बिहार : पटना यूनिवर्सिटी का छात्र चुनाव के सिलसिले में नामांकन शुरू - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 28 नवंबर 2019

बिहार : पटना यूनिवर्सिटी का छात्र चुनाव के सिलसिले में नामांकन शुरू

पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव की औपचारिक तौर से घोषणा हो गई है. 20 महीने के अंदर तीसरी बार हो रहे छात्रसंघ चुनाव को लेकर माहौल बनने लगा है. जीतने के लिए नए तरीकों का सहारा लिया जा रहा है. यूनिवर्सिटी में किसी भी छात्र संगठनों को जीतने के लिए छात्राओं के बीच पैठ बनाना जरूरी होता है. इस बार चुनाव में तमाम छात्र संगठन इस बार के चुनाव में छात्राओं को उचित प्रतिनिधित्व देने की बात कर रहे हैं.
pusu-election-starts
पटना,27 नवम्बर. पटना यूनिवर्सिटी में छात्र चुनाव के लिए सभी कॉलेजों, संस्थानों, पीजी विभागों और पीएचडी में पढ़ने वालों की फाइनल मतदाता सूची बन कर तैयार है. करीब 21हजार से अधिक मतदाता हैं. सभी विभागों ने मतदाता सूची पीयू प्रशासन को उपलब्ध करा दी है. बताते चले कि कई स्टूडेंट्स ने विभिन्न कॉलेजों और विभागों में गत गुरुवार दोपहर दो बजे तक वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने के लिए आपत्ति दर्ज की थी.आपत्ति में सुधार करते हुए अंतिम सूची पीयू प्रशासन को भेज दी गयी है. प्रो. एनके झा ने कहा कि यूनिवर्सिटी की अंतिम मतदाता सूची गत 22 नवंबर शाम पांच बजे प्रकाशित कर दी गयी. करीब 21हजार से अधिक मतदाता हैं.सूची वेबसाइट पर अपलोड कर दी गयी है. पटना यूनिवर्सिटी में करीब 55 फीसदी संख्या छात्राओं की है और इसमें पटना विमेंस और मगध महिला जैसे अहम गर्ल्स कॉलेज हैं. 21 हजार 234 मतदाताओं वाले पटना विश्वविद्यालय में सिर्फ पटना वीमेंस कॉलेज और मगध महिला कॉलेज में ही 8145 छात्रा वोटर हैं जबकि यूनिवर्सिटी के दूसरे अलग कॉलेज में भी छात्रा बड़ी संख्या में पढ़ाई करती हैं.  पीयू में 21 हजार से अधिक वोटर मतदाता सूची में शामिल होने वाले चुनाव लड़ने के इच्छुक  24 से  नॉमिनेशन फॉर्म ले लिए हैं. 24 से 26 नवंबर तक नॉमिनेशन फॉर्म की बिक्री की गयी. नॉमिनेशन फॉर्म की कीमत 10 रुपया था. इसके लिए स्टूडेंट्स को  आई कार्ड भी साथ लाना पड़ा.वहीं, डीन स्टूडेंट्स वेलफेयर प्रो एनके झा ने  कहा कि उम्र सीमा का स्टूडेंट्स ख्याल रखें. परिनियम में जो उम्र सीमा निर्धारित है, उसी  अनुसार स्टूडेंट्स चुनाव लड़ सकते हैं. सेंट्रल पैनल में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष, सचिव और महासचिव पदों पर चुनाव होंगे. इसके साथ एक हजार छात्र पर एक कॉलेज काउंसेलर या फिर फैकल्टी काउंसेलर का भी चुनाव होगा. इस बार काउंसेलर के 25 पदों पर चुनाव होगा. बताते चले फॉर्म सीनेट हॉल में 26 से 28 नवंबर को शाम तीन बजे तक जमा कर सकते हैं. इसके बाद 29 नवंबर को 11 बजे से स्क्रूटनी होगी. उम्मीदवारों की सूची 30 को 12:30 बजे तक जारी कर दी जायेगी. 30 नवंबर को ही शाम तीन बजे तक आपत्ति दर्ज करा सकते हैं.सात दिसंबर को छात्र संघ चुनाव है. 

विश्वविद्यालय में अब भी टंगे हैं बैनर-पोस्टर:
पटना यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव की अधिसूचना जारी होने के साथ ही आचार संहिता लागू हो गयी है. लेकिन, अब तक यूनिवर्सिटी में पोस्टर बैनर टंगा हुआ है. दरभंगा हाउस के साथ विभिन्न कॉलेजों के गेट पर कई छात्रों ने चुनाव प्रचार करते हुए होर्डिंग के साथ पोस्टर भी लगा रखा है. इसे अब तक न तो पीयू प्रशासन हटा पाया है और न ही जिनकी होर्डिंग है, वो हटा पाये हैं. हालांकि आचार संहिता को लेकर छात्र संगठन सक्रिय नहीं है. कोई छात्र संगठन अचार संहिता का उल्लंघन करने में पीछे नहीं है. लिंगदोह कमेटी के अनुसार प्रिंटेड पोस्टर, पंपलेट या प्रचार सामग्री के प्रयोग की अनुमति नहीं है. इसके साथ कैंपस के दिवारों पर कोई भी प्रचार-प्रसार करना भी मना है.

छात्र जदयू और एबीवीपी को मात देने के लिए तैयार हो सकता है महागठबंधन:
पटना यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव में वाम दाल अपनी ताकत बढ़ाने के लिए कई छात्र संगठनों के साथ मिल कर महागठबंधन बनाने की तैयारी में है. जेएनएयू छात्र संघ चुनाव की तर्ज पर ही पीयू में एआइएसएफ, आइसा, छात्र राजद, छात्र जनअधिकार पार्टी, एनएसयूआइ  एक मंच पर आ सकती है. इसका मुख्य मकसद छात्र जदयू और एबीवीपी को मात देना है. इसी को देखते हुए एआइएसएफ ने एक वार्ता कमेटी का गठन किया है.    

संघर्षशील छात्र संगठनों की एक साथ आने की अपील:
पीयू छात्र संघ चुनाव को लेकर गुरुवार को एआइएसएफ ने चुनाव कॉ-ऑर्डिनेशन कमेटी बनायी है.  चुनाव अभियान के लिए कमेटी में 65 लोग शामिल हैं. छात्र संगठनों को गोलबंद कर संघर्षकारी छात्र संघ बनाने का आह्वान किया है. इसके लिए तमाम संघर्षशील छात्र संगठनों को एक साथ आने की अपील की है. अन्य संगठनों से बातचीत के लिए एक वार्ता टीम का भी गठन किया. एआइएसएफ ने हर कॉलेज के प्रभारियों को भी तय किया है.  

छात्र संघ चुनाव प्रचार अभियान तेज : 
पटना यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव की तैयारी शुरू हो गयी है. दरभंगा हाउस में गुरुवार को पूरे दिन चुनावी चर्चा सभी छात्र संगठनों में होती रही. इसके साथ विभिन्न कॉलेजों गेटों पर विभिन्न छात्र संगठनों की ओर से चुनाव पर्ची बांटी जा रही थी.  

कोई टिप्पणी नहीं: