीय समिति के सभी सदस्य रेंजर, डिप्टी रेंजर तथा वनरक्षक, ग्राम पंचायत के सचिव, ग्राम रोजगार सहायक एवं पटवारियो को प्रषिक्षण दिया गया। प्रषिक्षण में वनअधिकार संबंधी जानकारी दी गई।

कैरियर काउंसिलिग गेस्ट पैनल हेतु आवेदन 31 अगस्त 2019 तक आमंत्रित
    
झाबुआ । जिला रोजगार कार्यालय झाबुआ मे कैरियर काउंसिलिंग गेस्ट पैनल के गठन हेतु 31 अगस्त तक आवेदन आमंत्रित किए गये है। नामांकित काउंसलरो को निर्धारित दिवसो में काउंसिलिंग हेतु कार्यालय एवं षा.उ.मा.विद्यालयो में आमंत्रित किया जाएगा एवं आमंत्रित मनोवैज्ञानिक/विषय-विषेषज्ञ को काउंसिलिंग दिवस का मानदेय दिया जाएगा। इच्छुक आवेदक दिनाक 31 अगस्त 2019 तक अपने आवदेन जिला रोजगार कार्यालय झाबुआ में जमा कर सकते है। मनोवैज्ञानिक काउसंलर हेतु अनिवार्य योग्यता साइकोलाजी में स्नातकोत्तर डिग्री या पीजी डिप्लोमा होना चाहिए। इन्फार्मेषन काउंसलर हेतु योग्यता मार्गदर्षन के क्षेत्र में अनुभव सहित किसी भी स्ट्रीम में डिग्री/डिप्लोमा/पीजी होना चाहिए। इच्छुक आवेदक अधिक जानकारी के लिए जिला रोजगार कार्यालय से संपर्क कर सकते है।

शासकीय भवनों, अर्द्धशासकीय संस्थाओं में तस्वीरें लगाई जायेगी
    
झाबुआ । सामान्य प्रशासन विभाग के आदेशानुसार सभी शासकीय कार्यालयों एवं भवनों, शासकीय निगम मण्डलों एवं अर्द्धशासकीय संस्थाओं के कार्यालयों में महापुरूषों के साथ-साथ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र को अनिवार्य रूप से लगाये जाने के निर्देश जारी किये गये है।

जिले में 24 घण्टो मे 33.3 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज
     
झाबुआ । जिले में इस वर्ष अब तक औसतन 874.0 मि.मी. वर्षा दर्ज की गयी है। विगत 24 घण्टो मे औसत 33.3 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापक केन्द्र झाबुआ में 29.2,रामा में 7.0 मि.मी.,थांदला मे 22.2 मि.मी.,पेटलावद मे 65.4 मि.मी.,राणापुर मे 46.0 मि.मी, मेघनगर मे 30.0,मि.मी वर्षा दर्ज की गई।

लगातार बारिष को देखते हुए पुलिए एवं रपटो पर सतत् निगरानी रखे-कलेक्टर
पुलिया/रपटो पर बारिष का पानी होने पर वाहन नही निकाले
झाबुआ। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने जिले में 25 अगस्त से हो रही लगातार बारिष को देखते हुए सबंधित अधिकारियो को निर्देष दिये है, कि जिले में हो रही लगातार बारिष के कारण पुलिए एवं रपटो पर पानी बहने की स्थिति बनी हुई है। अतः ग्रामीण स्तर पर सरपंच, कोटवार, सचिव इत्यादि ग्राम स्तरीय षासकीय सेवको की ड्यूटी लगाकर सतत् निगरानी रखे एवं पुल/रपटो पर पानी होने की स्थिति में किसी भी व्यक्ति/वाहन को निकलने नही दिया जाये। ताकि बारिष के कारण होने वाली जनहानि को रोका जा सके। मानसून में बाढ/प्राकृतिक आपदा की संभावित स्थिति से निपटनें के लिए कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने जिला आपदा प्रबंधन समिति के सदस्यो को समुचित प्रबंधन के बारे में आवश्यक तैयारी करने के निर्देश दिये। कलेक्टर श्री सिपाहा ने सभी एसडीएम/तहसीलदारो को निर्देषित किया कि राहत एवं बचाव कार्य के लिए राहत शिविर लगाना पडे तो इसकी तैयारी रखे। बाढ़ प्रबंधन से संबंधित आवश्यक मानव संसाधन एवं उपकरणो की व्यवस्था रखे। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने सबंधित अधिकारियो को निर्देषित किया कि जिले मे हो रही लगातर बारिष से सडक के रपटो एवं पुलियो पर पानी बहने की स्थिती बनी हुई है। बस/वाहनो के ड्रायवरो को निर्देषित करे कि जब पुलिया/रपटो पर बारिष का पानी हो तो वाहन नही निकाले, वाहनो की स्पीड नियंत्रित रखे ताकि दुर्घटनाओ को रोका जा सकें ऐसे सभी रपटो पुलियो पर संकेतक एवं आवष्यकतानुसार ड्राप गेट लगवायें। वर्षाकाल के दौरान बाढ की स्थिति से निपटने के लिए अपने वाहन में टार्च, रस्सी, डण्डे एवं अन्य आवष्यक उपकरण साथ में हमेंषा रखे

