झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 05 सितंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 5 सितंबर 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 05 सितंबर

कांग्रेस सिर्फ प्रदेश को लूटने में जुटी है: शिवराज सिंह चैहान
सरकार को नींद से जगाने 11 को घंटानाद आंदोलन होगा: राकेश सिंहगरीबों को आवास नहीं देना चाहती प्रदेश सरकार: तोमर

jhabua news
झाबुआ। पूरे मध्यप्रदेश को लूटने का काम कोई कर रहा है तो वह कांग्रेस पार्टी है। यह मैं नही कह रहा हूॅ खुद कांग्रेस के मंत्री कह रहे है। कमलनाथ सरकार ने पूरे प्रदेश को बर्बाद और तबाह करने का काम किया है। मध्यप्रदेश मे कर्जमाफी का वादा करके सत्ता में आयी कांग्रेस ने आज तक किसानों का कर्जमाफ नहीं किया है। राहुल गांधी ने 10 दिनों में किसानों कर्ज माफ करने का वादा किया था, परंतु 9 माह बीतने के बाद भी कर्ज माफ नहीं हुआ। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री शिवराजसिंह चैहान ने बुधवार को झाबुआ के कृषि उपंज मंडी में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष श्री राकेश सिंह ने 11 सितंबर को घंटानाद आंदोलन को सफल बनाने की अपील की। श्री शिवराजसिंह चैहान ने राहुल गांधी, सोनिया गांधी और मुख्यमंत्री कमलनाथ से जवाब मागंते हुए कहा कि प्रदेश की जनता को जो सपने दिखाए थे, क्या वो पूरे हो गए? कंुभकरणीय नींद सोने वाली सरकार प्रदेश की जनता से किए वादे कैसे पूरे कर सकती है। कांग्रेस ने कहा था कि बिजली बिल माफ करेंगे, लेकिन बिल माफ नहीं हुए। पहले बिजली से करंट लगता था, अब बिजली के बिल झटके मार रहे हैं। इस सरकार ने किसानों को, गरीबों को लूट लिया। कांग्रेस ने नौजवानों को 4 हजार रुपए बेरोजगारी भत्ता दिए जाने की बात कही थी लेकिन आज तक पता नहीं चल पा रहा है। गरीबों के अंतिम संस्कार के लिए दिए जाने वाले 5 हजार रुपए भी खा गए। प्रसव के समय गरीब बहनों को दिए जाने वाले 16 हजार रुपए खा गए। गरीबों को बीमारी के इलाज के लिए पैसे नहीं मिलते। प्रदेश सरकार ने हमारी सभी लोककल्याणकारी योजनाएं बंद करके गरीबों के साथ छल किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार भ्रष्टाचार के सारे रिकॉर्ड तोड़ रही है। कांग्रेस ने मध्यप्रदेश की खेती तबाह कर दी। प्रदेश में 41 प्रतिशत किसान क्रेडिट घट गई है। किसान का कर्जा माफ नहीं हुआ, वह डिफाल्टर हो गया। ऐसे किसानों को अब बैंक से कर्जा भी नहीं मिलेगा। कांग्रेस की सरकार किसानों को धोखा दे रही है, ठग रही है। कांग्रेस का यह नाटक ज्यादा दिन नहीं चलेगा। न मध्यप्रदेश का किसान इसे सहन करेगा और न ही भारतीय जनता पार्टी सहन करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार सोयाबीन पर 500 रू. किं्वटल खा गई। मक्के का 500 रूपए खा गयी। धान का बोनस नहीं दिया। गेहूं 2100 रुपए किं्वटल खरीदना था, लेकिन 160 रुपए बोनस भी नहीं दे रही हैं। कई किसान चने और धान के पेमेंट के लिए तरस रहे हैं। किसान तबाही और बर्बादी के कगार पर खड़ा है। कई किसानों ने शिकायत की कि सरकार ने ओले-पाले का मुआवजा नहीं दिया। कमलनाथ ने एक धेला भी नहीं दिया है। मुख्यमंत्री को कभी किसी ने नहीं देखा, किसानों के खेतों में उनके हाल जानने तक नहीं उतरे। श्री चैहान ने कहा कि कांग्रेस की सरकार गांवों में ढोल बजाकर पैसा वसूल रही है। यह आदिवासियों का अपमान है। बिजली आती कम है, जाती ज्यादा है। सबके बिजली के बडे-बडे बिल आ रहे है। जब-जब बिजली जायेगी, मामा याद आयेगा। कांग्रेस हमेशा आदिवासियों का अपमान करती है। कांग्रेस ने इतने तबादले कर दिए कि स्कूल के स्कूल खाली हो गए। पैसे ले लेकर तबादले हो रहे है। सभी के रेट तय हो गए है। पैसा देकर अधिकारी आयेगा तो वह कैसे काम करेगा। कमलनाथ सरकार ने छात्रों को मिलने वाले लेपटाप के पैसे अभी तक नहीं दिए। स्मार्ट फोन नहीं मिल रहे है। हमने हर आदिवासी छात्रों के खाते में पैसे डाले। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ बदला हमसे लेना है तो ले लो, बच्चों से क्या बदला ले रहे हो। गरीबों को मिलने वाले इलाज के पैसे बंद कर दिए। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी गरीबों के हक की लडाई सड़कों पर लडेंगी। झाबुआ में जब भी कोई कांग्रेस नेता आए तो उसको घेर लो और जब तक परेशानियां दूर नहीं करे तब तक बाहर मत जाने दो। झाबुआ के नागरिक कांग्रेस को सबक जरूर सिखायेंगे। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस यहां से हार गयी तो अकल ठिकाने लग जायेगी।

