सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 08 नवंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 8 नवंबर 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 08 नवंबर

गिरती अर्थव्यवस्था आर्थिक मंदी और बेरोजगारी पर युवाओं ने केंद्र पर दागे सवाल,परिचर्चा में जोरशोर से उठा आर्थिक संकट
8 नवंबर नोटबंदी देश के इतिहास का काला दिन   
sehore news
सीहोर/ मध्यप्रदेश एनएसयूआई के अध्यक्ष विपिन वानखेड़े के निर्देशानुसार आज जिला कांग्रेस प्रांगण बस स्टैंड पर केंद्र सरकार की जन विरोधी नीतियों के कारण देश में उत्पन्न हुए आर्थिक संकट व्यवसाय में भारी मंदी और बढ़ती बेरोजगारी के मुद्दे पर परिचर्चा का आयोजन किया गया । कार्यक्रम के आयोजक मध्य प्रदेश एनएसयूआई के सचिव देवेंद्र ठाकुर ने बताया कि इस कार्यक्रम  छात्रों और युवाओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया और बिगड़ती आर्थिक स्थिति और  बेरोजगारी पर  बेवाकी के साथ उपस्थित छात्रों ने अपनी बात  रखी। परिचर्चा में  युवा छात्र देवेंद्र ठाकुर, सर्वेश व्यास,कमलेश यादव, मनीष मेवाड़ा, जगदीश परमार, हरिओम सिसोदिया,अनुभव सेन,सूर्यांश जादौन, यश यादव,अन्वेष पटेल,अंशु ठाकुर दीपक मालवीय,ऋषभ गुप्ता ने अपनी बात रखी। अंत में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वरिष्ठ वक्ता श्री ओमबीर ने कहा कि देश की तस्वीर जो प्रस्तुत की जा रही है और वास्तविक  दोनों भिन्न है आज हमारा देश बहुत बड़े आर्थिक संकट का सामना कर रहा है एक और जहां पूर्व की सरकारों ने बैंकों का राष्ट्रीयकरण आदि कर धीरे धीरे धीरे देश का आर्थिक ढांचा तैयार किया वहीं वर्तमान कि केंद्र सरकार और राज्य को नाश्ता भूत करने में लगी है युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजीव गुजराती ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि आज के दिन 3 वर्ष पूर्व केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने नोट बंदी के रूप में जो फैसला देश की आम जनता पर थोपा था उसका परिणाम आज देश भुगत रहा है और पूरे देश के नागरिक गंभीर आर्थिक संकट और व्यापार में मंदी का सामना कर रहे हैं रोजगार की हालत यह है कि 9000000 नौकरियां पिछले दिनों लोगों की चली गई और आज का दिन हिंदुस्तान के इतिहास तारीख में काले दिवस के रूप में पहचाना जाएगा, उन्होंने वर्तमान परिस्थितियों में आपसी भाईचारा,एकता और सद्भाव कायम रखने की अपील की ओर सोशल मीडिया का इस्तेमाल सजगता से करने और अफवाहों ओर ध्यान न देने की अपील की ।  जिला  कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष नईम नवाब ने कहा कि हम सबको मिलकर  देश की आर्थिक स्थिति, व्यापारिक मंदी और बेरोजगारी के मुद्दे पर  सोई हुई देश की केंद्र सरकार को जगाना होगा। कार्यक्रम को आष्टा जनपद के अध्यक्ष बल बहादुर सिंह ठाकुर, मुकेश ठाकुर, लोकेंद्र वर्मा, तुलसी राठौर, मोहित किंगर, तोसिफ पटेल, आजम लाला,बृजेश पाटीदार ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन छात्र नेता देवेंद्र ठाकुर ने किया  और अंत में आभार हरिओम सिसोदिया ने माना। इस अवसर सोनू विश्वकर्मा, नरेंद्र परमार, राजा चौधरी, राहुल परमार, तरुण परमार, तनिश त्यागी, सूरज प्रताप सिंह, गगन ठाकुर,कुलदीप ठाकुर,ऋषि विश्वकर्मा, ऋषि पाराशर अखिलेश राजपूत, रवि सूर्यवंशी, मोनू ठाकुर ,अभिषेक सोलंकी, विक्की  विकास विश्वकर्मा,  उत्तम जायसवाल, अमान खान, राहुल  कुशवाहा, अखिलेश बड़ोदिया, तरुण चौरसिया, कृष त्यागी, कफिरउद्दीन, राशिद खान,भूरा ठाकुर, चेतन ठाकुर,गणेश सूर्यवंशी,पंकज राजपूत आदि छात्र उपस्थित थे।

