विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 22 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 22 अगस्त 2019

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 22 अगस्त

सीएम हेल्प लाइन की मॉनिटरिंग एसडीएम करें-कलेक्टर
राजस्व अधिकारियों के कार्यो की समीक्षा बैठक
vidisha news
सीएम हेल्पलाइन के तहत दर्ज किए जाने वाले आवेदनों की मॉनिटरिंग अब स्वंय एसडीएम अपने स्तर पर करें के निर्देश कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने राजस्व कार्यो की समीक्षा बैठक में दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि जिले में पांच सौ से अधिक पटवारी पदस्थ है यदि हरेक पटवारी एक-एक आवेदन का निराकरण हर एक दिन करते है तो जिले में निराकरण की एवं संतुष्टि के प्रतिशत में काफी वृद्वि परलिक्षित होने लगेगी। उन्होंने कहा कि राजस्व संबंधी मामलों के कुल 577 आवेदन सीएम हेल्प लाइन के लंबित है जिनका निराकरण एक दिन में किया जाना संभव है। अतः सभी एसडीएम अपने-अपने स्तर पर निराकरण की कार्यवाही में तेजी लाएं।  कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि प्राकृतिक आपदा संबंधी एक भी प्रकरण लंबित ना रहें का विशेष ध्यान राजस्व अधिकारी दें। उन्होंने कहा कि बारिश के दौरान हुई क्षति का आंकलन शीघ्र कर आरबीसी के प्रावधानों के तहत सहायता राशि पीड़ितों को शीघ्र मिले की कार्यवाही क्रियान्वित करें।  कलेक्टर श्री सिंह ने समस्त अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए है कि अपने-अपने कार्य क्षेत्रों में क्रियान्वित योजनाओं, कार्यक्रमों के अलावा निर्माण कार्यो की सतत मानिटरिंग एवं समीक्षा बैठके आहूत कर स्वंय अपडेट रहते हुए कार्यो का सम्पादन करें।  कलेक्टर ने स्कूल शिक्षा, मध्यान्ह भोजन, आंगनबाडी केन्द्र, अस्पताल की क्रास मानिटरिंग व्यवस्था क्रियान्वित करें। उन्होंने बारिश के कारण सड़कों में हुए गडढों को भरने का कार्य संबंधित विभाग के माध्यम से शीघ्रयथाशीघ्र कराया जाए इसके लिए अनुविभाग स्तर पर बैठक आहूत कर निर्माण ऐजेन्सियों को निर्देशित करने के भी निर्देश उनके द्वारा दिए गए है। कलेक्टर श्री सिंह ने समस्त राजस्व अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा कि कार्य क्षेत्रों का अधिक से अधिक भ्रमण कर आमजनों से योजनाओेंं के क्रियान्वयन का फीडबैक स्वंय लें और जहां कही कमियां नजर आती है तो उसमें अविलम्ब सुधार की कार्यवाही संबंधित विभागों के माध्यम से संपादित कराएं।  कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि अनुविभागीय कार्यालयों में निरीक्षण के दौरान ज्ञात हुआ है कि अधीनस्थ लिपिक अमला गंभीरता के साथ अपने कार्यो का सम्पादन नही कर रहे है अनावश्यक रूप से आवेदनों के निराकरण प्रक्रिया को लंबित रखते है। उन्होंने अनुविभाग स्तर पर कसावट लाने के निर्देश देते हुए कहा कि खण्ड स्तरीय अमले की साप्ताहिक बैठक आहूत कर शासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा करें।  कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में सम्पन्न हुई उक्त बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने सभी राजस्व अधिकारियों को ट्रस्टी समितियों की कार्यप्रणाली के लिए अधिनियमों के तहत किए गए प्रावधानों की धारावार जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोई भी ट्रस्ट एक हजार रूपए खर्च करने से पहले संबंधित क्षेत्र के एसडीएम से बकायदा लिखित अनुमति प्राप्त करनी होगी। उन्होंने ट्रस्ट समितियों के लेखा का रख-रखाव, आडिट, के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी।  राजस्व अधिकारियों की उक्त बैठक में सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों के निराकरण हेतु जिला स्तर पर तैयार किया गया एसओपी के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई। उक्त बैठक में नामांतरण, आविवादित नामांतरण, सीमांकन प्रकरण, विवादित बंटवारा, अतिक्रमण के अलावा अधीनस्थ न्यायालयों में लंबित प्रकरणों के साथ-साथ आवासीय पट्टे, पटवारी बस्तों का नियमित निरीक्षण, डायवर्सन, नजूल, अर्थदण्ड एवं अन्य वसूलियां, भू-अर्जन, ग्राम चौपाल, अवैध उत्खनन, पीएम किसान योजना, गौ-शाला के संबंध में अब तक की गई कार्यवाही की विस्तृत जानकारी राजस्व अधिकारियों द्वारा प्रस्तुत की गई। उक्त बैठक मेंं डिप्टी कलेक्टर द्वय श्री बृजबिहारी श्रीवास्तव, बृजेन्द्र सिंह यादव के अलावा समस्त एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार एवं कार्यालयीन स्टाफ मौजूद था।

