शहीद की पत्नी को दो साल बाद मिली सहायता राशि - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 10 सितंबर 2019

शहीद की पत्नी को दो साल बाद मिली सहायता राशि

martyr-wife-gets-help-after-two-years
मथुरा (उत्तर प्रदेश), 10 सितम्बर, जम्मू-कश्मीर में दो साल पहले सीमा पर चौकसी के दौरान बर्फीले तूफान की चपेट में आकर शहीद हुए उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद निवासी सत्येंद्र के परिवार को केंद्र सरकार से तो शहीद सैनिकों के आश्रितों को मिलने वाली आर्थिक सहायता राशि मिल गई, लेकिन राज्य सरकार द्वारा घोषित 25 लाख रुपए की राशि दो साल बाद भी नहीं पहुंची थी जो अब जाकर आश्रितों को मिली है। परिजनों ने क्षेत्र के विधायक पूरन प्रकाश के माध्यम से राज्य सरकार तक मामले को उठाया। विधायक ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर सरकारी सहायता शहीद के आश्रितों को दिलवाने की मांग की, जिसके बाद सोमवार को सरकार की ओर से भेजा गया चेक मथुरा पहुंचा। विधायक ने फरह के बेगमपुर निवासी रामगोपाल की पुत्रवधू एवं शहीद सत्येंद्र की पत्नी सुमनलता को उनके घर जाकर 25 लाख रुपए की धनराशि का चेक सौंपा। पूरन प्रकाश ने बताया, ‘‘जिस समय सत्येंद्र जम्मू-कश्मीर में बर्फ के तूफान की चपेट में आकर शहीद हुए थे, उस समय उनकी एक बेटी केवल छह दिन की थी जबकि दूसरी तीन साल की थी। उनके परिवार को बच्चों की परवरिश के लिए आर्थिक सहायता की सख्त जरूरत थी तथा वे उनके भविष्य को लेकर भी काफी चिंतित थे। ऐसे में उन्हें राज्य सरकार की तरफ से मिलने वाली सहायता जल्द से जल्द मिलनी चाहिए थी। इसलिए जब मुझे पता चला तो मैंने मुख्यमंत्री से सम्पर्क कर उक्त राशि शीघ्र ही दिलाने का अनुरोध किया था।’’ 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...