स्कूल शिक्षा विभाग मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी आज सीहोर आएंगे

मध्यप्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग मंत्री डॉ.प्रभुराम चौधरी 9 नवंबर शनिवार को सीहोर आएंगे। जारी दौरा कार्यक्रम अनुसार स्कूल शिक्षा विभाग मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी 9 नवंबर को प्रात: 8:15 बजे भोपाल से कार द्वारा प्रस्थान कर प्रात: प्रात: 9 बजे सीहोर पहुंचेंगे। जहां स्थानीय चर्च ग्राउंड में आयोजित "एशियन फुटबॉल चेम्पियनशिप" में भाग लेने वाले भारतीय दल के खिलाड़ियों को किट वितरण कार्यक्रम में शामिल होंगे। प्रात: 9:30 बजे मंत्री डॉ चौधरी सीहोर से उज्जैन के लिए प्रस्थान करेंगे।

"एम-राशन मित्र" एप्प के संबंध में दिया प्रशिक्षण

सार्वजनिक वितरण प्रणाली को सुदृढ़ बनाने हेतु पात्र परिवारों के सत्‍यापन का अभियान के संबंध में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में ट्रैनिगं आयोजित की गई। जिसमें जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी श्री संजय जोशी द्वारा मास्टर ट्रैनर्स को दि गई बताया कि "एम-राशन मित्र"एप को डाउनलोड कर लाभान्वित परिवार के सर्वे किस प्रकार सत्यापन दल द्वारा किया जावेगाए मास्टर ट्रैनर्स द्वारा अपने.अपने क्षेत्र में सत्‍यापन दल को ट्रैनिगं देंगे। किस प्रकार एम-राशन मित्र एप पर कार्य किया जाना है उसका विस्त़त प्रशि‍क्षण दिया गया। इस संबंध में विभाग स्‍तर पर तैयारी पूर्ण कर ली गई है एवं संबंधित अधिकारियों को प्रशिक्षण आयोजित किया जा चुका है । जिला आपूर्ति अधिकारी श्री शैलेश शर्मा ने बताया की प्रशि‍क्षण में बताया जिले की 351 उचित मूल्‍य दुकान पर पंजीक्रत 179757 परिवारों की पात्रता का 948 सत्‍यापन दल द्वारा किया जाएगा। इस संबंध में विभाग स्‍तर से सभी सत्यापन दल के आदेश जारी कर दिये गये है। श्री अनिल परमार एडीआईओ द्वारा पीपीटी के माध्यम से सभी मास्टर ट्रैनर्स को विस्तृत रूप से  प्रशि‍क्षण दिया। प्रशि‍क्षण में सभी विकास खण्ड के मास्टर ट्रैनर्स इछावर, आष्टा एवं सीहोर के एएसओ के साथ अन्य अधिकारी / कर्मचारी उपस्थित थे।

कलेक्टर कलेक्टर श्री हिनौतिया को कलेक्टर ने सौंपा कार्यप्रभार

डिप्टी कलेक्टर श्री शैलेन्द्र हिनौतिया द्वारा जिला कार्यालय में उपस्थिति प्रदान करने से कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा डिप्टी कलेक्टर (प्रभारी अधिकारी) श्री वरुण अवस्थी के प्रभार के समस्त कार्य आगामी आदेश तक डिप्टी कलेक्टर श्री शैलेन्द्र हिनौतया को सौंपे गए है। यह आदेश तत्काल प्रभावशील है।  