घंटानाद से जगायेंगे सरकार को: राकेश सिंह
प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री राकेश सिंह सभा को सम्बोधित करतेे हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस की दमनकारी नीतियों को उखाड फेंकने और झाबुआ सहित प्रदेश की जनता केे हित की लड़ाई के लिए के लिए 11 फरवरी को पूरे प्रदेश में घंटानाद करने का निर्णय लिया है। महिला, युवा, किसान सहित सभी वर्ग के लोग कलेक्टर घेराव कर प्रदेश की कमलनाथ सरकार को कुंभकरणी नींद से जगायेगे। झाबुआ की जनता ने पहले विधायक और बाद में सांसद भाजपा को चुना परन्तु धोखे से बनी कांग्रेस सरकार ने मात्र 9 माह में भष्टाचार के कीर्तिमान स्थापित किये है, जो देश में देखने को नही मिलती। श्री राकेश सिंह ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को चुनौती देते हुए कहा कि प्रदेश में श्री शिवराज सिंह चैहान के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने 15 वर्षों में 1 लाख 50 हजार कि.मी. सडक बनाई, लेकिन कांग्रेस ने 9 माह मे 9 किलोमीटर सडक तक क्यों नही बना पायी ? कांग्रेस ने विनाश किया है, उससे विकास की उम्मीद नही कर सकते। श्री राकेश सिंह ने कहा कि प्रदेश में अलग-अलग तीन मुख्यमंत्री है, जो तीन तरह की बातें करते है। एक घोषित मुख्यमंत्री कमलनाथ जो कहतें है मेरा आदेश चलेगा, परदे के पीछे से दिग्विजय ंिसह मंत्रियों को चिठठी लिखते है और तीसरे मुख्यमंत्री ज्योतित्यराजे सिंधिया ग्वालियर से कहते है कि प्रदेश में अवैध रेत खनन बंद नही हुई तो आंदोलन करने के लिए सड़कांे पर उतरूगां, क्या ऐसी सरकार जनता का भला कर सकती है ? सरकार के 3 मुख्यमंत्री 3 अलग अलग दिशा में काम कर रहे है। इन सबका एक ही उद्देश्य है, किसी भी तरह भ्रष्टाचार का कीर्तिमान स्थापित कर प्रदेश को बर्बाद करना है।

बंदरबाट में लगी है, धोखे से बनी सरकार: नरेन्द्र सिंह तोमर
केन्द्रीय मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि प्रदेश मेें धोखे से कांगंे्रेस सरकार बन गयी है। तभी से प्रदेश की जनता बिजली, सड़क और पानी तक के लिए मोहताज हो गयी है। प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार बढाने और प्रदेश को बर्बाद के साथ ही बंदरबाट में लगी है। लोककल्याणकारी सभी योजनाएं ठप्प पडी है। झाबुआ की जनता से कांग्रेस सरकार की समाप्ति की शुरूआत होगी। श्री शिवराज सिंह चैहान मुख्यमंत्री रहते प्रधानमंत्री आवास योजना में 13 लाख गरीबों को आवास दिए जाने का लक्ष्य था जिसे 5 लाख गरीबों को उपलब्ध कराया गया था। केन्द्र सरकार बचे गरीबों को 8 लाख 50 हजार मकान देना चाहती है परन्तु प्रदेश सरकार जनता को आवास देना नही चाहती। झाबुआ सहित प्रदेश में आवास हो या ग्रामीण सड़क किसी में भी राज्य सरकार ध्यान नही दे रही है। श्री तोमर ने कहा कि देश में पहली बार किसानों के मान सम्मान और उनके माली हालत को सुधारने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना श्री नरेन्द्र मोदी ने लागू की। एक करोड मध्यप्रदेश के किसानों को इसका लाभ मिलता, परंतु प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद किसानों का नाम केन्द्र को नही भेजा, जिसके कारण किसानों को 6000 का लाभ नहीं मिल सका। श्री नरेन्द्र मोदी ने प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना लागू करके किसानों को मान धन देने की योजना बनायी है। किसान को 60 वर्ष के बाद प्रतिमाह 3000 रूपए का लाभ मिलेगा। जब-जब राज्य और केन्द्र सरकारों में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी तब तब गरीबो का काम किया, वही कांग्रेस ने देश और प्रदेश को बर्बाद करने का काम किया। 2003 के पूर्व दिग्विजय सिंह ने प्रदेश को बंटाढार प्रदेश बनाया था। तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चैहान ने प्रदेश को विकसित प्रदेश बनाया। प्रदेश मंे भष्टाचार बढ़ गया है। लूट, खसोट वाली सरकार को विदा करने के लिए झाबुआ की जनता उपचुनाव में भाजपा को विजयी बनाए।।   केन्द्रीय मंत्री श्री फग्गनसिंह कुलस्ते ने कहा कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस ने 9 माह के कार्यकाल के दौरान एक भी वादे पूरे नहीं किए, यह कांग्रेस सरकार का दुर्भाग्य है। श्री शिवराजसिंह चैहान ने 2 लाख 65 हजार आदिवासियों को वनभूमि के पट्टे वितरित किए थे, जिसे कमलनाथ सरकार ने वापस ले लिए, यह दुर्भाग्यपूर्ण है। आदिवासी के बच्चों को छात्रवृत्ति नहीं मिल पायी है। छात्रावास बंद होने की कगार पर पहंुच गए है। बिजली, सड़क, पानी और स्वास्थ्य के लिए भी प्रदेश की जनता तरस रही है। झाबुआ की जनता ने पहले बेटे को फिर बाद में पिता को हराया। अब कांग्रेस की झूठी सरकार को उखाड़ फेंकने की शुरूआत झाबुआ से होगी। इस अवसर पर प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत, वरिष्ठ नेता श्री कृष्णमुरारी मोघे, प्रदेश उपाध्यक्ष श्री जीतू जिराती, सांसद श्री जीएस डामोर, सांसद श्री छत्तर सिंह दरबार, सांसद श्री गजेन्द्र पटेल, विधायक श्री रमेश मेंदोला, पूर्व मंत्री श्री अंतर सिंह आर्य, श्रीमती रंजना बघेल, सुश्री निर्मला भूरिया, श्री ओमप्रकाश शर्मा, श्री दिलीप पटोदिया, श्री शांतिलाल बिलवाल, श्री कलसिंह भांवर, श्री कालूसिंह ठाकुर, श्री माधोसिंह डाबर, श्री किशोर शाह, श्री दौलत भावसार सहित जिला पदाधिकारी, जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे।

