गिनीज बुक में भारत के 80 कारनामे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 31 अक्तूबर 2019

गिनीज बुक में भारत के 80 कारनामे

80-record-in-guinness-book
नयी दिल्ली, 31 अक्टूबर,  गिनीज विश्व रिकार्ड नये संस्करण में भारत के कुल 80 कारनामें शामिल हैं जिनमें एक किशोरी के सबसे लंबे बाल, सबसे बौनी जीवित महिला और कागज के कप का सबसे बड़ा कलेक्शन शामिल है । इसके प्रकाशक पेंगुइन रैंडम हाउस ने गुरूवार को इसकी घोषणा की है । ‘गिनीज विश्व रिकार्ड 2020’ पुस्तक में हजारों नये रिकार्ड शामिल हैं जिससे सभी आयु वर्ग के पाठकों का ज्ञानवर्द्धन एवं मनोरंजन होगा। इस रिकार्ड बुक में भारत की 16 साल की निलांशी पटेल का नाम शामिल है जिसके बालों की लंबाई पांच फुट सात इंच है । दूसरी ओर नागपुर की ज्योति अमागे की लंबाई 24.7 ईंच है और उनके नाम सबसे छोटी (बौनी) महिला होने का रिकार्ड दर्ज है । पुणे शहर के श्रीधर चिल्लल के बायें हाथ में सबसे अधिक लंबा नाखून है जिसकी लंबाई 909.6 (358.1 ईंच) सेंटीमीटर है ।  तमिलनाडु के वी शंकरनारायणन ने इस पुस्तक में अपना नाम कागज के कप के सबसे बड़े संग्रह के लिए दर्ज कराया है और उनके पास कुल 736 कप हैं । पुस्तक में कुछ उपलब्धियां ऐसी भी हैं, जो निश्चित रूप से गर्व करने लायक नहीं है। इनमें विश्व के सबसे प्रदूषित शहर के रूप में कानपुर शहर का नाम दर्ज है जहां साल 2016 में पीएम 2.5 का औसत प्रति एम3, 173 माइक्रोग्राम था जो विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानकों से 17 गुना से भी अधिक है। पुस्तक गुरूवार को बाजार में आयी है ।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...