श्री गुरूनानक देव के प्रकाश-पर्व पर शासकीय कार्यालय भवनों पर होगी विद्युत सज्जा

राज्य शासन द्वारा श्री गुरूनानक देव जी के 550 वें प्रकाश-पर्व के उपलक्ष्य में 12 नवंबर को प्रदेश के समस्त शासकीय कार्यालय भवनों पर विद्युत-सज्जा किये जाने के निर्देश जारी किए गए हैं।

एन.सी.डी. अभियान में लापरवाही पर स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को निलंबन का नोटिस

स्वास्थ्य विभाग द्वारा विगत 01 सितंबर से एन.सी.डी.अभियान का संचालन किया जा रहा है। अभियान के तहत क्षेत्र में लक्षित आयु वर्ग के व्यक्तियों की ब्लड प्रेशर, डायबीटीज, मुंह का केंसर, स्तन कैंसर एवं गर्भाषय के कैंसर की स्क्रीनिंग की जा रही है। जिले का कुल लक्ष्य 1 लाख 32 हजार 98 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग के विरूद्ध मात्र 18 हजार 151 ( 17.57 प्रतिषत) उपलब्धि हुई है। जिन स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की उपलब्धि न्यूनतम रही है उन्हें कलेक्टर द्वारा निलंबन का नोटिस जारी किया गया है। 20 नवंबर तक यदि लक्ष्य के विरूद्ध 100 प्रतिशत उपलब्धि दर्ज नहीं हुई तो संबंधित नियमित स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के निलंबन तथा संविदा स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की सेवा समाप्ति की कार्यवाही की जाएगी।  

चंन्द्रशेखर आजाद महाविद्यालय में हुआ दो दिवसीय संभाग स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता का शुभारंभ

sehore news
मध्यप्रदेश शासन उच्च शिक्षा विभाग द्वारा दो दिवसीय संभाग स्तरीय महिला/पुरूष शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन चन्द्रशेखर आजाद शासकीय स्नाताकोत्तर अग्रणी महाविद्यालय में किया जा रहा है। जिसमें सात जिलों सीहोर, भोपाल, विदिशा, रायसेन, बैतुल, होशंगाबाद और राजगढ़  से कुल 35 छात्राएं तथा 35 छात्र खिलाड़ी भाग ले रहे है। कार्यक्रम का शुभारंभ शनिवार को मुख्य अतिथि जनभागीदारी अध्यक्ष श्री राजीव गुजराती द्वारा किया गया। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों द्वारा अच्छा खेल भावना का परिचय देते हुए शतरंज का खेल अनुशासित एवं लड़ने की हिम्मत देता है। खिलाड़ियों द्वारा संभाग स्तर पर अच्छा प्रदर्शन करते हुए राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में मजबूत खिलाड़ी चयनित होकर उच्च स्थान प्राप्त करें। शासन के द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं कि अच्छी सुविधाएं खिलाड़ियों को प्रदान करें। महाविद्यालय कि प्राचार्य एवं संरक्षक डॉ. आशा गुप्ता ने महाविद्यालय की पुरूष कबड्डी दल एवं खौ-खौ दल को प्रतियोगिता में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए बधाई देते हुए सभी को शुभकामनाएं दी कि शतरंज प्रतियोगिता में संभाग स्तर से राज्य स्तर पर चयन हेतु अच्छे खेल का परिचय दें। अंतरराष्ट्रीय फीड नियम अनुसार शतरंज प्रतियोगिता का संचालन होगा। निर्णायक मंडल में श्रीमति सुषमा शर्मा, भोपाल एवं सीहोर जिला से श्री संतोष पाल एवं श्री रवि विराहा, क्रीड़ा अधिकारी, कन्या महाविद्यालय सीहोर हैं। इस प्रतियोगिता में 5 राउण्ड खेले जाऐंगे। 3 राउण्ड रविवार को होंगे। कार्यक्रम का संचालन श्रीमति निभा जैकब द्वारा किया गया।  