डाॅ. रमेष भायल द्वारा इंदौर संभाग का पदभार ग्रहण करने एवं डाॅ. मीना भायल द्वारा जिला आयुष अधिकारी का प्रभार लेने पर आयुष विभाग ने किया भावभरा सम्मान

jhabua news
झाबुआ। जिला आयुष कार्यालय झाबुआ में 3 सितंबर, मंगलवार को पूर्व जिला आयुष अधिकारी डाॅ. रमेष भायल का वर्तमान में इंदौर संभाग आयुष अधिकारी के पद पर पदभार ग्रहण करने एवं जिला आयुष अधिकारी के पद पर डाॅ. मीना भायल द्वारा पदभार ग्रहण करने पर उनके सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें समस्त आयुष अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा भायल दंपति को नवीन प्रभार मिलने पर पुष्पमालाओं से भव्य सम्मान किया गया। इस अवसर पर डाॅ. रमेष भायल एवं डाॅ. मीना भायल ने अपने-अपने उद्बोधन में नवीन पद पर अपने दायित्व का निर्वहन पूरी मेहनत एवं लगनता के साथ करने की बात कहीं। कार्यक्रम में सेवानिवृत्त जिला अधिकारी डाॅ. सीएल वर्मा, सेवानिवृत्त चिकित्सक डाॅ. बीडी शर्मा, डाॅ. अरूण देराश्री एवं डाॅ. एके पाठक आदि भी विषेष रूप से उपस्थित थे।

सकल जैन श्वेतांबर श्री संघ के तपस्वियों ने बिना चप्पल नंगे पैर चलकर चैत्य परिपाटी का किया निर्वहन, बावन जिनालय में 132 तपस्वियों का हुआ बहुमान
आहार में संयम और नियम जरूरी है, तभी जीवन सफल होगा -ः अष्ट प्रभावक नरेन्द्र सूरीष्वरजीझाबुआ का सकल जैन श्री संघ पूरे मप्र में एकता का दे रहा संदेष -ः प्रन्यास प्रवर जिनेन्द्र विजयजी मसा
jhabua news
झाबुआ। शहर में प्रथम अवसर था, जब भक्तामर महातप, मेरू तप, वर्षी तप, वर्धमान तप, बीस स्थानक तप, कल्याणक जैसे कठोर तप के अलावा अनेक प्रकार की तपस्या करने वालों तपस्वियों के चरण झाबुआ की धरा पर पड़े, जिससे झाबुआ की माटी धन्य हो गई। सकल जैन श्वेतांबर श्री संघ के करीब 100 से अधिक तपस्वियों ने भव्य रथ यात्रा में बिना चप्पल के नंगे पैर चलकर चैत्य परिपाटी का निर्वहन किया। रथ यात्रा मंे तपस्वियों के साथ समाजजनों ने भी इसका अनुसरण किया और नंगे पैर ही चले। इस सराहनीय कार्य की अष्ट प्रभावक नरेन्द्र सूरीष्वरजी मसा एवं प्रन्यास प्रवर जिनेन्द्र विजयजी मसा ने भी खूब अनुमोदना (प्रसंषा) कर समाजजनों को प्रेरणा देते हुए कहा कि अब जब भी शोभयात्रा या रथयात्रा निकाली जाएगी, तो समाजजन और तपस्या करने वाले उसमें बिना चप्पल के पैदल ही चले, जिससें झाबुआ जैन समाज से एक अच्छा संदेष पूरे देष में जाएगा। 4 सितंबर, बुधवार को अवसर था, जब प्राचीन जैन तीर्थ श्री ऋषभदेव बावन जिनालय में चातुर्मास हेतु विराजमान अष्ट प्रभावक नरेन्द्र सूरीजी एवं प्रन्यास प्रवर जिनेन्द्र विजयजी मसा की निश्रा में चातुर्मास एवं पर्यूषण महापर्व के दौरान श्वेतांबर जैन समाज सहित स्थानकवासी श्री संघ एवं तेरापंथ महासभा के सदस्यों द्वारा की गई विभिन्न कठोर तपस्याओं के निमित्त ऐतिहासिक भव्य रथ यात्रा का। सर्वप्रथम बावन जिनालय में बुधवार को सुबह 7.30 से 9 बजे तक नवकारसी का आयोजन श्री नवल स्वर्ण जयंती चातुर्मास समिति के अध्यक्ष कमलेष कोठारी एवं समाजरत्न सुभाषचन्द्र कोठारी की ओर से किया गया। जिसका लाभ सकल जैन श्वेतांबर श्री संघ ने लिया। बाद मंदिर से सुबह 9.30 बजे से बैंड-बाजों के साथ भव्य रथ यात्रा आरंभ हुई।

विशेष रथ को खींचकर चले युवाजन
जिसमें बैंड-बाजों पर धार्मिक गीतों की प्रस्तुति दी गई। इसके पीछे चांदी के सुसज्जित रथ पर प्रभु श्री आदिनाथ भगवान की प्रतिमा को लेकर चलने का लाभ टीना एवं क्रिष रूनवाल ने लिया। भगवान के सारथी के रूप में रथ पर सपना संघवी एवं भावी संघवी विराजमान हुई। प्रतिमा के दोनो ओर बच्चों द्वारा चंवर ढ़ुलाया गया। रथ को खींचकर युवाजन चले। सभी तपस्वियों को मुकुट एवं माला चातुर्मास समिति के वरिष्ठ संतोष रूनवाल परिवार ने पहनाई। जगह-जगह समाजजनों ने भगवान के चित्र के सम्मुख गहूली भी की।