4 लाख की आर्थिक सहायता स्वीकृत
    
झाबुआ । जिले के ग्राम छायनसेमलखेडी तहसील रानापुर मे रहने वाले राजेष पिता राकेष की सर्पदंष से मृत्यु हो जाने पर मृतक के वैध वारिस उसके पिता श्री राकेष पिता प्रताप मुजाल्दा को 4 लाख की आर्थिक सहायता राशि एसडीएम झाबुआ के द्वारा स्वीकृत की गई है। स्वीकृत राशि बैंक खाते में ई-पेमेन्ट द्वारा भुगतान की जाएगी।

गुजरात एवं राजस्थान की सीमा पर बसे चरेल गांव में पहुचकर सुनी गई समस्याएॅ
कलेक्टर सीईओ के नेतृत्व में झाबुआ जिले के अंतिम छोर पर पहुचे अधिकारी
झाबुआ । राज्य शासन की मंशा के अनुरूप जनसामान्य की समस्याओं के निराकरण करने हेतु विगत 21 अगस्त को आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के तहत कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा एवं सीईओ श्री संदीप षर्मा के नेतृत्व में सभी जिला अधिकारी झाबुआ जिले के अंतिम छोर पर गुजरात एवं राजस्थान की सीमा पर बसे चरेल गांव में आकस्मिक भ्रमण के लिए बस से पहुंचे। चरेल गांव का मार्ग पहाडी होने से बस गांव तक नही पहुच पायी अतः गांव तक अधिकारियो को अन्य छोटेे वाहनो एवं मोटर साइकिल के माध्यम से गांव तक पहुचाया गया। चरेल गांव का भ्रमण कर अधिकारियो ने हर वार्ड में चैपाल लगाकर ग्रामीणो की समस्याओं को सुना और निराकरण की कार्यवाही भी की। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा, सीईओ जिला पंचायत संदीप षर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री डाबर, एसडीएम मेघनगर श्री पराग जैन, सीईओ जनपद मेघनगर श्री रावत ने गांव का निरीक्षण कर व्यवस्थाओ का जायजा लिया। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा के निर्देषानुसार जिला अधिकारियो के वार्डवार 20 दल बनाये गये। इन दल प्रमुखो के नेतृत्व में चरेल गांव के वार्डो का आकस्मिक भ्रमण कर जिला अधिकारियो ने व्यवस्थाओ का जायजा लिया। जिला अधिकारियो ने अपने-अपने वार्ड का भ्रमण कर स्कूल, उचित मूल्य की दुकान, निर्माणाधीन कार्यो, मध्यान्ह भोजन, आंगनवाडी केन्द्र, उप स्वास्थ्य केन्द्र, स्कूल में षिक्षक एवं बच्चो की उपस्थिति, षिक्षा गुणवत्ता, उचित मूल्य की दुकान पर राषन वितरण, फिल्ड में फसलो पर कीट प्रकोप किसानो के लिए खाद-बीज की उपलब्धता इत्यादि का निरीक्षण कर ग्रामीणो से समस्या एवं मांग संबंधी आवेदन प्राप्त किये। भ्रमण के दौरान कलेक्टर श्री सिपाहा ने किसानो से खेती संबंधी चर्चा भी की उन्होने किसानो से इंटर का्रॅपिग, फसल ऋण माफी, खाद-बीज,कीट नियंत्रण इत्यादि के बारे में चर्चा कर षासन की योजनाओ की जानकारी दी।