प्रदूषण की रोकथाम और भूमि की उर्वरा शक्ति बनाये रखने हेतु नरवाई नहीं जलाएं किसान

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने किसानों से अपील की है कि प्रदूषण की रोकथाम,प्रदेश की आबोहवा को सुरक्षित रखने और भूमि की उर्वरा शक्ति को बनाए रखने के लिये पराली (नरवाई)नहीं जलाएं। उन्होंने कहा कि नरवाई जलाने पर भूमि की उर्वरा शक्ति को बनाये रखने में सहायक कृषि-सहयोगी सूक्ष्म जीवाणु तथा जीव भी नष्ट हो जाते हैं।श्री कमल नाथ ने किसानों से कहा है कि आप हरियाली के जनक हैं, आबोहवा के पहरेदार हैं। इसलिये नरवाई को जलाने की बजाए उसका अन्य उपयोग करें, जिससे उन्नत खेती, पशु-चारे की उपलब्धता और सभी को स्वच्छ प्राण वायु मिल सके। साथ ही, अन्य प्रदेशों में हवा में फैल रहे जहर से हम अपने प्रदेश को समय रहते बचाये रख सकें। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने किसानों से कहा है कि अति-वृष्टि से उनकी फसलों को हुए नुकसान से राज्य सरकार चिंतित है तथा इसकी भरपाई के लिये निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि हमने केन्द्र सरकार से इसके लिये मदद भी माँगी है। श्री कमल नाथ ने कहा कि किसानों के नुकसान की भरपाई के लिये राज्य सरकार वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि नरवाई को जलाने की बजाय उसे भूसे और पशुचारे में तब्दील करना ज्यादा उपयोगी है। विशेषज्ञों का भी सुझाव है कि नरवाई का उपयोग ऊर्जा उत्पादन तथा कार्ड-बोर्ड और कागज बनाने में किया जा सकता है। कृषि विशेषज्ञों के अनुसार नरवाई को जलाए बिना उसी के साथ गेहूँ की बुआई की जाये। ऐसा करने पर सिंचाई के साथ जब नरवाई सड़ेगी, तो अपने आप खाद में बदल जाएगी और उसका पोषक तत्व मिट्टी में मिलकर गेहूँ की फसल को अतिरिक्त लाभ देगा। उन्होंने कहा कि अब तो ऐसे यंत्र भी उपलब्ध हैं, जो आसानी से ट्रेक्टर में लगाकर खड़े डंठलों को काटकर इकट्ठा कर सकते हैं और उन्हीं में बुआई भी की जा सकती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि दोनों ही विकल्प किसानों के लिये फायदेमंद हैं। मुख्यमंत्री ने किसानों को बताया कि अभी उनकी समस्याओं के समाधान के साथ-साथ सबसे ज्यादा चिंता पर्यावरण संरक्षण की है। मुख्यमंत्री ने बताया कि सर्वोच्च न्यायालय ने भी कहा है कि साफ हवा में सांस लेने का हक सबको है। नरवाई जलाने से वातावरण को चौतरफा नुकसान होता है और जमीन के पोषक तत्वों के नुकसान के साथ प्रदूषण भी फैलता है। ग्रीन हाउस गैसें पैदा होती हैं, जो वातावरण को बहुत अधिक नुकसान पहुँचाती हैं।मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि नरवाई जलाने से अधजला कार्बन, कार्बन मोनो ऑक्साइड, कार्बन डाई ऑक्साइड, सल्फर डाई ऑक्साइड तथा राख और अन्य विषैले पदार्थ तथा जहरीली गैसें पैदा होती हैं, जो पूरे वातावरण में गैसीय प्रदूषण के साथ धूल के कणों की मात्रा में भी वृद्धि करती हैं। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने किसानों से आग्रह किया है कि समय की जरूरत का विशेष ध्यान रखें और प्रदेश की आबोहवा को प्रदूषण से बचाने में अपना महत्वपूर्ण सहयोग प्रदान करें।

