रुपये के सिम्बल में वास्तु दोष की भविष्यवाणी सत्य - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 7 नवंबर 2019

रुपये के सिम्बल में वास्तु दोष की भविष्यवाणी सत्य

प्रमाणितदेश को दिवालिया बनाने पर उतारु भाजपा
rupees-symbol-vastu-fault
रुपये के सिम्बल में भयंकर वास्तु दोष होने की वजह से देश की अर्थनीति डांवाडोल हो रही है। 7 वर्ष पूर्व की गई मेरी यह भविष्यवाणी पूरी तरह सही साबित हो चुकी है। डॉलर के मुकाबले रुपया लगातार कमजोर होता जा रहा है। जीडीपी लगातार गिर रही है। सन् 2010 में जब रुपये का नया सिम्बल प्रचलन में आया था, उन दिनों डॉलर के मुकाबले रुपया 44 तथा देश की जीडीपी 9 प्रतिशत के सुनहरे दौर से गुजर रही थी। आज हालात यह है कि डॉलर के मुकाबले 74 रुपये की रिकॉर्ड गिरावट तथा 5 प्रतिशत की चिंताजनक विकास दर से देश में हाहाकार मचा है। मैंने सन् 2011 में तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह को पत्र लिखकर रुपये के सिम्बल में वास्तु दोष होने तथा इस वजह से रुपये तथा विकास दर में गिरावट की भविष्यवाणी करते हुए देश के वृहत्तर हित में इसमें सुधार की अपील की थी। इस हेतु मैंने गुवाहाटी के फैंसीबाजार स्थित महावीर उद्यान में अनशन भी किया था। यह खबर 1 जून 2012 को एनडीटीवी समेत देश-विदेश के सैकड़ों अखबारों/टीवी चैनलों में प्रकाशित हुई थी। लेकिन केंद्र सरकार द्वारा रुपये के सिम्बल का वास्तु दोष दूर करने की कोई भी पहल न करने का खामियाजा आज देश को भयंकर आर्थिक बदहाली के रूप में भुगतना पड़ रहा है। पार्टी के हित के लिए भाजपा ने अपने कार्यालय को वास्तु सम्मत बनाने तत्काल कदम उठाया था, मगर देश की अर्थनीति में भयंकर गिरावट के बावजूद रुपये के सिम्बल को वास्तु दोष मुक्त करने की केंद्र की भाजपा सरकार कोई भी पहल नहीं कर रही है। लगता है केंद्र की भाजपा सरकार कयामत के दिन का इंतजार कर रही है, जब देश की अर्थनीति पूरी तरह चरमरा जायेगी।



राजकुमार झांझरी
अध्यक्ष, रि-बिल्ड नॉर्थ ईस्ट
गुवाहाटी

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...