प्रॉपर्टी खरीदते समय देखें बिजली बिल
   
झाबुआ । मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने जिले के भवन, दुकान और अन्य अचल संपत्ति खरीदने वाले नागरिकों से अपील की है कि वे संपत्ति की खरीदी करने से पहले ही यह देख लें कि पूर्व स्वामी द्वारा बेची जा रही संपत्ति पर बिजली बिल बकाया तो नहीं है। कंपनी ऐसे मामलों में क्रेता और विक्रेता दोनों से ही बिल वसूली के लिए अधिकृत है। कंपनी ने बताया कि विभिन्न श्रेणियों के बकायादारों से बिल वसूली का काम तेजी से किया जा रहा है। कंपनी की जानकारी में आया है कि जिस प्रॉपर्टी पर बिजली बकाया था और उसे बिना किसी जानकारी के दूसरे उपभोक्ता को बेच दिया जाता है, तो खरीददार बिजली की बकाया राशि को लेकर परेशान होते हैं। ऐसे में अब प्रॉपर्टी बेचने वाले के साथ खरीदने वाले संपत्ति स्वामी भी कार्रवाई के दायरे में आएंगे। भू-राजस्व संहिता में प्रावधान के मुताबिक बकाया एरियर की वसूली के लिए संपत्ति कुर्क करने का प्रावधान है। मध्यप्रदेश भू-राजस्व संहिता की धारा 146 एवं 147 के तहत संपत्ति को कुर्क करने की कार्रवाई की जाती है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में हटाये गये संविदाकर्मियों को वापस लेंगेः-मंत्री श्री सिलावट
संविदा कर्मियों को 16 नवम्बर तक मिशन संचालक को आवेदन करना होगा
झाबुआ । लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने कहा है कि वर्ष 2016-17 में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में हटाये गये संविदाकर्मियों को पुनः संविदा सेवा में लिया जायेगा। उन्होंने बताया कि मिशन संचालक द्वारा इस बारे में सूचना जारी कर दी गई है। हटाए गए संविदा कर्मियों को 16 नवम्बर तक मिशन संचालक को आवेदन करना होगा। नियत तिथि के बाद प्राप्त होने वाले आवेदनों पर विचार नहीं किया जाएगा।

दुग्ध अ©र अन्य खाद्य पदाथर्¨ं के 543 नमून¨ं की जाँच रिप¨र्ट जारी
      
झाबुआ । प्रदेश में मिलावटी खाद्य पदार्थ निर्माताअ¨ं अ©र विक्रेताअ¨ं के विरूद्ध शुद्ध के लिये युद्ध अभियान में अब तक दूध एवं दुग्ध-उत्पाद सहित अन्य खाद्य पदाथर्¨ं के 3444 नमूने लिये गये हैं। शीघ्र जाँच कार्य कराने के लिये 378 नमूने भारतीय खाद्य संरक्षण मानक प्राधिकरण से अधिसूचित प्रय¨गशालाअ¨ं में भेजे गये हैं। राज्य खाद्य प्रय¨गशाला द्वारा अब तक 543 नमून¨ं की जाँच पूरी कर रिप¨र्ट जारी की गई है। इनमें 194 नमूने अवमानक, 21 मिथ्या छाप, 12 असुरक्षित, 19 अपद्रव्य, 2 प्रतिबंधित अ©र 295 नमूने मानक पाये गये हैं। आयुक्त खाद्य सुरक्षा अ©र नियंत्रक खाद्य-अ©षधि प्रशासन के निर्देशन में मिलावटख¨र¨ं के विरुद्ध कार्यवाही में प्रदेशभर से एकत्रित खाद्य पदाथर्¨ं के नमून¨ं की जाँच क¨ तेजी से पूरा किया जा रहा है। जाँच के आधार पर मिलावटख¨र¨ं के खिलाफ कार्यवाही भी जारी है।

कोटवार जाति पिछडा वर्ग सूची से विलोपित
       
झाबुआ । राज्य शासन ने कोटवार जाति को पिछडा वर्ग की सूची से विलोपित कर दिया है। पिछडा वर्ग की सूची में कोटवार जाति सरल क्रमांक-57 पर दर्ज थी। पिछडा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण विभाग ने इस बारे में आदेश जारी कर दिया है।

मतदाता सूचियों में नाम जोड़ने, विलोपित तथा संषोधन कराने की अंतिम तिथि 30 अगस्त तक

झाबुआ । नगर पालिका निर्वाचन हेतु मतदाता सूचियों में नाम जोड़ने, नाम विलोपित करने तथा किसी नाम में संषोधन का कार्य 30 अगस्त 2019 तक नगर के वार्डाें के विभिन्न मतदान केन्द्रों पर प्राधिकृत अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है। नगवासियों से अपील की गई है कि मतदान केन्द्रों पर मतदाता सूचियों का अवलोकन कर अपने तथा अपने पात्र परिजनों के नामों की प्रविष्ठियों का अवलोकन कर लें। यदि 18 वर्ष से अधिक आयु के किसी सदस्य का नाम सूची में दर्ज नहीं हो तो नाम जोड़ने/मृत व्यक्ति के नाम हटाने आदि के सभी प्रकार के आवेदन प्राधिकृत अधिकारियों के पास उपलब्ध हैं।