आदिवासी युवाओं को रोजगार के लिए “स्पान्सर ए लाइफ स्कीम” शुरू

आदिवासी वित्त एवं विकास निगम ने प्रदेश के आदिवासी युवाओं को प्रायवेट सेक्टर में रोजगार के अवसर दिलाने के लिये “स्पान्सर ए लाइफ” स्कीम शुरू की है।  स्कीम में कॉर्पोरेट क्षेत्र के सी.एस.आर. फण्ड का उपयोग किया जायेगा। स्कीम में वित्त विकास निगम प्रोफेशनल कोर्स के लिये युवाओं का चयन करेगा और उनका किसी योग्य संस्था में प्रवेश करायेगा। यह संस्था एनएसडीसी के माध्यम से चुनी गई संस्था होगी। इसके साथ ही, स्पान्सर संस्था किसी संस्था का नाम भी सुझा सकेगी। प्रशिक्षण के लिये चयनित युवक-युवतियों को वित्त विकास निगम स्टाइपेण्ड देगा। प्रशिक्षण 6 से 12 माह तक के होंगे। जो संस्थाएँ प्रशिक्षण दिलाना चाहती हैं, वे प्रबंध संचालक, मध्यप्रदेश आदिवासी वित्त विकास निगम पर सम्पर्क कर सकती हैं। इसके अलावा कार्यालय के ई-मेल आई.डी. mdav vngho@mp.gov.in और फोन नम्बर 0755-2738699 और 2660672 पर भी सम्पर्क किया जा सकता है।

एग्री व्यापार एप से सही कीमत मिलेगी किसानों को

किसानों को फसल की सही कीमत दिलाने के लिये विपणन संघ द्वारा एग्री व्यापार एप लांच किया गया है। किसानों के लिए ऐसी व्यवस्था का क्रियान्वयन किया जा रहा है जिससे किसान अपनी गुणवत्ता उपज की जानकारी देकर उनकी सही कीमत प्राप्त कर सकें। जिससे ई-पेमेन्ट के माध्यम से उपज को विक्रय कर उसकी सही राशि कृषकों को दी जाएगी। कृषक अपनी उपज को देश के किसी भी स्थान से एग्री व्यापार के माध्यम से विक्रय कर सकेंगे। एग्री व्यापार एप में कोई भी सहकारी समिति का सदस्य कृषक भाई अपना पंजीयन करा सकते है। इसके लिए एप में रजिस्ट्रेशन पेज पर अपना नाम, पता समिति सदस्य पंजीयन क्रमांक फसल एवं फसल प्रदाय का विवरण भरना होगा। संबंधित समिति द्वारा ऑनलाइन नीलामी के लिए जानकारी प्रेषित की जाएगी। इसके बाद व्यवसाई एवं अन्य खरीददार देश में कहीं से भी  बोली लगा सकते है। उपज में नीलाम की राशि एसएमएस के माध्यम से किसानों के मोबाइल पर भेजी जाएगी। किसान की सहमति उपरांत ही उपज का विक्रय किया जाएगा।