सभी तपस्वी चले नंगे पैर
रथ के पीछे पहले श्रावक तपस्वी और इसके पीछे श्राविका तपस्वी सिर पर मुकुट और गले में माला पहनकर बिना चप्पल नंगे पैर चले। तपस्वियों के तप अनुमोदनार्थ पैदल चलने से झाबुआ की धरा भी पवित्र हो गई। इसके पीछे सकल श्वेतांबर श्री संघ के महिला-पुरूष बड़ी संख्या में शामिल हुए। यह रथ यात्रा शहर के रूनवाल बाजार, थांदला गेट, बाबेेल चैराहा से इस बार सुभाष मार्ग से शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर पहुंची। जहां अष्ट प्रभवक नरेन्द्र सूरीजी एवं प्रन्यास प्रवर जिनेन्द्र विजयजी मसा ने रथ यात्रा के बीच दिगंबर मंदिर में प्रवेष कर शांतिनाथ भगवान के दर्षन किए एवं चैत्यवंदन किया। इस दौरान आचार्य एवं प्रन्यास प्रवर की मंदिर में आगवानी दिगंबर जैन समाज की ओर से वरिष्ठ विरेन्द्र मोदी, भानुलाल शाह आदि ने की तथा उन्हांेने भगवान आदिनाथजी के चित्र के सम्मुख अक्षत, श्रीफल से गहूली भी की। बाद यहां से रथ यात्रा आगे बढ़ते हुए नेहरू मार्ग, राजवाड़ा, लक्ष्मीबाई मार्ग होते हुए पुनः मंदिर पर पहुंची।

श्वेतांबर एवं दिगंबर देवो का मिलन हुआ
यहां धर्मसभा का आयोजन हुआ। जिसमें सर्वप्रथम गुरूवंदन श्रावक रत्न धर्मचन्द मेहता ने किया। बाद आचार्य श्रीजी ने मंगलाचरण फरमाई। तत्पष्चात् सर्वप्रथम प्रन्यास प्रवर जिनेन्द्र विजयजी मसा ने अपने प्रवचनों में कहा कि आज रथ यात्रा में वह शुभ अवसर रहा, जब रथ यात्रा अपने मार्ग से दिगंबर जैन मंदिर पहुंची तो एक तरफ रथ पर विराजमान आदिनाथ भगवान एवं दिगंबर जैन मंदिर में विराजमान शांतिनाथ भगवान का मिलन हुआ। रथ यात्रा में समाजजनों ने काफी अनुषासन का परिचय दिया। वाकई में अनुषासन और एकता के मामले में पूरे मप्र में झाबुआ का सकल श्री संघ एकता का परिचय दे रहा है, इसके लिए मैं झाबुआ श्री संघ को धन्यवाद देता हूॅ। साथ ही प्रन्यास प्रवर ने समाजजनांे से कहा कि आप नियमित प्रवचन में आए और धर्म लाभ ले। प्रन्यास प्रवर ने समाजजनांें से यह भी कहा कि आप बावन जिनालय में रात्रि में भोजन ना करे, जिस पर श्वेतांबर श्री संघ अघ्यक्ष संजय मेहता ने इस संबंध में संघ की मीटींग कर इसका पालन करने की बात कहीं।

तपस्वी इंद्र-इंद्राणी बने शोभायमान हो रहे
तत्पष्चात् अष्ट प्रभावक नरेन्द्र सूरीष्वरजी मसा ने कहा कि हमे जीवन में उत्तम मार्ग और उत्तम जीवन को अपनाना चाहिए। आज मुकुट और माला से सजे तपस्वी इंद्र-इंद्राणी बने हुए शोभायमान हो रहे है। आचार्य ने कहा कि समाजजन आहार में कंदमूल का भी हमेषा के लिए त्याग करे। साथ ही आहार में संयम और जीवन में नियम रखने से जीवन सफलता की ओर अग्रसर होता है। जैन समाज सदैव धर्म और त्याग में विष्वास रखता है। आचार्य श्रीजी नेे हमेषा बधाई कार्ड से नहीं हार्ड से देने हेतु कहा। धर्मसभा का संचालन श्वेतांबर श्री संघ अध्यक्ष संजय मेहता ने किया।

132 तपस्वियों का हुआ बहुमान
बाद बहुमान के क्रम में श्वेतांबर श्री संघ एवं चार्तुमास समिति की ओर से नवकारसी के लाभार्थी चातुर्मास समिति अध्यक्ष कमलेष कोठारी एवं समाज रत्न सुभाष कोठारी का बहुमान संजय मेहता, तेजप्रकाष कोठारी एवं आरके लालन आदि द्वारा शाल ओढ़ाकर एवं श्रीफल भेंटकर किया। बाद तपस्वियों का सम्मान में श्रावक रत्न धर्मचन्द मेहता सहित सभी 132 तपस्वियों का बहुमान तिलक लगाकर एवं माला पहनाकर हुआ। सभी तपस्वियों के बहुमान का लाभ श्रीमती चंद्रकांता बेन, संजयकुमार कांठी परिवार ने लिया। इस दौरान समाजजनों ने तपस्या करने वालो की खूब-खूब अनुमोदना करते हुए उन्हें धन्यवाद भी दिया तथा जयघोष भी लगाए। अंत में साधर्मी वात्सल्य का आयोजन हुआ। दोपहर में बावन जिनालय एवं बीफाॅर सेनिमा पर चैवीसी का आयोजन रखा गया। 

प्रष्नोत्तरी रख 50 विजेताओं को दिए जाएंगे पुरस्कार
श्वेतांबर श्री संघ अध्यक्ष श्री मेहता ने समाजजनों को जानकारी देते हुए बताया कि 5 सितंबर को आचार्य श्रीजी के जीवन पर आधारित प्रष्नोत्तरी का आयोजन होगा। जिसमें 50 पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे, जिसके लाभार्थी सतीषकुमार सोहनलाल कोठारी परिवा रहेंगे। साथ ही 6, 7 एवं 8 सितंबर को आचार्य नरेन्द्र सूरीष्वरजी की त्रि-दिवसीय संयम के उपलक्ष में विभिन्न कार्यक्रमांे का आयोजन किया जाएगा।