मलेरिया, डेंगू व चिकुनगुनिया से बचाव के लिए एडवाइजरी जारी
    
झाबुआ । स्वास्थ्य विभाग द्वारा बारिश के दौरान मलेरिया, डेंगू एवं चिकुनगुनिया से बचाव के लिए एडवाइजरी जारी की गई है। एडवाइजरी में कहा गया है कि बारिश के मौसम में अपने आसपास नियमित साफ-सफाई करें। वर्षा के जल को एक जगह एकत्रित न होने दें। वर्षाकाल में जगह-जगह एकत्रित पानी में मच्छरों की उत्पत्ति व वृद्धि होती है। ये मच्छर, रोगी व्यक्ति को काटने पर संक्रमित हो जाते है व इन संक्रमित मच्छर के काटने से मलेरिया, डेंगू, चिकुनगुनिया, रोग होता है। इन बीमारियों से ग्रसित रोगी को बुखार सिरदर्द, बदन दर्द, उल्टी आना, ठंड लगना जैसे लक्षण होते हैं जिनका त्वरित उपचार आवश्यक है।

5वीं और 8वीं के मुख्य विषयों के प्रश्न पत्र डाईट स्तर से तैयार होंगे
    
झाबुआ । राज्य शिक्षा केंद्र की संचालक ने सभी जिला शिक्षा अधिकारी, जिला परियोजना समन्वयक एवं सभी सहायक आयुक्तों को पत्र लिखकर कहा है कि कक्षा 5वीं एवं 8वीं के मुख्य विषयों के लिए गुणवत्तायुक्त प्रश्न पत्र डाईट स्तर से तैयार कराकर शालाओं को उपलब्ध कराएं। कक्षा 5वीं एवं 8वीं तक मुख्य विषयों (हिंदी विशिष्ट, अंग्रेजी सामान्य, संस्कृत, गणित, पर्यावरण अध्ययन, विज्ञान एवं सामाजिक विज्ञान) के प्रश्नपत्र एक सेट के विषय विशेषज्ञों द्वारा डाईट स्तर पर प्रतिमाह प्रथम सप्ताह में तैयार करवाकर इनका क्रॉस मॉडरेशन कराया जाए।

वन मित्र सॉफ्टवेयर करेगा वन अधिकार अधिनियम में निरस्त दावों के पुनः परीक्षण
   
झाबुआ । प्रदेश में आदिम-जाति कल्याण विभाग ने वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत निरस्त दावों के पुनः प्रषिक्षण के लिये वन मित्र सॉफ्टवेयर विकसित किया है। सॉफ्टवेयर द्वारा प्रषिक्षण से दावों के निराकरण में त्वरित गति आयेगी। साथ ही, दावों के निराकरण में पारदर्शिता भी रहेगी। विभाग ने 3 लाख 60 हजार दावों के पुनः प्रषिक्षण का कार्य शुरू किया है। इसके लिये अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रदेश में अधिनियम के अंतर्गत अब तक 2 लाख 27 हजार 185 वन निवासियों को व्यक्तिगत एवं 27 हजार 967 सामुदायिक वन अधिकार-पत्र वितरित किये गये हैं।

नेशनल लोक अदालत 14 सितम्बर को
    
झाबुआ । प्रदेश में आगामी नेशनल लोक अदालत का आयोजन शनिवार 14 सितम्बर को किया जाएगा। इसमें दीवानी एवं आपराधिक शमनीय मामलों सहित सभी प्रकार के मामले रखे जाएंगे, जिनमें पक्षकारगण सौहार्द्रपूर्ण वातावरण में आपसी सुलह एवं सहमति से प्रकरणों का निराकरण कराने हेतु प्रयास कर सकेंगे। नेशनल लोक अदालत उच्च न्यायालय से लेकर जिला न्यायालयों और तालुका न्यायालयों, श्रम न्यायालयों, कुटुम्ब न्यायालयों में आयोजित की जाएगी। इस नेशनल लोक अदालत हेतु राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा केटेगिरीवाइज चिन्हित किए गए विभिन्न न्यायालयों में रखे जाने वाले लंबित एवं प्रीलिटिगेशन प्रकरणों में न्यायालयों में रखे जाने वाले लम्बित प्रकरणों में आपराधिक शमनीय प्रकरण, पराक्राम्य अधिनियम की धारा 138 अन्तर्गत प्रकरण, बैंक रिकवरी संबंधी मामले शामिल हैं। इसके अलावा एम.ए.सी.टी. प्रकरण (मोटर दुर्घटना क्षतिपूर्ति दावा प्रकरण), श्रम विवाद प्रकरण, विद्युत एवं जल कर व बिजली बिल संबंधी (सिर्फ शमनीय प्रकरण), वैवाहिक प्रकरण, भूमि अधिग्रहण के प्रकरण, सेवा मामले जो सेवा निवृत्त संबंधी लाभों से संबंधित हैं, राजस्व प्रकरण (सिर्फ जिला व उच्च न्यायालयों में लंबित), दीवानी इत्यादि मामले महत्वपूर्ण है।

