बिहार : सीसीटीवी कैमरे में शेखू गोली मारने के बाद बाइक पर पीछे बैठकर फरार होते देखा गया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 7 नवंबर 2019

बिहार : सीसीटीवी कैमरे में शेखू गोली मारने के बाद बाइक पर पीछे बैठकर फरार होते देखा गया

shekhu-firing-catch-cctv
पटना,07 नवम्बर। दीघा के बांसकाेठी में हुई हत्या के मामले में पुलिस ने गुत्थी सुलझा ली है। मंगलवार को जमीन व मकान विवाद में मिनरल वाटर के व्यवसाय करने वाले मो. सैफ की गोली मारकर हत्या कर दी गयी।  एक माह पूर्व जेल से छुटकर आने वाले कुख्यात बंटी खान को आरोपित बनाया गया है। वह पटना सिटी में कुख्यात है। मजे की बात है कि बंटी खान के भाई शेखू की तस्वीर घटनास्थल के पास लगे एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। सीसीटीवी कैमरे में शेखू गोली मारने के बाद बाइक पर पीछे बैठकर फरार होते देखा गया है। इस मामले में सैफ की पत्नी के बयान पर बंटी, उसके भाई शेखू समेत चार काे नामजद किया गया है।  दीघा थाना की पुलिस बंटी व अन्य नामजदों को गिरफ्तार करने पटना सिटी के सुल्तानगंज व आसपास मुहल्ले में छापेमारी करने गई थी पर सबके सब फरार हैं। पुलिस ने इन नामजदों के संदिग्ध अड्डों पर भी दबिश दी पर कोई ठोस सुराग नहीं मिला। पुलिस ने इस मामले में दो को हिरासत में लिया है। दोनों से पुलिस पूछताछ करने में जुटी है। बंटी पटना सिटी का कुख्यात अपराधी है। उसपर सिटी के कई थानों में संगीन आरोप दर्ज हैं। उसे कई थानों की पुलिस तलाश रही है। दीघा थानेदार फूलदेव चौधरी ने कहा कि पुलिस नामजदों को गिरफ्तार करने के लिए दबिश बनाए हुई है। अगर गिरफ्तारी नहीं होगी तो पुलिस जल्द की कुर्की वारंट के लिए कोर्ट में आवेदन देगी।  परिजनों का कहना है कि कई दिनों से पटना सिटी की जमीन व मकान के विवाद को लेकर सैफ की बंटी व उसके गुर्गे धमकी दे रहे थे। स्थानीय पुलिस को इसकी सूचना दी गई थी पर पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। अगर पुलिस धमकी देने वालों पर पहले की कार्रवाई कर देती तो सैफ की जान बच जाती। इधर, सैफ की हत्या के बाद उसके घर में सन्नाटा पसरा हुआ है। हालांकि थानेदार का कहना है कि उन्हें धमकी देने का कोई लिखित शिकायत नही मिला था। मंगलवार की शाम को हत्या के बाद स्थानीय लोगों ने दीघा में चार घंटे तक जाम कर आगजनी की थी।  हत्या की प्लानिंग बंटी व उसके गुर्गों ने पहले ही बना ली थी। यही नहीं इसमें किसी लाइनर के शामिल होने की बात कही जा रही है। लाइनर ने ही अपराधियों को इस बात की जानकारी दी थी वह थाना से बांस कोठी स्थित घर लौट रहा है। इसी बीच अपराधियों ने उसे गोलियों से भून डाला। उसके पैर, गर्दन व सिर में तड़ातड़ तीन गोलियां दाग कर अपराधी मौके से फरार हो गए। बांस कोठी में ही तीन कट्ठा जमीन व मकान सैफ के नाना का है। जमीन सैफ के नाना ने अपने नाति- नातिन को दे दिया था। इस जमीन पर सैफ के दो भाई और उसकी चार बहनों का हिस्सा है। जमीन के एक ही हिस्से को मां, सैफ और बहनों ने पैसे लेकर दो अलग अलग लोगों को एग्रीमेंट कर दिया था। इसमें एक एग्रीमेंट बंटी ने 10 लाख में किया पर रजिस्ट्री नहीं हुई थी। परिजनों के अनुसार बंटी रजिस्ट्री नहीं होने पर सैफ को धमकी दे रहा था। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...