मप्र शासन के नगरीय प्रषासन मंत्री जयवर्धनसिंह का झाबुआ आगमन 5 सितंबर को, शहर को मिलेगी 1 करोड़ 25 लाख रू. की सौगात, दो महापुरूषों की प्रतिमाओं का होगा अनावरण

jhabua news
झाबुआ। मप्र शासन के नगरीय प्रषासन विकास मंत्री जयवर्धनसिंह का झाबुआ आगमन 4 सितंबर को शाम 6 बजे स्थानीय सर्किट हाऊस पर होगा। इस दौरान वे यहां जनप्रतिनिधि और कांग्रेस पदाधिकारी-कार्यकर्ताओं से भेंट करेंगे।
उनके दौरे की संपूर्ण जानकारी देते हुए जिला कांग्रेस प्रवक्ता साबिर फिटवेल ने बताया कि 5 सितंबर को सुबह 9 बजे वे रानापुर रोड़ पर षिवगंगा चैराहे पर अमर शहीद टंट्या मामा की प्रतिमा का अनावरण करेंगे। वहीं प्रातः 10 बजे बस स्टंेड स्थित फव्वारा चैक पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा का भी अनावरण मंत्री श्री सिंह द्वारा किया जाएगा। तत्पष्चात् दोपहर 11 बजे उत्कृष्ट उमा विद्यालय मैदान पर नगरपालिका प्राासन द्वारा आयोजित हितग्राही सम्मेलन को संबोधित किया जाएगा।

विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को प्रमाण-पत्र वितरित किए जाएंगे
इस दौरान नगरीय प्रषासन मंत्री द्वारा मुख्यमंत्री युवा स्वभिमान योजना, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना, आवास निर्माण, सामाजिक एकजुटता विकास एवं संस्था विकास योजना, सामाजिक सुरक्षा एवं वृद्धावस्था पेंषन, मुख्यमंत्री कल्याणी पेंषन, सामाजिक सुरक्षा निःषक्त पेंषन, दिव्यांग षिक्षा प्रोत्साहन सहायता राषि, इंदिरा गांधी वृद्धावस्था पेंषन, इंदिरा गांधी विधन पेंषन, इंदिरा गांधी निःषक्त पेंषन, मुख्यमंत्री कन्या विवाह सहायता योजना, सामाजिक सुरक्षा परित्यक्ता पेंषन, मुख्यमंत्री अविवाहित पेंषन, राष्ट्रीय परिवार सहायता एवं अंत्येष्टि सहायता योजना के हितग्राहियों को प्रमाण-पत्र वितरित किए जाएंगे। साथ ही इस दौरान झाबुआ के विभिन्न वार्डों में होने वाले करीब 1 करोड़ 25 लाख रू. के कार्यों का षिलान्यास भी किया जाएगा।

यह रहेंगे उपस्थित
इस अवसर पर उनके साथ मुख्य रूप से पूर्व कंेद्रीय मंत्री एवं पूर्व सांसद कंातिलाल भूरिया, जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता, जिला युवक कांग्रेस अध्यक्ष डाॅ. विक्रांत भूरिया, नगरपालिका अध्यक्ष झाबुआ श्रीमती मन्नूबेन डोडियार, उपाध्यक्ष रोषनी डोडियार, पूर्व विधायक जेवियर मेड़ा, कार्यवाहक अध्रूक्ष हेमचंद डामोर सहित नपा के पार्षदगण एवं कांग्रेसजन बड़ी संख में उपस्थित रहेंगे।