प्रदेश की कृषि-सखियों ने पंजाब के किसानों को सिखाए जैविक-खेती के गुर
      
झाबुआ । मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के स्व-सहायतों समूहों में प्रशिक्षित महिलाएँ पंजाब सहित अन्य राज्यों के किसानों को भी जैविक खेती के गुर सिखा रही हैं। मिशन द्वारा स्व-सहायता समूहों की 5 हजार महिलाओं को जैविक खेती और पशु-पालन की नवीन तकनीकी सिखाई गई है।इन्हें समूह में सामुदायिक स्त्रोत व्यक्ति के रूप में चिन्हित किया गया है। आम बोल-चाल की भाषा में इन्हें कृषि-सखी कहा जाता है। पिछले जुलाई-अगस्त माह में 20 कृषि-सखियों ने पंजाब के 4 जिलों में किसानों को प्रशिक्षण दिया। उन्होंने भू-नाडेप, वर्मीपिट, मिट्टी परीक्षण, बीज चयन, बीज श्रेणीकरण, फसल चक्र आदि के बारे में समझाया। परम्परागत सामग्री और तकनीकों के विषय में भी वहाँ के किसानों को बताया।कृषि सखियों ने किसानों को उनके गाँव में रहकर कृषि-प्रयोग भी करके दिखाए। सीधी जिले की कृषि सखी लक्ष्मी ताम्रकार, विमलेश यादव, ललिता साहू, पूजा रजक एवं रीवा जिले की निर्मला दुबे ने पंजाब के गुरदासपुर जिले का भ्रमण किया। अनूपपुर जिले की चंपा सिंह, राधा सिंह, यशोदा धनवार, इंद्रवती और शहडोल जिले की ज्ञानवती यादव ने फिरोजपुर जिले का, पन्ना जिले की तुलसी विश्वास, ऋतु अहिरवार, शिवपुरी जिले से ऊषा परिहार, सरोज कुशवाह और शहडोल जिले की रेखा पटेल ने पटियाला जिले का तथा शहडोल जिले की रूही बेगम, ललिता पनिका, माया पटेल, पुष्पा कचेर, गीता केवट ने संगरूर जिले के किसानों को जैविक खेती पद्धति से परिचित कराया।

भारत सरकार ने सराहा
ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार ने मध्यप्रदेश आजीविका मिशन की कृषि-सखियों के कार्य की सराहना की है। संयुक्त सचिव सुश्री लीना जौहरी ने समूहों के सदस्यों से नई दिल्ली में मुलाकात की। इससे पहले कृषि-सखियाँ हरियाणा और उत्तरप्रदेश का भ्रमण कर चुकी हैं।

सेवानिवृत्त आई.ए.एस. के लिए पेंशन अदालत 29 अगस्त क¨
      
झाबुआ । सेवानिवृत्त भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारिय¨ं के पेंशन प्रकरण¨ं के संबंध में 29 अगस्त क¨ पेंशन अदालत का आय¨जन किया जा रहा है। प्रमुख सचिव सामान्य प्रशासन   श्रीमती दीप्ति ग©ड़ मुखर्जी ने बताया कि वल्लभ भवन क्रमाँक एक के कक्ष क्रमाँक 315 में प्रातरू 11.00 बजे से द¨पहर 03.00 बजे तक पेंशन अदालत जारी रहेगी। भारतीय प्रशासनिक सेवा के ऐसे सेवानिवृत्त अधिकारी, जिन्हें अपने पेंशन प्रकरण के संबंध में किसी प्रकार की कठिनाई ह¨, वे स्वयं अथवा अपने प्रतिनिधि के माध्यम से अपनी समस्या का निराकरण करा सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...