शैक्षणिक संस्थाओं का औचक निरीक्षण

vidisha news
जिला पंचायत उपाध्यक्ष एवं शिक्षा स्थायी समिति की सभापति श्रीमती गुड्डीबाई लालाराम चौधरी ने गत दिवस ग्राम पौआनाला, धमनोदा, पीपलखेडाखुर्द एवं कोठीचार की शैक्षणिक संस्थाओं में पहुंचकर विद्यार्थियों को मुहैया कराई जा रही सुविधाओं का जायजा लिया। वही स्कूल शिक्षा के उन्नयन हेतु संचालित योजनाओं के तहत सम्पादित किए जा रहे कार्यो का मौके पर अवलोकन किया गया।  जिपं उपाध्यक्ष श्रीमती चौधरी ने शैक्षणिक संस्थाओं में पहुंचकर छात्र-छात्राओं से संवाद कर मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम की जानकारी लेते हुए शैक्षणिक गतिविधियों के सुधार हेतु किए जा रहे कार्यो की जानकारी प्राप्त की है।  जिपं उपाध्यक्ष श्रीमती चौधरी को ग्राम पौआनाला की शैक्षणिक संस्था में एक शिक्षक एवं 116 विद्यार्थी उपस्थित मिलें। विद्यार्थियों के अनुपातिक अनुसार शिक्षकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराने हेतु उनके द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी से पत्राचार किया गया है। इसी प्रकार ग्राम धामनोदा में अतिरिक्त कक्ष पिछले पांच वर्षो से अपूर्ण है। उक्त भवन को शीघ्र पूर्ण कराने एवं ग्राम पीपलखेडाखुर्द में स्कूल तक पहुंचमार्ग बनवाए जाने का प्रस्ताव तथा कोठीचारकलां में स्कूल के ग्राउण्ड पर हुए अतिक्रमण को हटाने हेतु जिपं उपाध्यक्ष द्वारा संबंधितों से पत्राचार किया गया है।

कार्यालयों में ई-आफिस प्रणाली का क्रियान्वयन

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जिले के सभी शासकीय कार्यालयों के जिलाधिकारियों को पत्र प्रेषित कर उन्हें शत प्रतिशत ई-आफिस कार्यप्रणाली का क्रियान्वयन करने के निर्देश प्रसारित किए है।  ततसंबंध में सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा दिशा निर्देश पूर्व में ही जारी किए गए है के अनुसार प्रत्येक कार्यालय में पदस्थ अधिकारी, कर्मचारियों के ईमेल एकाउंट एनआईसी के सर्वर पर बनवाए जाने हेतु सभी अधिकारी, कर्मचारियों के व्यक्तिगत, पृथक-पृथक निर्धारित प्रारूप में जानकारी भरकर अपने नोडल अधिकारी को प्रेषित करने के निर्देश अपर कलेक्टर द्वारा दिए गए है।  अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने बताया कि कार्यालयों में ई-आफिस प्रणाली लागू कराने में किसी भी प्रकार की दिक्कते आ रही है तो जिला मुख्यालय पर एनआईसी के डीआईओ से सम्पर्क कर प्राप्त कर सकते है। इसके अलावा बेवसाइट https://vidisha.nic.in  पर भी जानकारी उपलब्ध है।

विदिशा जिले में 882.6 मिमी वर्षा दर्ज

विदिशा जिले में इस वर्ष अब तक 882.6 मिमी वर्षा दर्ज की जा चुकी है। गतवर्ष उक्त अवधि में 661.9 मिमी वर्षा हुई थी। गुरूवार 22 अगस्त को 10.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है। जिले की तहसीलों में स्थापित वर्षामापी यंत्रों पर दर्ज की गई वर्षा की तदानुसार विदिशा में आठ मिमी, बासौदा में 8.2 मिमी, कुरवाई में 13.2 मिमी, लटेरी में 27 मिमी, ग्यारसपुर में पांच मिमी, गुलाबगंज में सात मिमी, नटेरन में 17 मिमी वर्षा दर्ज की गई है जबकि सिरोंज तहसील में वर्षा नगण्य रही।

