‘पैगाम ए अमन’ बस सेवा फिर हुई शुरू - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 26 अगस्त 2019

‘पैगाम ए अमन’ बस सेवा फिर हुई शुरू

paigam-e-aman-bus-starts
जम्मू, 26 अगस्त, ‘पैगाम ए अमन’ बस सेवा एक सप्ताह तक निलंबित रहने के बाद सोमवार से फिर शुरू हो गई। इसके साथ ही फंसे हुए 46 यात्री अपने घरों के लिए रवाना हो गए। इनमें 40 लोग पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से थे। यह बस सेवा जम्मू कश्मीर के पुंछ और पीओके स्थित रावलकोट के बीच चलती है। अधिकारियों ने बताया कि यह साप्ताहिक बस सेवा 19 अगस्त को तब रद्द कर दी गई थी जब पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के अधिकारियों ने बस को नियंत्रण रेखा के पार जाने देने की भारतीय अधिकारियों की मांग पर कोई जवाब नहीं दिया। पुंछ जिला विकास आयुक्त राहुल यादव ने कहा, ‘‘बस सेवा शुरू हो गई और पीओके निवासी 40 यात्री तथा छह भारतीय लोग अपने-अपने घरों को रवाना हो गए।’’  उन्होंने कहा कि बकरीद से एक सप्ताह पहले अपने रिश्तेदारों से मिलने जम्मू कश्मीर के पुंछ पहुंचे दो अन्य पीओके निवासियों का परमिट खत्म होने वाला है। इसके साथ ही दोनों तरफ से कोई नया यात्री नहीं है। हर सोमवार को चलने वाली यह बस सेवा पाकिस्तान की ओर से बार-बार किए जाने वाले संघर्षविराम उल्लंघन से उत्पन्न तनाव के बीच भी नहीं रुकी, लेकिन पिछले सोमवार (19 अगस्त) को यह तब निलंबित कर दी गई थी जब बस को नियंत्रण रेखा के पार जाने देने के भारतीय अधिकारियों के संदेश का पीओके से संबंधित अधिकारियों ने कोई जवाब नहीं दिया। जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के संबंधित प्रावधानों को खत्म करने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने के केंद्र के फैसले के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...