जनगणना 2021 की राज्य स्तरीय जनगणना समन्वय समिति गठित

राज्य शासन ने मध्यप्रदेश राज्य जनगणना 2021 के राष्ट्रीय महत्व के कार्य को सुचारू एवं सफल संचालन के दृष्टिगत जनगणना कार्य निदेशालय एवं राज्य शासन के विभिन्न विभागों के मध्य समन्वय एवं योजनाबद्ध रूप से कार्य करने के लिये राज्य स्तरीय जनगणना समन्वय समिति का गठन किया है। मुख्य सचिव मध्यप्रदेश शासन समिति के अध्यक्ष बनाए गए हैं। इसी प्रकार अतिरिक्त मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन विभाग, अतिरिक्त मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, अतिरिक्त मुख्य सचिव योजना आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त विभाग, प्रमुख सचिव गृह विभाग, प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग, प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास विभाग, प्रमुख सचिव जनसम्पर्क विभाग, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा विभाग, प्रमुख सचिव आदिम जाति कल्याण विभाग, प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, प्रमुख सचिव राजस्व विभाग, सचिव गृह विभाग, आयुक्त भू-अभिलेख तथा निदेशक आर.सी.व्ही.पी. नरोन्हा प्रबंधकीय एवं प्रशासन अकादमी को समिति का सदस्य बनाया है। निदेशक जनगणना कार्य निदेशालय मध्यप्रदेश भोपाल को समिति का संयोजक बनाया गया है। आगामी जनगणना 2021 का कार्य दो चरणों में सम्पन्न किया जाएगा। प्रथम चरण में मकान सूचीकरण एवं मकानों की गणना कार्य और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर अद्यतन करने का कार्य अप्रैल से सितम्बर 2020 तक के मध्य राज्य शासन द्वारा निर्धारित 45 दिवस की अवधि में पूरा किया जायेगा। द्वितीय चरण में जनसंख्या की गणना का कार्य 9 से 28 फरवरी 2021 की अवधि में किया जायेगा। समिति दोनों चरणों में शासन से संबंधित विभागों के बीच अपेक्षित सहयोग एवं समन्वय स्थापित करने का कार्य करेगी। समिति की बैठक में जनगणना कार्य में लगाये जाने वाले कर्मचारियों की उपलब्धता सुनिश्चित कराना, जनगणना के मास्टर ट्रेनर, फील्ड ट्रेनर और फील्ड स्टाफ का प्रशिक्षण निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 31 दिसम्बर 2019 तक तथा प्रशासनिक इकाइयों की सीमाओं के परिवर्तन संबंधी समस्त प्रस्तावों को अंतिम रूप दिये जाने पर निर्णय लिया जायेगा। समिति की बैठक का कार्यवृत्त समिति के संयोजक द्वारा एक सप्ताह के भीतर तैयार कर प्रमुख सचिव गृह के माध्यम से अध्यक्ष को प्रस्तुत किया जायेगा। समिति का कार्यकाल गठन दिनांक से 31 मार्च 2021 तक रहेगा।

ट्रामा सेंटर में एंटी रेबीज प्रशिक्षण संपन्न

sehore news
शुक्रवार को ट्रामा सेंटर में एक दिवसीय एंटी  रेबीज वैक्सीन प्रशिक्षण आयोजित किया गया। प्रशिक्षण में जिले की समस्त स्वास्थ्य संस्थाओं के चिकित्सा अधिकारियों एवं पैरामेडिकल स्टाफ  ने हिस्सा लिया। प्रशिक्षण का उद्देश्य एंटी रेबीज वैक्सीन का इंट्राडर्मल उपयोग करने के संबंध में विस्तृत जानकारी प्रदान करना था। प्रशिक्षण डॉ.प्रमोद गोयल उप संचालक आई.डी.एस.पी. भोपाल तथा डॉ.लोकेश शर्मा मेडिकल आफिसर प्राथ.स्वा.केन्द्र मैना द्वारा प्रदान किया गया। वर्तमान में सीहोर जिले में एंटी रेबीज वैक्सीन इंट्रामस्क्यूलर पद्धति से लगाई जा रही थी । विश्व स्वास्थ्य संगठन तथा संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं म.प्र.शासन भोपाल द्वारा अनुमोदित नई इंट्राडर्मल पद्धति अधिक आधुनिक पूरी तरह सुरक्षित व प्रभावी है।  साथ ही इसमें केवल चार ही डोजेज की आवष्यकता होती है, जिससे वैक्सीन की भी बचत होती है तथा हितग्राही को एक बार कम अस्पताल आने की आवष्यकता होती है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जिला सीहोर द्वारा इस संबंध में आदेष जारी कर जिले के सभी संस्था प्रभारियों को इसी नवीन पद्धति का उपयोग करने के निर्देश दिए गए।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...