आर्थिक मदद जारी

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना के एक प्रकरण में चार लाख चार हजार रूपए की आर्थिक मदद के आदेश जारी कर दिए है।  जारी आदेश में उल्लेख है कि कृषि कार्य करते समय ग्राम थान्नेर में माखन सिंह कुशवाह उम्र 15 वर्ष की मृत्यु करंट लगने से हो जाने के कारण मृतक के पिता मूलचंद कुशवाह को चार लाख चार हजार रूपए की आर्थिक सहायता अनुदान राशि स्वीकृत की गई है जिसमें चार हजार रूपए अन्त्येष्टि अनुदान भी शामिल है। 

स्वच्छ सर्वेक्षण का सर्वे 15 सितम्बर तक

स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2019 के संबंध में स्वच्छ भारत मिशन के द्वारा दिशा निर्देश जारी किए गए है। जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल ने बताया कि जिले में 14 अगस्त से 15 सितम्बर तक स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2019 का सर्वे हो रहा है। इसके अंतर्गत जिले की चुनिंदा ग्राम पंचायतों में भारत सरकार द्वारा नियुक्त संस्था इंस्पांस रिसार्च प्रायवेट लिमिटेड के द्वारा सर्वेक्षण कार्य प्रारंभ किया गया है।  गतवर्ष की स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2018 में राज्य के कई जिलो ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया था इस वर्ष भी सर्वेक्षण में उत्कृष्ट प्रदर्शन हेतु मूल्याकंन विधि के अनुसार निम्नलिखित गतिविधियां किये जाना आवश्यक है। सर्वेक्षण में कुल सौ अंको के मूल्यांकन में घटक एवं उनका अनुपातिक मान निम्नलिखित होगा। आमजनता का अभिमत इसके लिए कुल 35 प्रतिशत अनुपात, स्वच्छता लक्ष्यों, सेवाओं में प्रगति में 35 प्रतिशत, सर्वेक्षण दल द्वारा सीधा अवलोकन हेतु 30 प्रतिशत अनुपातिक मान होगा। ततसंबंध में अन्य विस्तृत जानकारी के लिए संस्था द्वारा नियुक्त राज्य प्रतिनिधि श्री सुजीत सिंह के मोबाइल नम्बर 9981533285 से सम्पर्क एवं समन्वय किया जा सकता है। 

28 अगस्त से शुरू होंगे 313 ऑगनवाड़ी ‘‘बाल शिक्षा केन्द्र’’

प्रदेश में प्रत्येक विकास खण्ड के एक ऑगनवाड़ी केन्द्र को बाल शिक्षा केन्द्र के रूप में विकसित किया जाएगा। प्रथम चरण में 28 अगस्त को चयनित 313 ऑगनवाड़ी केन्द्रों में बाल शिक्षा केन्द्र शुरू किया जा रहा है।  आयुक्त महिला-बाल विकास श्री एमबी ओझा ने कहा है कि प्रदेश में बाल शिक्षा केन्द्रों का शुभारंभ 15 अगस्त के स्थान पर 28 अगस्त को किया जाएगा। इस संबंध में रेगुलेटरी दिशा-निर्देश तैयार किये जा रहे है। बाल शिक्षा केन्द्रों के माध्यम से प्रदेश में शासकीय एवं निजी क्षेत्रों में 6 वर्ष की उम्र तक के बच्चों के समुचित विकास के लिये प्री-प्रायमरी संस्थाओं का नियमन, निगरानी एवं मूल्यांकन संभव होगा। प्रदेश स्तर पर भी शाला पूर्व शिक्षा नीति तथा नियामक दिशा-निर्देश बनाये जा रहे हैं।  ऑगनवाड़ी केन्द्रों में आने वाले 3 से 6 वर्ष तक के बच्चों के लिये 19 विषयों का माहवार पाठ्यक्रम निर्धारित किया गया है। सत्र में स्वयं की पहचान, मेरा घर, व्यक्तिगत साफ-सफाई, रंगों और आकृति, तापमान एवं पर्यावरण, पशु-पक्षी, यातायात के साधन और सुरक्षा के नियम, हमारे मददगार मौसम और बच्चों का आत्म-विश्वास तथा हमारे त्यौहार शामिल हैं। बाल शिक्षा केन्द्र में 3 से 6 वर्ष तक के बच्चों के लिये आयु समूह के अनुसार 3 एक्टीविटी वर्कबुक तैयार की गई है। बच्चों के विकास की निगरानी के लिये शिशु विकास कार्ड बनाये गये हैं।

सामाजिक अंकेक्षण कार्य हेतु विदिशा पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में चयनित 