एक व्यक्ति के बिजली बिल बकाया होने से अब पूरे गांव की बिजली नही कटेगी-मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह
मेघनगर को डीपी संग्रहण के लिए स्थाई डीपो बनाया जाएगा झाबुआ जिले में प्रति विधानसभा क्षेत्र 50-50 डीपी की व्यवस्था की जाएगी
jhabua news
झाबुआ । जिला मुख्यालय पर आयोजित विद्युत उपभोक्ताओ सम्मेलन में सम्बोधित करते हुए मध्यप्रदेष षासन ऊर्जा विभाग के मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेष सरकार के वचन पत्र के अनुसार विद्युत उपभोक्ताओ को इस माह से बिजली के बडे-बडे बिजली बिलो से मुक्ति मिल जाएगी। सरकार द्वारा अब विद्युत उपभोक्ताओ को 100 यूनिट बिजली 100 रू. में उपलब्ध करवाई जाएगी। उपभोक्ता चाहे एससी /एसटी/ओबीसी हो या सामान्य वर्ग का हो, सभी उपभोक्ताओ को 100 यूनिट बिजली जलाने पर 100 रू. ही बिजली बिल आयेगा। इस योजना में प्रदंेष के 1 करोड 15 लाख उपभोक्ताओ को लाभ मिलेगा। ऐसा उपभोक्ता जो एक माह में 150 यूनिट बिजली का उपयोग करता है, उसे प्रथम 100 यूनिट तक के लिए 100 रूपये का बिजली बिल भरना पडेगा। उसके बाद सरकार द्वारा निर्धारित स्लेब के अनुसार भुगतान करना होगा। सरकार ने किसानो की भी चिंता की है, प्रदेष के 19 लाख किसानो का बिजली बिल आधा किया गया है। अब उन्हे सिचाई के लिए आधा बिल ही भरना पडेगा। पहले बिजली के करंट से गाय, भैस, बैल, बकरी इत्यादि मवेषियो की मौत पर मुआवजा देने की व्यवस्था नही थी, अब सरकार द्वारा किसानो के मवेषियो की मृत्यु बिजली के करंट से होने पर आरबीसी 6 (4) के तहत मुआवजा राषि दी जाएगी। बिजली उपभोक्ताओ की छोटी मोटी समस्याओ का समाधान गांव स्तर पर ही हो जाए, इसके लिए प्रदेष में हर केन्द्र पर ग्रामीणो की समिति बनाई गई है। इस समिति की बैठक प्रति सप्ताह हर मंगलवार को होती है। इस समिति में विभाग के कर्मचारियो सहित ग्रामीणो को भी सम्मिलित किया गया है। अब एक या दो व्यक्ति बिजली का बिल नही भरें तो उनकी वजह से पूरे गांव की बिजली कटौती नही की जाएगी। यदि ऐसा करता हुआ कोई भी विभागीय अधिकारी/कर्मचारी पाया जाएगा, तो उसके विरूद्व सख्त कार्यवाही की जाएगी। बिजली उपभोक्ताओ को अब अपनी छोटी-छोटी समस्योओ के निराकरण के लिए जिला मुख्यालय या अधिकारियो के चक्कर काटने की जरूरत नही पडेगी। अब उनकी समस्याओ के निराकरण के लिए हर ग्रिड स्तर पर गांवो में षिविर लगाकर समस्याओ का समाधान किया जाएगा। झाबुआ जिले में डीपी की व्यवस्था के लिए मेघनगर में स्थाई डीपो बनाया जाएगा। पहले डीपी जलने के बाद डीपी बदलने का कार्य सात दिवस में किया जाता था। अब जिले में जिस दिन डीपी जले उसी दिन बदली जाएगी। इसके लिए उन्होने मंच से अधिकारी/कर्मचारियो को निर्देषित किया। जिन फलीयो और गांवो में विद्युतीकरण नही हुआ है, उनका भी षतप्रतिषत विद्युतीकरण किया जाएगा। सिचाई के लिए किसानो के पम्पो का उर्जीकरण करने के लिए सोलर पम्प योजना में किसानो को सोलर पम्प उपलब्ध करवाये जायेगे। विभाग के ऐसे कर्मचारी जिनकी मृत्यु सेवा काल में हुई है, उनकी अनुकम्पा नियुक्ति के लिए वर्ष 2000 से 2019 तक के सभी प्रकरणो पर विचार कर सभी पात्रो को नियुक्ति दी जाएगी। कर्मचारियो की सुविधाओ के विस्तार के लिए भी विभाग द्वारा कार्य किया जा रहा है। विद्युत उपभोक्ताओ की समस्याओ के त्वरित निराकरण के लिए टोल फ्री नम्बर 1912 जारी किया गया है। इस नम्बर पर काॅल करके उपभोक्ता अपनी षिकायत बता सकते है। जिनका निराकरण त्वरित किया जाता है एवं उपभोक्ता को काॅल करके उसकी समस्या का समाधान हुआ या नही इस बारे में भी फिडबेक लिया जाता है।   उन्होने कहा कि प्रदेष में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के नेतृत्व में सरकार बनते ही सरकार द्वारा हर वर्ग के लिए निरंतर जनकल्याणकारी निर्णय लिये जा रहे है। सरकार द्वारा कन्या विवाह के लिए राषि बढाकर 51 हजार कर दी गयी है। पेंषन की राषि भी 300 से बढाकर 600 रूपये कर दी गयी है। गेहू खरीदी पर किसानो को 260 रूपये प्रति क्विंटल बोनस दिया गया है। राज्य सरकार द्वारा आदिवासियो के विकास के लिए कई जनकल्याणकारी कदम उठाये जा रहे है। मुख्यमंत्री मदद योजना में आदिवासी के घर पर किसी परिजन की मृत्यु होने पर बाहरवा के कार्यक्रम हेतु 1 क्विंटल चावल या गेहू दोनो में से एक दिया जाएगा।यदि बच्चे का जन्म हो तो संस्कार कार्यक्रम के लिए 50 कि.ग्रा तक गेहू या चावल दोनो मे से एक दिया जाएगा। आने वाले सालो में एक-एक कर के सभी वचन निभायेगे। इसके लिए सरकार प्रतिबद्व है। सम्मेलन में पूर्व सांसद श्री कान्तिलाल भूरिया, विधायक थांदला श्री वीरसिंह भूरिया, विधायक पेटलावद श्री वालसिंह मेडा, एवं अन्य जनप्रतिनिधियांे ने भी सम्बोधित करते हुए षासन की जनकल्याणकारी योजनाओ के बारे में आमजन को बताया। सम्मेलन में कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा, पुलिस अधीक्षक विनीत जैन, विद्युत मण्डल के अधिकारियो सहित जनप्रतिनिधि, जिला अधिकारी एव बडी संख्या मे आमजन उपस्थित थे। झाबुआ जिला मुख्यालय पर उत्कृष्ट विद्यालय मैदान पर आयोजित विद्युत उपभोक्ताओ सम्मेलन में झाबुआ की संस्कृति से ओतप्रोत नृत्य के माध्यम से मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह का स्वागत किया गया। कार्यक्रम में ई ई एमपीईबी सुरेष चंद्र वर्मा, डीई एमपीईबी श्री चैहान ने झुलडी पहनाकर, तीर कमान देकर एवं प्रतीक चिन्ह गुडिया मंत्री जी को भेंट कर स्वागत किया। कार्यक्रम में स्वागत भाषण देते हुए कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने जिले के विकास में विद्युत विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यो के बारे में बताया।

