सीबीआई ने मुम्बई की जेल में इंद्राणी मुखर्जी से की पूछताछ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 11 सितंबर 2019

सीबीआई ने मुम्बई की जेल में इंद्राणी मुखर्जी से की पूछताछ

cbi-talk-to-indrani-mukherjee
नयी दिल्ली, 10 सितम्बर, सीबीआई अधिकारियों की एक टीम ने आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में इंद्राणी मुखर्जी से जेल में पूछताछ की। इसी मामले में पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री पी चिदंबरम को गिरफ्तार किया गया है। इंद्राणी अपनी बेटी की कथित रूप से हत्या के करने के लिए जेल में बंद है। यह जानकारी मंगलवार को सूत्रों ने दी।  सूत्रों ने बताया कि इंद्राणी से यह पूछताछ बायकुला जेल में लगभग एक घंटे चली।  उन्होंने बताया कि एजेंसी को कंपनी द्वारा किए गए कुछ विदेशी लेनदेन के बारे में इंद्राणी से कुछ स्पष्टीकरण चाहिए था। एजेंसी ने आईएनएक्स समूह की कंपनियों के वित्तीय लेनदेन के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए पांच देशों को ‘अनुरोधपत्र’ भेजे थे। उन्होंने बताया कि एजेंसी ने सोमवार को मुंबई की एक विशेष अदालत को बताया था कि जिन देशों को अनुरोधपत्र भेजे गए थे, उनमें से एक ने स्पष्टीकरण मांगा है जिसके लिए सीबीआई इंद्राणी से पूछताछ करना चाहती है।  इंद्राणी का नाम सीबीआई के आरोपपत्र में था। इंद्राणी पर आरोप है कि उसने अपने दूसरे पति और ड्राइवर के साथ मिलकर अपनी बेटी शीना बोरा की कथित रूप से हत्या के लिए साजिश रची। इंद्राणी आईएनएक्स मीडिया मामले में सरकारी गवाह बन गई है जिसमें एजेंसी ने हाल ही में चिदंबरम को गिरफ्तार किया है। आईएनएक्स मीडिया ने 2007 में निवेश के लिए विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड की मंजूरी मांगी थी। आईएनएक्स मीडिया को इंद्राणी और उसके पति पीटर मुखर्जी ने प्रवर्तित किया था।  आरोप है कि तत्कालीन वित्तमंत्री चिदंबरम और मंत्रालय के अधिकारियों द्वारा कंपनी में 305 करोड़ रुपये के निवेश की अनुमति देने के लिए नियमों का उल्लंघन किया गया था। मुंबई की एक विशेष सीबीआई अदालत ने केंद्रीय एजेंसी को जेल के अंदर इंद्राणी से पूछताछ करने की अनुमति दी थी। इंद्राणी ने धनशोधन रोकथाम अधिनियम के तहत अपना बयान दर्ज कराया था, जिसमें उसने दावा किया गया था कि वह और उसके पति ने चिदंबरम से दिल्ली के नार्थ ब्लॉक स्थित कार्यालय में मुलाकात की थी जब वह वित्तमंत्री थे। उसने अपने बयान में यह भी दावा किया है कि चिदंबरम ने आईएनएक्स मीडिया को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड की मंजूरी देने के बदले में अपने बेटे कार्ति को उनके व्यवसाय में मदद करने के लिए कहा था। चिदंबरम ने आरोपों का दृढ़ता से खंडन किया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...