एकलव्य स्कूल के छात्रों को मोदी जन्म दिवस का उपहार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 19 सितंबर 2019

एकलव्य स्कूल के छात्रों को मोदी जन्म दिवस का उपहार

100 आदिवासी छात्र-छात्राओं को हवाई यात्रा
students-gift-to-modi
नई दिल्ली, 19 सितम्बर, सुखी परिवार फाउंडेशन द्वारा गुजरात के छोटा उदयपुर संसदीय क्षेत्र के कवांट में संचालित एकलव्य माॅडल आवासीय विद्यालय के 100 छात्र-छात्राओं एवं 20 शिक्षक-शिक्षिकाओं को निःशुल्क हवाई यात्रा करवाई गई। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के 69वें जन्मदिवस के उपलक्ष्य मंे बड़ौदा से दिल्ली तक की यह 17 से 21 सितम्बर 2019 तक की चार दिवसीय शैक्षणिक यात्रा उपहार स्वरूप प्रदत्त की गई है। विदित हो इस विद्यालय का शिलान्यास तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के करकमलों से वर्ष 2007 में हुआ था। तभी से यह विद्यालय अपनी अनूठी एवं विलक्षण उपलब्धियों के कारण केंद्र सरकार की एकलव्य माॅडल आवासीय स्कूलों की श्रृंखला का एक आदर्श उदाहरण है।  आदिवासी संत गणि राजेन्द्र विजयजी के नेतृत्व में संचालित इस विद्यालय ने न केवल शैक्षणिक दृष्टि से अनूठे कीर्तिमान स्थापित किये हैं बल्कि विभिन्न खेलकूद एवं सांस्कृतिक गतिविधियों में प्रांतीय व राष्ट्रीय स्तर पर अनेक पुरस्कार प्राप्त किये हैं। सुखी परिवार फाउंडेशन के राष्ट्रीय संयोजक श्री ललित गर्ग ने बताया कि इस शैक्षणिक यात्रा में इन बच्चों को संसद भवन, राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र, प्रमुख धार्मिक एवं राष्ट्रीय स्मारकों का भ्रमण कराया गया। उदयपुर (राजस्थान) के सांसद श्री अर्जुन मीणा ने दिल्ली में बच्चों से मुलाकात की और इस तरह की शैक्षणिक यात्राओं को उपयोगी बताया।  गणि राजेन्द्र विजय ने बताया कि आदिवासी भारत की मूल संस्कृति है। इस विद्यालय में आदिवासी समुदाय के बच्चों के समग्र विकास के लिए व्यापक प्रयत्न किये जा रहे हैं। हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी आदिवासी अंचलों में उन्नत शिक्षा के लिए एकलव्य स्कूल योजना को व्यापक बनाने के लिए तत्पर हैं। जिससे एक नया भारत निर्मित होगा। निश्चित ही इस नये भारत में आदिवासी समाज को सम्मान एवं गौरव प्राप्त हो सकेगा, ऐसा विश्वास है। उन्होंने कहा कि एकलव्य माॅडल आवासीय विद्यालय कवांट न केवल गुजरात बल्कि समूचे राष्ट्र का एक अनूठा विद्यालय है जहां आदिवासी बच्चों को उन्नत तरीकों से शिक्षा के साथ-साथ व्यक्तित्व विकास, कौशल विकास, तकनीकी विकास का समग्र वातावरण एवं सुविधाएं प्रदत्त की जा रही हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...