जिले में जिस दिन डीपी जले उसी दिन बदली जाए-ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह अधिकारियो की बैठक लेकर ऊर्जा मंत्री ने दिये निर्देष

jhabua news
झाबुआ । म.प्र.षासन ऊर्जा विभाग के मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने आज झाबुआ जिले के भ्रमण के दौरान सर्किट हाउस झाबुआ के बैठक कक्ष में विभागीय अधिकारियो की बैठक लेकर विभागीय योजनाओ की समीक्षा की एवं आवष्यक निर्देष दिये। उन्होने अधिकारियो को निर्देषित किया कि जिले में बिजली की वजह से लोगो को परेषान नही होना पडे। इसके लिए त्वरित सेवाए दे, जिस दिन डीपी जले उसी दिन तत्काल बदली जाए। जिले में जिन फलीयो और गांवो में विद्युतीकरण नही हुआ है, उनका भी षतप्रतिषत  विद्युतीकरण किया जाना सुनिष्चित करे। बिजली उपभोक्ताओ की छोटी मोटी समस्याओ का समाधान गांव स्तर पर ही हो जाए, इसके लिए केन्द्र स्तर पर गठित ग्रामीण समितियो की बैठक प्रति सप्ताह हर मंगलवार को नियमित करवाना सुनिष्चित करे। अब एक या दो व्यक्ति बिजली का बिल नही भरें तो उनकी वजह से पूरे गांव की बिजली कटौती नही की जाए। यदि ऐसा करता हुआ कोई भी विभागीय अधिकारी/कर्मचारी पाया जाएगा, तो उसके विरूद्व सख्त कार्यवाही की जाएगी। बिजली उपभोक्ताओ की समस्याओ के निराकरण के लिए हर ग्रिड स्तर पर गांवो में षिविर लगाकर समस्याओ का समाधान करे। बैठक में पूर्व सासंद श्री कांतिलाल भूरिया, विधायक पेटलावद वालसिंह मेडा, विधायक थांदला वीरसिंह भूरिया, कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा, पुलिस अधीक्षक श्री विनीत जैन, सीईओ जिला पंचायत श्री संदीप षर्मा, ई.ई एमपीईबी सुरेष चंद्र वर्मा, डीई एमपीईबी श्री चैहान सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। जिले के भ्रमण के दौरान ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने सर्किट हाउस झाबुआ पर मध्यप्रदेष विद्युत वितरण कम्पनी में कार्यरत नियमित/संविदा/आउटसोर्स कर्मचारियो की समस्याए सुनी एवं समस्याओ के समाधान के लिए कर्मचारियो को आष्वस्त किया।

कृषि मंत्री श्री यादव ने किसानो के खेतो का निरीक्षण कर फसलो का जायजा लिया
     
jhabua news
झाबुआ । श्री सचिन सुभाष यादव मंत्री म.प्र.षासन कृषक कल्याण तथा कृषि विकास, उद्यानिकी, खाद्य प्रसंस्करण विभाग ने झाबुआ जिले के भ्रमण के दौरान झाबुआ से इंदौर के लिए प्रस्थान करते समय रास्ते में किसानो के खेतो का निरीक्षण भी किया। किसानो द्वारा लगाई गई अंतरवर्तीय फसलो को देखकर काफी प्रसन्नता जाहीर की,उन्होने खेत में सोयाबीन की फसल मे लगी फलीयो का अवलोकन भी किया। इस दौरान उनके साथ अपेक्स बैंक के अध्यक्ष श्री अषोक यादव, पूर्व सासंद श्री कांतिलाल भूरिया, उपसंचालक कृषि श्री रावत, परियोजना संचालक आत्मा श्री त्रिवेदी, उद्यानिकी अधिकारी विजयसिंह सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे।

 नगरीय विकास एवं आवास विभाग के मंत्री श्री जयवद्र्वन सिंह 4 एवं 5 सितम्बर को जिले के भ्रमण पर
     
झाबुआ । म.प्र.षासन नगरीय विकास एवं आवास विभाग के मंत्री श्री जयवद्र्वन सिंह 4 एवं 5 सितम्बर को झाबुआ जिले के भ्रमण पर रहेगे। प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार मंत्री श्री जयवद्र्वन सिंह 04 सितम्बर को सायं 05ः00 बजे अलीराजपुर से झाबुआ के लिए प्रस्थान कर सांय 06ः00 बजे झाबुआ पहुचकर रात्रि विश्राम करेगे। अगले दिन 05 सितम्बर को प्रातः 09ः00 बजे से उत्कृष्ट विद्यालय मैदान झाबुआ पर आयोजित स्थानीय कार्यक्रम में सम्मिलित होगे। तत्पष्चात झाबुआ से भोपाल के लिए प्रस्थान करेगे।

एकलव्य आदर्ष आवासीय विद्यालय अगराल (थादंला) एवं मोरडुण्डिया (रानापुर) में
अधिकतम रू. 17000/15000  मासिक मानदेय पर पीजीटी/टीजीटी के पदो के विरूद्व अतिथि षिक्षको से आवेदन आंमत्रित
झाबुआ ।  जिले के विषिष्ट विद्यालयो में सीबीएसई पाठ्क्रम से संचालित षासकीय एकलव्य आदर्ष आवासीय विद्यालय अगराल (थादंला) एवं मोरडुण्डिया (रानापुर) में अधिकतम रू. 17000/- व 15000  मासिक मानदेय पर पीजीटी/टीजीटी के पदो के विरूद्व अतिथि षिक्षको की आवष्यकता है। अगराल (थांदला) के प्राचार्य श्री नरेन्द्र भिडे ने बताया कि विद्यालय में पीजीटी में रसायन व अंग्रेजी तथा टीजीटी में अंग्रेजी, गणित, सामाजिक विज्ञान के साथ पुस्तकालय सहायक का पद स्क्ति है। इसी तरह मोरडुण्डिया (रानापुर) के प्राचार्य अरविन्द नायक ने बताया कि विद्यालय में पीजीटी में भौतिकी रसायन व गणित तथा टीजीटी में संगीत षिक्षक का पद रिक्त है। इस हेतु संस्था के सूचना पटल पर चस्पा आवष्यक योग्यताओ का अवलोकन कर योग्यताधारी आवेदक उक्त विद्यालयो में दिनाक 06 सितम्बर 2019 तक मूल दस्तावेजो के साथ आवेदन कर सकते है।