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा विदिशा जिले को सामाजिक अंकेक्षण कार्य हेतु पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में चयनित किया गया है कि जानकारी देते हुए जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल ने बताया कि सामाजिक अंकेक्षण के लिए व्हीएसए के चिन्हांकन हेतु लिखित परीक्षा उपरांत प्रतिभागियों के समूह, चर्चा, मोबाइल, प्रेक्टिकल एवं साक्षात्कार हेतु समिति का गठन किया गया है। प्रतिभागियों के समूह चर्चा उपरांत गठित समिति के निर्देशन में मोबाइल प्रेक्टिकल टेस्ट कराए जाने हेतु अधिकारियों, कर्मचारियों को दायित्व सौंपे गए है। 28 अगस्त तक जिले के सभी सातों जनपदों के पंचायत सभाकक्षो में जनपदवार मोबाइल प्रेक्टिकल टेस्ट कराया जाएगा इसके लिए अधिकारी, कर्मचारियों को दायित्व सौंपे गए है। 

स्थानांतरित लोकसेवकों को भारमुक्त के आदेश

लोक शिक्षण संचालनालय के द्वारा आदेश जारी किया गया है कि स्कूल शिक्षा विभाग के स्थानांतरण नीति 2019-20 के अंतर्गत जारी आदेश के पालन तहत स्थानांतरित लोकसेवकों को भारमुक्त एवं कार्यभार ग्रहण कराए जाने हेतु निर्देश प्रसारित किए गए है।  जिला शिक्षा अधिकारी श्री एसपी त्रिपाठी ने बताया कि कार्यवाही एजुकेशन पोर्टल के (eROMS) एवं कार्यभार ग्रहण करने की कार्यवाही एम्प्लाई ज्वायनिंग मैनेजमेंट सिस्टम के माध्यम से ही संकुल प्राचार्यो द्वारा की जाएगी। जिसके मानिटरिंग प्रतिदिन जिला स्तर पर डीईओ कार्यालय द्वारा की जाएगी।  संकुल प्राचार्यो को यदि लोकसेवकों को किन्ही कारणों से भारमुक्त एवं कार्यभार ग्रहण करने में कोई कठिनाई, समस्या है तो तत्काल जिला कार्यालय को सूचित करने के निर्देश दिए गए है। 

हिट एण्ड रन के प्रकरण में मदद जारी

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने हिट एण्ड रन के एक प्रकरण में 15 हजार रूपए की मदद के आदेश जारी कर दिए है।  जारी आदेश में उल्लेख है कि विदिशा तहसील के ग्राम हिनोतिया निवासी श्री केशरी मालवीय की मृत्यु सड़क दुर्घटना में हो जाने से मृतक की पत्नी श्रीमती गुड्डीबाई को 15 हजार रूपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है।

शहर को स्वच्छ और सुलभ तरीके से जल की आपूर्ति हो:- शशांक भार्गव 

विदिशा - शहर विदिशा में पेयजल समस्या के हल को लेकर स्थानीय तकनीकी संस्था एस.ए.टी.आई में एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन विधायक शशांक भार्गव द्वारा किया गया, जिसमें कार्यपालन यंत्री पी.एच.ई. एवं कार्यपालन यंत्री जल संसाधन एवं सीएमओ नगर पालिका विदिशा अपनी समस्त तकनीकी टीम के साथ एवं विशेष तकनीकी सलाहकार को भोपाल से विधायक द्वारा उक्त बैठक हेतु विशेष रुप से बुलाया गया, जिसमें संचालक एस.ए.टी.आई. अपनी तकनीकी टीम एवं तकनीकी विद्यार्थियों सहित अपनी उपस्थिति दर्ज कराई, जिसमें संपूर्ण शहर विदिशा को सुगमता से दोनों समय जल प्रदाय कैसे किया, इस विचार को सभी उपस्थित जन द्वारा विचार व्यक्त किये, विधायक शशांक भार्गव ने हलाली परियोजना से पाईप लाईन द्वारा विदिशा शहर की समस्त पेयजल आपूर्ति किए जाने पर तकनीकी गणों से अपने विचार रखने का आग्रह करते हुए बताया कि यदि हलाली डैम विदिशा शहर को पाईप लाईन के माध्यम से पानी की आपूर्ति की जाती है, तो पानी का अपव्यय बचने के साथ साथ तहसील विदिशा के कृषकगणों को 5000 हेक्टेयर भूमि को प्रतिवर्ष सिंचित करने हेतू अतिरिक्त जल अपव्यय हो जावेगा, इससे एक और शहर के साथ साथ ग्रामीण कृषकगणों को भी लाभ होगा, बैठक योजना की लागत योजना की समय सीमा में पूर्ण करने सहित तकनीकी बिंदुओं पर उपस्थित अधिकारीगणो ने बात रखी एवं तय किया गया कि आगामी सप्ताह में प्राक्कलन, योजना की लागत, टंकियों के भराव, पाईप लाईन बिछाना बदलना इत्यादि बिंदुओं पर चर्चा की  जाएगी, बैठक में विधायक सहित मनोज कपूर, रईस अहमद, प्रदीप गुप्ता, नरेंद्र रघुवंशी, महेंद्र यादव, डालचंद अहिरवार विशेष रूप से उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...