जिले में 24 घण्टो मे 7.5 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज
    
झाबुआ । जिले में इस वर्ष अब तक औसतन 995.2 मि.मी. वर्षा दर्ज की गयी है। विगत 24 घण्टो मे औसत 7.5 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापक केन्द्र झाबुआ में 24.0,रामा में 12.0 मि.मी.,थांदला मे 0.0 मि.मी.,पेटलावद मे 8.4 मि.मी.,राणापुर मे 1.0 मि.मी, मेघनगर मे 0.0,मि.मी वर्षा दर्ज की गई।

दीनदयाल रस¨ई के लिए 2912 क्विंटल खाद्यान्न आवंटित
   
झाबुआ । दीनदयाल अंत्य¨दय रस¨ई य¨जना के लिए 2912 क्विंटल खाद्यान्न आवंटित किया गया है। संचालक खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभ¨क्ता संरक्षण ने बताया कि सितम्बर माह में दीनदयाल अंत्य¨दय रस¨ई य¨जना के लिए 1824 क्विंटल गेंहू तथा 1088 क्विंटल चावल का आवंटन सभी जिल¨ं क¨ कर दिया गया है।

पात्रता पर्चीधारी परिवारो का होगा सत्यापन अयोग्य परिवार होंगे योजना से बाहर
   
झाबुआ । जिले में 18 से 28 सितम्बर तक राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अंतर्गत सम्मिलित पात्रता पर्चीधारी परिवारों का सत्यापन घर-घर पहुंचकर किया जायेगा। इस दौरान पात्रता पर्चीधारी परिवार को संबंधित दस्तावेजो, प्रमाण पत्रों को दल के सदस्यो को बताना होगा। इस दौरान संबंधित दस्तावेज उपलब्ध नही कराने वाले परिवारो को इस योजना से पृथक किया जायेगा। जिला आपूर्ति अधिकारी से प्राप्त जानकारी अनुसार राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत 25 श्रेणी के परिवारो को पात्र परिवार के रूप में सम्मिलित किया गया है, इन पात्र परिवारो लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत अत्यन्त रियायती दर पर खाद्यान्न के साथ-साथ अन्य सामग्रियो का वितरण किया जा रहा है। लाभ वास्तविक पात्र एवं जरूरत मंद गरीब परिवारो तक पहुंचाया जाना अत्यन्त आवश्यक है। इसलिये पात्रता पर्चीधारी पात्र परिवारो की पात्रता का सत्यापन करने हेतु अभियान चलाकर अपात्र व मौके पर निवास न करने वाले परिवारो के विलोपन हेतु यह अभियान चलाया जायेगा। अतः जिले के समस्त पात्रता पर्चीधारी पात्र परिवारो से अनुरोध है कि 18 से 28 सितम्बर तक सत्यापन दलो द्वारा घर-घर जाकर किये जाने वाले सत्यापन के दौरान कृपया इस अवधि में अपने परिवार के सदस्यो पर जिस श्रेणी में उनको पात्रता पर्ची जारी है, उससे संबधित दस्तावेजोध्प्रमाण पत्रो सहित अपने निवास पर उपलब्ध रहने का कष्ट करें। जिससे सत्यापन के पश्चात् उन्हें परेशान न होना पडे।
मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ह¨ंगे राज्य स्तरीय सतर्कता एवं माॅनीटरिंग समिति के अध्यक्ष
अनुसूचित जाति एवं जनजाति (अत्याचार निवारण) नियम-1995 के तहत हुआ समिति का पुनर्गठन
झाबुआ । राज्य शासन ने अनुसूचित जाति एवं जनजाति (अत्याचार निवारण) नियम-1995 के अन्तर्गत गठित राज्य स्तरीय सतर्कता एवं माॅनीटरिंग समिति का पुर्नगठन किया है। मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की अध्यक्षता में गठित बीस सदस्यीय समिति में गृह मंत्री श्री बाला बच्चन, वित्त मंत्री श्री तरूण भन¨त, अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री श्री लखन घनघ¨रिया सदस्य ह¨ंगे। विधायक श्री हरीशंकर खटीक, श्री हरीसिंह सप्रे, श्री कमलेश जाटव, श्री रणवीर सिंह, श्रीमती रक्षा संतराम सर¨निया, श्री जजपाल सिंह(जज्जी), श्री शिवदयाल बागरी, श्री स¨हनलाल वाल्मीक, श्री महेश परमार, श्री रामलाल मालवीय तथा श्री मन¨ज चावला भी सदस्य मन¨नीत किए गए हैं। मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव गृह, पुलिस महानिदेशक, राष्ट्रीय अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति आय¨ग के क्षेत्रीय कार्यालय भ¨पाल के निर्देशक भी समिति में सदस्य ह¨ंगे। प्रमुख सचिव अनुसूचित जाति कल्याण विभाग समिति के संय¨जक ह¨ंगे।

कुपोषण एवं एनिमिया से मुक्त कर सुपोषण बनाने हेतु मिडिया कार्यषाला 05 सितम्बर को
    
झाबुआ । भारत वर्ष के कुपोषण एवं एनिमिया से मुक्त कर सुपोषण बनाने हेतु भारत षासन ने राष्ट्रीय पोषण मिषन की षुरूवात की है, जो कि आगमी तीन वर्ष तक चलाया जावेगा। इस क्रम में सितम्बर माह राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जावेगा। जिसमें समुदाय को इस कार्यक्रम में जोड कर एवं जन भागीदारी को बढाया जा सके। इसी के अंतर्गत महिला बाल विकास विभाग झाबुआ द्वारा एक दिवसीय मिडिया कार्यषाला दिनाक 05 सितम्बर को अपरान्ह 03.00 बजे से जनपद पंचायत सभा कक्ष में आयोजित की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...